लाइव टीवी

पत्थर तोड़े, कंधे पर सीमेंट लादकर बनवाई एकेडमी...अब बना अंडर 19 वर्ल्ड कप का सबसे बड़ा गेंदबाज!

News18Hindi
Updated: February 9, 2020, 11:54 PM IST
पत्थर तोड़े, कंधे पर सीमेंट लादकर बनवाई एकेडमी...अब बना अंडर 19 वर्ल्ड कप का सबसे बड़ा गेंदबाज!
रवि बिश्नोई ने अंडर 19 वर्ल्ड कप में झटके 17 विकेट

रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) ने अंडर 19 वर्ल्ड कप में कुल 17 विकेट झटके और वो नंबर 1 गेंदबाज रहे

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 9, 2020, 11:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भले ही भारतीय टीम अंडर 19 वर्ल्ड कप के फाइनल में बांग्लादेश से हार गई लेकिन
भारत के लेग स्पिनर रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) ने इस टूर्नामेंट में अपनी अलग ही छाप छोड़ी. बिश्नोई ने इस टूर्नामेंट में कुल 17 विकेट झटके. हालांकि बिश्नोई का ये सफर बेहद मुश्किल था. अंडर 19 टीम में आने के लिए, यहां तक कि क्रिकेट खेलने के लिए उन्होंने कई पापड़ बेले, यहां तक कि उन्होंने मजदूरी तक की.

रवि बिश्नोई ने फाइनल में झटके 4 विकेट


मजदूरी कर क्रिकेटर बने बिश्नोई

सरकारी स्कूल के हेडमास्टर के घर जन्मे रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) के घर पर क्रिकेट को लेकर इतना उत्साह नहीं था. हालांकि कुलदीप रोजाना अपने बड़े भाई के साथ क्रिकेट खेलने जाते थे और पिता के घर आने से पहले वापस आ जाते थे. इसी बीच जोधपुर में शाहरुख पठान और प्रद्योत सिंह नाम के दो दोस्तों ने एकेडमी खोलने का फैसला किया. उनके पास ऐसा करने के लिए बहुत ज्यादा पैसे नहीं थे, ऐसे में उन्होंने किसी तरह एकेडमी बनाने की शुरुआत की. खर्च कम हो इसके लिए लोगों ने खुद ही मजदूरी का काम करना शुरू किया. रवि बिश्नोई ने एकेडमी बनाने के लिए कंधे में सीमेंट के बैग लादे, यहां तक कि पत्थर तोड़े. मजदूरी करने से जो पैसे बचे उनका इस्तेमाल पिच बनाने वाले एक्सपर्ट्स की फीस देने में किया गया.

रवि बिश्नोई वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज


रवि ने एक इंटरव्यू में बताया था, 'वह छह महीने मेरे लिए काफी मुश्किल थे, मैं काफी मेहनत करता था बिना यह जाने कि इसका कोई फायदा भी होगा या नहीं. एकेडमी तैयार हुई और वहां से मेरा क्रिकेट का असली सफर शुरू हुआ.'कई असफलताओं के बाद मिली सफलता
रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) को अपना सपना पूरा करने के लिए इंतजार करना पड़ा, क्योंकि वह पहले राजस्थान के अंडर 16 और फिर अंडर 19 ट्रायल में जगह बनाने में नाकाम रहे. हालांकि अंडर 19 के लिए उन्होंने दूसरी बार ट्रायल दिया और इस बार वह कामयाब रहे. पिछले साल सितंबर में उन्होंने वीनू माकंड ट्रॉफी (Veenu Makand Trophy 2019) में राजस्थान की ओर से डेब्यू किया और फिर पलटकर नहीं देखा. इसके बाद उन्हें भारत की अंडर19 टीम में बुलाया गया और वह वर्ल्ड कप टीम का भी हिस्सा बन गए.

india under 19 cricket team, under 19 cricket world cup, u19 world cup 2020, u19 world cup quarter final, india vs australia u19 world cup, ravi bishnoi, tanveer sangha, इंडिया अंडर 19 क्रिकेट टीम, अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्‍ड कप, इंडिया ऑस्‍ट्रेलिया अंडर 19, रवि बिश्‍नोई
रवि बिशनोई ने एकेडमी बनाने के लिए की मजदूरी


आईपीएल में लगी बड़ी बोली
रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) के टैलेंट को अब दुनिया सलाम कर रही है. आईपीएल ऑक्शन में उन्हें किंग्स इलेवन पंजाब ने दो करोड़ रुपये की बड़ी कीमत में खरीदा है. बिश्नोई आईपीएल के लिए बिलकुल फिट गेंदबाज भी लगते हैं क्योंकि उनकी लेंथ दूसरे लेग स्पिनर्स से अलग है. उनकी गेंदबाजी में थोड़ी तेजी है और रवि और राशिद खान की गेंदबाजी का स्टाइल काफी समान है. वैसे रवि बिश्नोई के आइडल शेन वॉर्न हैं.

पाकिस्तानी मंत्री के बिगड़े बोल- कश्मीर आजाद होगा तभी भारत से खेलेंगे मैच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 9, 2020, 11:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर