रवि शास्‍त्री ने उठाए सवाल, कहा-आखिर कैसे WTC पॉइंट टेबल में नंबर 1 से 3 पर पहुंची टीम इंडिया?

रवि शास्‍त्री आईसीसी के नियम बदले जाने पर काफी नाराज है  (फोटो-AP)

रवि शास्‍त्री आईसीसी के नियम बदले जाने पर काफी नाराज है (फोटो-AP)

रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri ) ने सवाल उठाते हुए कहा कि आईसीसी को टूर्नामेंट के बीच में ही लक्ष्‍य नहीं बदलना चाहिए

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 9, 2021, 10:06 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुआई में टीम इंडिया (Team India) ने इंग्‍लैंड को चार टेस्‍ट मैचों की सीरीज में 3-1 से मात देकर वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप के फाइनल में प्रवेश कर लिया. जहां 18 से 22 जून तक उसका मुकाबला न्‍यूजीलैंड से होगा. भारतीय टीम के मुख्‍य कोच रवि शास्‍त्री इस जीत से काफी खुश हैं, मगर खुशी के साथ ही उन्‍होंने आईसीसी पर सवाल भी खड़े कर दिए हैं. शास्‍त्री ने आईसीसी की विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप के क्‍वालिफिकेशन पैमाने को बदलने की काफी आलोचना की. उन्‍होंने कहा कि आईसीसी को बार बार पैमाना बदलने के नियम से बचना चाहिए.

शास्‍त्री इस बात से नाराज नजर आए कि आईसीसी ने टूर्नामेंट के बीच में ही पैमाना बदल दिया और अंक के पैमाने को बदलकर सबसे ज्‍यादा हासिल प्रतिशत अंक में कर दिया. चैंपियनशिप के अगले सीजन में बदलाव देखने के बारे में पूछने पर शास्‍त्री ने कहा कि अगर मुझसे पहले सीजन के बारे में पूछा जाए तो मैं यही कहूंगा कि लक्ष्‍य मत बदलो. उन्‍होंने कहा कि कोरोना के कारण घर में बैठे हैं और भारतीय टीम चैंपियनशिप पॉइंट टेबल में नंबर 1 से नंबर 3 पर आ गई. नियमों में एक मनमान बदलाव के लिए धन्‍यवाद.

बिना जाने ही नियम आ गए 



मीडिया से बात करते हुए शास्‍त्री ने कहा कि शायद सबसे ज्‍यादा 360 अंक के साथ अक्‍टूबर में घर में बैठे हैं तो हफ्तेभर बाद बिना जाने ही नियम आ जाते हैं कि अब हम प्रतिशत प्रणाली से आगे बढ़ेंगे. इसके साथ ही हम पॉइंट टेबल में नंबर एक से फिसलकर तीसरे स्‍थान पर आ जाते हैं. उन्‍होंने कहा कि ठीक है, क्‍योंकि कोरोना के डर के कारण देश यात्रा नहीं चाहते, जो देश रेड जोन में हैं.
यह भी पढ़ें : 

पाकिस्तान क्रिकेट का सीनियर अधिकारी कोविड-19 पॉजिटिव, PCB ने ऑफिस किया बंद

चोटिल विलियमसन वनडे सीरीज से बाहर, भारत के खिलाफ WTC फाइनल से पहले बढ़ी न्‍यूजीलैंड की चिंता

मुख्‍य कोच ने कहा कि मैं इसके पीछे का कारण समझना चाहता हूं, क्‍योंकि पहले हम 60 से 70 अंक आगे थे, फिर कहा जाता है कि अब आपको ऑस्‍ट्रेलिया जाकर उसे हराना है. पिछले 10 सालों में कितनी टीमों ने उस टीम को हराया. अगर उस टीम को नहीं हराते तो स्‍वदेश लौटकर इंग्‍लैंड को 4-0 से हराना होगा और 500 अंक तक पहुंचना होगा और अगर आप फिर भी क्‍वालिफाई नहीं कर पाते? शास्‍त्री ने कहा कि इसीलिए हमने हर चीज को बारीकी से समझा और आखिर में टेस्‍ट चैंपियनशिप के फाइनल में प्रवेश कर लिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज