Home /News /sports /

रवि शास्त्री पर मीम शेयर करने वाले इन आंकड़ों को देख लें, खुद समझ जाएंगे उनकी काबिलियत

रवि शास्त्री पर मीम शेयर करने वाले इन आंकड़ों को देख लें, खुद समझ जाएंगे उनकी काबिलियत

रवि शास्त्री का टीम इंडिया के हेड कोच के तौर पर कार्यकाल समाप्त हो गया. (AFP)

रवि शास्त्री का टीम इंडिया के हेड कोच के तौर पर कार्यकाल समाप्त हो गया. (AFP)

रवि शास्त्री (Ravi Shastri) का टीम इंडिया के हेड कोच के तौर पर कार्यकाल सोमवार को समाप्त हो गया. जब भारत ने नामीबिया के खिलाफ टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup-2021) का अपना अंतिम मैच खेला. शास्त्री को लेकर कई मीम शेयर किए जाते थे. जब भी भारतीय टीम कोई मैच हारती या मुश्किल में दिखती तो शास्त्री को ट्रोल किया जाता था लेकिन उनका कार्यकाल हालांकि काफी अच्छा रहा.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. भारत के निवर्तमान हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) को लेकर कई मीम सोशल मीडिया पर शेयर किए जाते रहे हैं. अब उन्होंने इस अहम पद को छोड़ दिया है. उनका कार्यकाल टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup-2021) तक था. भारत सेमीफाइनल की रेस से बाहर हो गया और ऐसे में नामीबिया के खिलाफ सुपर-12 चरण का मैच उसका मौजूदा टूर्नामेंट में अंतिम मुकाबला रहा. शास्त्री के अलावा सपोर्ट स्टाफ के सदस्यों का भी कार्यकाल खत्म हो गया.

    रवि शास्त्री को लेकर कई मीम शेयर किए जाते थे. कई बार हाथ में गिलास लिए तो कभी कोई पर्ची लिए, जब भी भारतीय टीम कोई मैच हारती या मुश्किल में दिखती तो शास्त्री को ट्रोल किया जाता था. शास्त्री का कार्यकाल हालांकि काफी अच्छा रहा. भले ही आईसीसी की कोई ट्रॉफी नहीं मिली लेकिन भारत ने 5 साल के दौरान 42 में से 24 टेस्ट जीते यानी जीत का प्रतिशत 57 का रहा. वहीं, वनडे में भी 67 प्रतिशत मैचों में भारत को उनके मार्गदर्शन में जीत मिली.

    इसे भी पढ़ें, रवि शास्त्री ने दिए संकेत, भारत-इंग्लैंड के बीच 5वें टेस्ट मैच में कर सकते हैं कमेंट्री

    इतना ही नहीं, टीम इंडिया ने इन 5 साल में 67 में से 43 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में जीत दर्ज की. वनडे में उसे 79 में से 53 मैचों में जीत नसीब हुई यानी टी20 अंतरराष्ट्रीय में जीत का प्रतिशत 65 और वनडे में 67 प्रतिशत रहा. इस लिहाज से देखें तो रवि शास्त्री का कार्यकाल आंकड़ों के हिसाब से काफी अच्छा रहा. हां, यह भी है कि कोई आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीत पाने का मलाल हमेशा रहेगा लेकिन ऑस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर हराना भी कम नहीं है.

    59 वर्षीय रवि शास्त्री की एक खासियत हमेशा से सबसे अलग रही. जब टीम को किसी मैच में हार झेलनी पड़ती तो वह अलग ही अंदाज में टीम के खिलाड़ियों को संभालते थे. इसमें कोई दोराय नहीं कि विदेशी धरती पर उनके मार्गदर्शन में टीम इंडिया ने काबिलेतारीफ प्रदर्शन किया. शायद मीम बनाने वाले या उन्हें ट्रोल करने वाले इसकी अहमियत ना समझें लेकिन एक काफी दबाव वाली स्थिति में युवा खिलाड़ियों को संभालना काफी मुश्किल हो जाता है. यही सबसे बड़ा अंतर भी पैदा करता है.

    इसे भी पढ़ें, रवि शास्‍त्री ने मजाक बनने पर कहा-आप ड्रिंक करो, मजे करो ना यार

    शास्त्री टीम के ड्रेसिंग रूम के माहौल को हल्का और खुशनुमा रखने की कोशिश करते थे. पूर्व टीम मैनेजेर सुनील सुब्रमण्यम ने इंडियन एक्सप्रेस से एक वाकये को याद करते हुए कहा, ‘भारतीय टीम को श्रीलंका से धर्मशाला में हार झेलनी पड़ी. ऐसे में रवि शास्त्री ने रात में टीम मीटिंग बुलाई. सब सोच रहे थे कि खिलाड़ियों को लताड़ लगाई जाएगी लेकिन शास्त्री ने खिलाड़ियों से अंताक्षरी खेलने के लिए कह दिया. उस रात धोनी ने ही 2 बजे तक हिंदी गाने गाए थे. जब उस जगह से सब लौटे तो एक अलग ही भावना से, हर कोई खुश था. हां ये भी जानते थे कि आगे क्या करना है. खिलाड़ियों को मैनेज करना शास्त्री से बेहतर शायद ही कोई कर सकता है.’

    रवि शास्त्री ने नामीबिया के खिलाफ मैच के बाद कहा, ‘मैं मानसिक तौर पर थका हुआ हूं, लेकिन अपनी उम्र में ऐसा होने की उम्मीद कर सकता हूं. खिलाड़ी मानसिक और शारीरिक रूप से थके हुए हैं क्योंकि काफी वक्त से बायो-बबल में हैं. इन्होंने छह महीने बबल में बिताए हैं. हम आईपाएल और विश्व कप के बीच एक बड़ा अंतर चाहते लेकिन ये सभी इंसान हैं, पेट्रोल भरकर इन खिलाड़ियों को नहीं चलाया जा सकता. बायो बबल में अगर डॉन ब्रैडमैन भी बल्लेबाजी करते तो उनका औसत भी कम हो जाता.’

    इसे भी देखें, रवि शास्त्री ने 70 सेकेंड के Video में कोच के सफर को समेटा, जाते-जाते भी टीम में फूंक गए जान

    उन्होंने आगे कहा, ‘बड़े मैचों के साथ आप पर दबाव आता है तो आप उस तरह का प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं, जैसा करना चाहते हैं. हमारी हार के लिए यह कोई बहाना नहीं है. हम हारने से डरते नहीं हैं. जीतने की कोशिश में आप खेल में हारते भी हैं.’

    साल 2017 से भारत के मुख्य कोच के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे रवि शास्त्री की टीम के हर खिलाड़ी ने सराहना की. रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और विराट कोहली (Virat Kohli) ने शास्त्री को खास गिफ्ट भी दिया. नामीबिया के खिलाफ टी20 वर्ल्ड कप के सुपर-12 चरण मैच के बाद 59 वर्षीय शास्त्री टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम से विदाई लेने पर थोड़े इमोशनल भी हो गए. कोहली और रोहित, दोनों ने अपने-अपने बल्ले रवि शास्त्री को गिफ्ट में दिए.

    Tags: BCCI, Coach Ravi Shastri, Cricket news, Indian cricket, Ravi shastri, Virat Kohli

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर