लाइव टीवी

जिस खिलाड़ी की तारीफ में रवि शास्‍त्री के शब्द कम पड़ गए थे, उसे ही निकाला टीम से बाहर

News18Hindi
Updated: October 25, 2019, 12:55 PM IST
जिस खिलाड़ी की तारीफ में रवि शास्‍त्री के शब्द कम पड़ गए थे, उसे ही निकाला टीम से बाहर
टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्‍त्री ने रांची टेस्ट के बाद शाहबाज नदीम की जमकर तारीफ की थी. (फाइल फोटो)

झारखंड (Jharkhand) के गेंदबाज शाहबाज नदीम (Shahbaz Nadeem) ने दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ रांची टेस्ट (Ranchi Test) में डेब्यू किया था. इसमें उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए चार विकेट लिए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2019, 12:55 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) में खेलना हर युवा क्रिकेटर का सपना होता है. जब ये सपना साकार होता है, तो वो किसी भी खिलाड़ी के लिए उसकी जिंदगी के सबसे खुशनुमा दिनों में से एक होता है. दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ रांची टेस्ट (Ranchi Test) से ठीक एक दिन पहले झारखंड के स्पिनर शाहबाज नदीम (Shahbaz Nadeem) के लिए भी ये ऐसा ही लम्हा था. रांची टेस्ट से पहले स्पिनर कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) चोटिल हो गए थे और उनके कवर के तौर पर शाहबाज नदीम को टीम में शामिल कर लिया गया था. इतना ही नहीं, उन्हें रांची टेस्ट में टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में भी शामिल किया गया. अपने पहले टेस्ट में शाहबाज नदीम ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए चार विकेट अपने नाम किए. मगर अब बांग्लादेश (Bangladesh) के खिलाफ चुनी गई टेस्ट टीम में शाहबाज नदीम को जगह नहीं दी गई है. वो भी तब जबकि रवि शास्‍त्री ने जमकर शाहबाज नदीम की शान में कसीदे पढ़े थे.

बिशन सिंह बेदी होते तो नदीम से कहते, चीयर्स यंग मैन ः रवि शास्‍त्री
शाहबाज नदीम (Shahbaz Nadeem) का टीम इंडिया (Team India) में न चुना जाना इसलिए भी हैरान करता है क्योंकि रांची टेस्ट (Ranchi Test) में उनके प्रदर्शन की भारतीय टीम के हेड कोच (Head Coach) रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) ने भी जमकर तारीफ की थी. रवि शास्‍त्री ने कहा था, 'शाहबाज नदीम ने अपने प्रदर्शन से बेहद प्रभावित किया है. जब उन्होंने अपना पहला विकेट लिया, तो मैंने कहा कि अगर बिशन सिंह बेदी उन्हें देख रहे होते तो कहते, चीयर्स यंग मैन.' मैदान के बाहर से उनकी गेंदबाजी देखना अद्भुत है.

शाहबाज नदीम को यहां तक पहुंचने के लिए 420 से ज्यादा विकेटों का फासला तय करना पड़ा. मुझे यह देखकर खुशी हुई कि उन्होंने अपने घरेलू दर्शकों के सामने मैच खत्म किया. चार विकेट लेना ऐसा प्रदर्शन है जो शुरुआत के लिहाज से बेहतरीन है. वे बिल्कुल भी दबाव में नहीं थे. शुरुआती तीन ओवर मेडन डाले और हर गेंद बिल्कुल सही ठिकाने पर पड़ रही थी. ये सब उनके अनुभव की वजह से था.'

cricket, cricket news, ravi shastri, shahbaz nadeem, indian cricket team, bcci, virat kohli, jharkhand, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, स्पोर्ट्स न्यूज, झारखंड, रांची टेस्ट, शाहबाज नदीम, रवि शास्‍त्री, विराट कोहली, भारतीय क्रिकेट टीम
शाहबाज नदीम को घरेलू क्रिकेट का करीब 15 साल का अनुभव है. (PTI)


भाई के बलिदान से क्रिकेटर बने नदीम
15 साल पहले शाहबाज नदीम (Shahbaz Nadeem) के पिता ने दोनों बेटो असद इकबाल और शाहबाज नदीम को साफ कहा था कि दोनों भाइयों में से कोई एक ही क्रिकेट में करियर बना सकता है. उन्हें लगता था कि बिहार जैसे राज्य से आने के कारण वह क्रिकेट में कुछ बड़ा नहीं कर पाएंगे. हालांकि इकबाल ने नदीम को क्रिकेट में आगे बढ़ने का मौका देते हुए खेलना छोड़ दिया. उस समय नदीम अंडर 19 में खेला करते थे. वहीं क्रिकेट छोड़कर इकबाल एमबीए करके दिल्ली में बस गए. नदीम ने खेलना जारी रखा और घरेलू क्रिकेट में अपनी जगह बनाई.
Loading...

111 मैचों में 428 विकेट
शाहबाज नदीम (Shahbaz Nadeem) ने 30 साल से ज्यादा की उम्र में टेस्ट डेब्यू किया है जबकि वह पिछले 15 साल से घरेलू क्रिकेट खेल रहे हैं. शाहबाज नदीम ने साल 2004 से अब तक 111 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं जिसमें उनके नाम 428 विकेट हैं, जबकि लिस्ट ए क्रिकेट में नदीम ने 106 मैचों में 145 विकेट हासिल किए हैं.

नमाज पढ़ते वक्त मिली चयन की सूचना
शाहबाज नदीम (Shabaz Nadeem) ने रांची टेस्ट के बाद कहा था, 'जब मुझे टीम में चुनने की सूचना देने के लिए फोन आया, तब मैं नमाज पढ़ रहा था. नमाज पढ़ने के बाद जब मैंने फोन उठाया तो मुझे इस बारे में पता चला. तब दोपहर के ढाई बज रहे थे. मैं बहुत भावुक और उत्साहित था. मगर इसके बाद मैंने इस बात पर फोकस किया कि मुझे मैच में क्या करना है.'

cricket, cricket news, ravi shastri, shahbaz nadeem, indian cricket team, bcci, virat kohli, jharkhand, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, स्पोर्ट्स न्यूज, झारखंड, रांची टेस्ट, शाहबाज नदीम, रवि शास्‍त्री, विराट कोहली, भारतीय क्रिकेट टीम
शाहबाज नदीम को कुलदीप यादव की जगह रांची टेस्ट में शामिल किया गया था. (फाइल फोटो)


धोनी से मिला 'गुरुमंत्र'
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शाहबाज नदीम (Shahbaz Nadeem) ने अपने पर्दापण टेस्ट मैच में टेंबा बावूमा, एनरिच नॉर्तजे, थूनिस डी ब्रूयन और लुंगी एंगिडी (Lungi Ngidi) को अपना‌ शिकार बनाया. मैच के बाद टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ड्रेसिंग रूम में पहुंचे और शाहबाज नदीम से मुलाकात की. बाद में नदीम ने बताया कि धोनी ने उनसे क्या कहा. नदीम के अनुसार, धोनी ने मुझसे कहा कि वे गेंदबाजी देख रहे थे. उनकी गेंदबाजी में अब परिपक्वता है और इसके पीछे कारण उनका घरेलू अनुभव है. धोनी ने नदीम को सलाह दी कि वह अपनी गेंदबाजी में कोई प्रयोग न करें और जिस तरह से खेल रहे हैं, वैसे ही खेलें. धोनी ने कहा कि तुम्हारा सफर शुरू हो चुका है शाहबाज.

बैठक में क्रिकेटरों पर बरसे बोर्ड अध्यक्ष, कहा-तुम्हारे लिए क्या नहीं किया, नंबर डिलीट कर दूंगा

इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज से पहले न्यूजीलैंड को बड़ा झटका, कप्तान केन विलियमसन हुए चोटिल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 12:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...