साफ आउट होने के बावजूद वापस नहीं लौटे पुजारा; मनीष पांडे, नायर ने किया विरोध

सौराष्ट्र और कर्नाटक के बीच रणजी ट्रॉफी 2018-19 का दूसरा सेमीफाइनल खेला जा रहा है.

सौराष्ट्र और कर्नाटक के बीच रणजी ट्रॉफी 2018-19 का दूसरा सेमीफाइनल खेला जा रहा है.

  • Share this:
    बैंगलोर के चिन्नास्वामी स्टेडियम में रणजी ट्रॉफी का दूसरा सेमीफाइनल सौराष्ट्र और कर्नाटक के बीच खेला जा रहा है. लेकिन इसी बीच यह मैच विवादों में घिर गया है. मैच के दूसरे दिन सौराष्ट्र के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने किनारा लगने के बावजूद वापस जाने से इनकार कर दिया. यह वाकया सौराष्ट्र की पारी के 23वें ओवर का है. पुजारा इस दौरान 1 रन पर बैटिंग कर रहे थे. इसी बीच अभिमन्यु की गेंद पर पुजारा के बल्ले का बाहरी किनारा लेती हुई गेंद सीधे विकेटकीपर के दस्तानों में समा गई. यह देखकर कर्नाटक के खिलाड़ी जश्म मनाने लगे. लेकिन वे इसी बीच इस बात से अवेयर नहीं थे कि अंपायर ने अंगुली नहीं उठाई है इसलिए बल्लेबाज ने क्रीज से एक पैर भी नहीं बढ़ाया.

    अंपायर का यह फैसला देखकर कर्नाटक टीम पूरी तरह से भौंचक्की रह गई. वे आक्रामक अंदाज में फैसले का विरोध करने लगे लेकिन मैदानी अंपायर ने उन्हें शांत करते हुए मैचा जारी करने का इशारा किया. करुण नायर और मनीष पांडे जैसे खिलाड़ी इस बात से काफी गुस्से में नजर आए कि पुजारा के दर्जे के खिलाड़ी ने आउट होते हुए खुद वापस जाने की जहमत नहीं उठाई. उन्होंने पुजारा के पास जाकर इस बारे में बोला भी लेकिन पुजारा टस से मस नहीं हुए और अगली गेंद का सामना करने के लिए तैयार होने लगे.



    बहरहाल, पुजारा को बाद में मिथुन ने ही अपनी गेंद पर लपका. पुजारा 99 गेंदों में 45 रन बनाकर आउट हुए. खबर लिखे जाने तक सौराष्ट्र ने 223/4 का स्कोर बना लिया है.
    ये भी पढ़ें: भारतीय सरजमीं पर उमेश यादव ने बरपाया कहर, 3 मैचों में झटक डाले 31 विकेट

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.