होम /न्यूज /खेल /

Ranji Trophy Final: मध्यप्रदेश ने ट्रॉफी के लिए आधा काम तो कर दिया, मुंबई के हाथ से फिसला मौका!

Ranji Trophy Final: मध्यप्रदेश ने ट्रॉफी के लिए आधा काम तो कर दिया, मुंबई के हाथ से फिसला मौका!

एमपी के यश दुबे और शुभम शर्मा ने मुंबई के खिलाफ रणजी ट्रॉफी फाइनल मैच में शतक जड़े और टीम को मजबूती दी. (PTI)

एमपी के यश दुबे और शुभम शर्मा ने मुंबई के खिलाफ रणजी ट्रॉफी फाइनल मैच में शतक जड़े और टीम को मजबूती दी. (PTI)

Ranji Trophy Final: आदित्य श्रीवास्तव की कप्तानी वाली टीम एमपी ने रणजी ट्रॉफी फाइनल मुकाबले में तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक अपनी पहली पारी में 3 विकेट पर 368 रन बना लिए. अब मध्यप्रदेश पहली पारी के आधार पर मुंबई से महज 6 रन पीछे है. एमपी की कोशिश अच्छी-खासी बढ़त लेने की होगी जिससे उसे मुंबई के स्टार बल्लेबाजों जैसे कप्तान पृथ्वी शॉ, सरफराज खान, यशस्वी जायसवाल पर दबाव बनाने में भी मदद मिलेगी.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. ओपनर यश दुबे और शुभम शर्मा के शतकों की बदौलत मध्यप्रदेश ने रणजी ट्रॉफी-2022 के फाइनल मुकाबले में मुंबई को बैकफुट पर धकेल दिया है. यश दुबे और शुभम ने दूसरे विकेट के लिए 222 रन जोड़े और मध्यप्रदेश को मजबूत स्थिति में पहुंचाया. करियर में पहली बार इस घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट का फाइनल मैच खेल रहे यश और शुभम ने मुंबई के गेंदबाजों को खूब परेशान किया.

यश ने 336 गेंदों की अपनी संयमित पारी में 14 चौके जमाए. वहीं, शुभम ने 215 गेंदों पर 15 चौकों और 1 छक्के की बदौलत 116 रन का योगदान दिया. शुभम तीसरे दिन टीम के 269 रन के स्कोर पर पवेलियन लौटे. उन्हें शम्स मुलानी ने हार्दिक तोमोर के हाथों कैच कराया. फिर यश दुबे ने रजत पाटीदार के साथ पारी को आगे बढ़ाया और तीसरे विकेट के लिए 72 रन जोड़े. यश जब आउट हुए तब तक मध्यप्रदेश का स्कोर 341 रन पहुंच चुका था.

इसे भी देखें, यश दुबे के शतकीय प्रहार से एमपी का मुंबई को करारा जवाब…केएल राहुल की तरह मनाया जश्न-Video

मध्यप्रदेश ने तीसरे दिन तक अपनी पहली पारी में 3 विकेट पर 368 रन बना लिए. अब वह मुंबई से पहली पारी के आधार पर महज 6 रन पीछे रह गया है. इससे साफ है कि मध्यप्रदेश पहली पारी में बढ़त हासिल कर लेगा, जिससे उसका आधा काम हो जाएगा. दरअसल, अगर फाइनल मैच आखिर में ड्रॉ भी होता है तो भी पहली पारी में बढ़त लेने वाली टीम को विजेता घोषित किया जाएगा.

आदित्य श्रीवास्तव की कप्तानी वाली टीम एमपी की कोशिश केवल बढ़त लेने की नहीं बल्कि अच्छी-खासी बढ़त लेने की होगी. इससे उसे मुंबई के स्टार बल्लेबाजों जैसे कप्तान पृथ्वी शॉ, सरफराज खान, अरमान जाफर, यशस्वी जायसवाल पर दबाव बनाने में भी मदद मिलेगी. अब मध्यप्रदेश के बल्लेबाजों की कोशिश मुकाबले के चौथे दिन थोड़ा जल्दी खेलकर स्कोर बढ़ाने पर रहेगी ताकि मुंबई के बल्लेबाजों को दूसरी पारी में खेलने का थोड़ा मौका दिया जाए.

एमपी टीम हालांकि यह भी सोच सकती है कि मुंबई के खिलाफ बड़ी बढ़त बनाने के बाद दूसरी पारी में उसे कम वक्त दे. इससे मुंबई के बल्लेबाज या तो जल्दी अपनी पारी में रन बनाकर लक्ष्य देने की कोशिश करेंगे जिससे एमपी के गेंदबाजों को विकेट मिल सकते हैं. वहीं, अगर मुंबई की पारी को जल्दी समेट लेते हैं तो लक्ष्य भी कम मिलेगा या फिर बढ़त के आधार पर ही जीत सुनिश्चित हो सकती है. अभी मुकाबले में 2 दिन का खेल बाकी है. मुंबई ने अपनी पहली पारी में सरफराज खान (134) के शतक और यशस्वी जायसवाल (78) के दम पर 374 रन बनाए थे.

Tags: Madhya pradesh news, Mumbai, Prithvi Shaw, Ranji Trophy, Yashasvi Jaiswal

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर