Home /News /sports /

ranji trophy final yashasvi jaiswal says i trust myself to do well mumbai

Ranji Trophy: यशस्वी जायसवाल 3 पारियों में 3 शतक लगाने के बाद भी दुखी, कहा- क्रिकेट ऐसा ही है

Ranji Trophy Final 2022: यशस्वी जायसवाल ने फाइनल की पहली पारी में 78 रन बनाए. (PTI)

Ranji Trophy Final 2022: यशस्वी जायसवाल ने फाइनल की पहली पारी में 78 रन बनाए. (PTI)

Ranji Trophy Final 2022: मुंबई के युवा बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल ने रणजी ट्रॉफी की लगातार 3 पारियों में 3 शतक लगाए थे. हालांकि वे चौथा शतक लगाने से चूक गए. फाइनल की पहली पारी में वे 78 रन बनाकर आउट हुए.

बेंगलुरु. यशस्वी जायसवाल सिर्फ 20 साल के हैं, लेकिन उन्हें पता है कि मजबूत वापसी कैसे की जाती है. उन्होंने पिछले महीने इंडियन प्रीमियर लीग में राजस्थान रॉयल्स के लिए ऐसा किया और इस महीने रणजी ट्रॉफी नॉकआउट में मुंबई के लिए शानदार प्रदर्शन किया. क्वार्टर फाइनल में शतक जड़ने के बाद जायसवाल ने सेमीफाइनल में 2 शतक जड़े. वह फाइनल में मध्य प्रदेश में खिलाफ सीजन के चौथे शतक की ओर बढ़ रहे थे. लेकिन रणजी ट्रॉफी फाइनल के पहले दिन मध्य प्रदेश के तेज गेंदबाज अनुभव अग्रवाल ने उन्हें 78 रन के स्कोर पर आउट कर दिया. पहले दिन का खेल खत्म होने पर मुंबई ने 5 विकेट पर 248 रन बना लिए हैं. मैच अभी बराबरी पर है.

यशस्वी जायसवाल ने पहले दिन के खेल के बाद कहा, ‘हां, मैं अपनी पारी को लेकर थोड़ा दुखी हूं, लेकिन यह क्रिकेट है. आपको अच्छे और बुरे दोनों का अनुभव करना होता है. मैंने अब तक यही सीखा है.’ उन्होंने कहा कि क्रिकेट में चीजें उस तरह नहीं होतीं, जैसे आप चाहते हो. लेकिन मैं क्रिकेट और इंसान के रूप में खुद में सुधार के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहा हूं. आईपीएल के दौरान जायसवाल को शुरुआती कुछ मुकाबलों से बाहर किया गया था, लेकिन टूर्नामेंट के दूसरे हाफ में उन्होंने रॉयल्स की अंतिम एकादश में वापसी की और कुछ शानदार पारियां खेली.

दबाव का सामना करने में आता है मजा

यशस्वी ने कहा कि आईपीएल में भी ऐसा ही हुआ था. उन्होंने कहा कि खराब दौर के दौरान सिर्फ कड़ी मेहनत का फल मिलता है. बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा कि उन्हें दबाव की स्थिति में अच्छा प्रदर्शन करने का भरोसा है. जायसवाल ने कहा कि फाइनल अलग है, क्योंकि आपकी मानसिकता अलग होती है. मेरे करीबी लोगों ने मुझे इतनी सारी बातें बताई हैं, क्योंकि वे चाहते हैं कि मैं अच्छा प्रदर्शन करूं. बेशक वे दबाव बनाते हैं. ईमानदारी से कहूं तो मुझे इस दबाव का सामना करने में खुशी होती है, मैं इसका लुत्फ उठाता हूं.

क्रिकेट में बड़ा बदलाव, हर एंड से अब लगातार 5 ओवर, 10 की बजाय टीम के पास सिर्फ 6 विकेट

भारत और पाकिस्तान के खिलाड़ी एक टीम से खेलेंगे टी20 वर्ल्ड कप, आधा दर्जन से अधिक को मौका

उन्होंने कहा कि मैं इस मानसिकता के साथ उतरता हूं कि मैं ऐसा करूंगा. मैं स्वयं पर विश्वास और भरोसा करता हूं कि मैं जब भी क्रीज पर उतरूंगा, तो अच्छा प्रदर्शन करूंगा. मालूम हो कि मुंबई ने सबसे अधिक 41 बार रणजी ट्रॉफी का खिताब जीता है. वहीं मप्र को अभी भी पहले खिताब का इंतजार है.

Tags: BCCI, Mumbai, Prithvi Shaw, Ranji Trophy, Yashasvi Jaiswal

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर