IND vs NZ : सात मैचों में जिस खिलाड़ी को बाहर बैठाया, न्यूजीलैंड से अकेले दम पर डटकर लड़ा वो धुरंधर

न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले सेमीफाइनल में 71 रनों पर आधी टीम के पवेलियन लौटने के बाद जब पूरे भारत की निगाहें महेंद्र सिंह धोनी पर टिकी थीं, तभी रवींद्र जडेजा नाम का तूफान आया और टीम को फाइनल के दरवाजे की चाबी थमा गया. लेकिन टीम वो दरवाजा खोल नहीं सकी.

News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 2:01 PM IST
IND vs NZ : सात मैचों में जिस खिलाड़ी को बाहर बैठाया, न्यूजीलैंड से अकेले दम पर डटकर लड़ा वो धुरंधर
रवींद्र जडेजा के असाधारण प्रदर्शन के बूते टीम इंडिया फाइनल में जगह बनाने में सफल रही.
News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 2:01 PM IST
टीम इंडिया को इस मैच में जीत दर्ज करने के लिए असाधारण प्रदर्शन की जरूरत थी. एक ऐसे प्रदर्शन की जो इस वर्ल्ड कप में इससे पहले कभी न किया गया हो. या यूं कहें कि जरूरत थी चमत्कार की, जो होते-होते रह गया.

हालांकि ऐसा नहीं है कि टीम इंडिया की ओर से इस अनहोनी को होनी करने की कोशिश नहीं की गई. और ये कोशिश एक ऐसे खिलाड़ी ने की, जिसे भारतीय टीम ने शुरुआती सात मैचों में बैंच पर बैठाए रखा था. जी हां, ये खिलाड़ी रवींद्र जडेजा हैं. आठवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे जडेजा ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में गेंद, बल्ले और फील्डिंग से पूरा जोर लगाया, लेकिन आखिरी बाजी टीम इंडिया के हाथ से फिर भी फिसल गई.



मुकाबला भले ही टीम इंडिया हार गई, लेकिन जडेजा की पारी ने क्रिकेट प्रेमियों को बेहद सुकून पहुंचाया. इस पारी में अनावश्यक हड़बड़ी दिखाई नहीं दी. इस पारी में बेतरतीब शॉट देखने को नहीं मिले. और इस पारी में एक निचले क्रम के बल्लेबाजी की छाप नजर नहीं आई.

जानते हैं आखिर इस पारी में नजर क्या आया? जडेजा की 59 गेंद पर खेली गई 77 रन की इस पारी में दिखी ऊपरी क्रम के बल्लेबाज की काबिलियत, इसमें नजर आया मैच जीतने का विश्वास, और इसमें दिखा एक नया रवींद्र जडेजा. वो जडेजा जिसके नाम रणजी क्रिकेट में तीन तिहरे शतक हैं. वो जडेजा जो अपनी बल्लेबाजी के दम पर टीम इंडिया में शामिल हुआ था. आइए जानते हैं कि कैसे इस एक खिलाड़ी ने आखिरी पल तक टीम इंडिया की जीत की उम्मीदों का दीया बुझने नहीं दिया.

World cup, semifinal, rain, manchester, weather report, वर्ल्ड कप, भारत बनाम न्यूज़ीलैंड, बारिश, मैनचेस्टर मौसम का हाल, विराट कोहली, रोहित शर्मा, केएल राहुल, virat kohli, rohit sharma, kl rahul, रवींद्र जडेजा, ravindra jadeja, फाइनल लॉर्ड्स, lords final
रवींद्र जडेजा ने इस वर्ल्ड कप में फील्डिंग करते हुए दो ही मैचों में सबसे ज्यादा 41 रन बचाए. (फाइल फोटो)


फील्डिंग में कमाल

रवींद्र जडेजा मैदान में हों और आपको कुछ असाधारण सा देखने को न मिले ऐसा होना तो संभव ही नहीं है. न्यूजीलैंड की पारी के दौरान भी ऐसा ही हुआ. जसप्रीत बुमराह द्वारा फेंके गए पारी के 48वें ओवर की आखिरी गेंद पर रॉस टेलर ने मिडविकेट पर शॉट खेला और दो रन के लिए दौड़ पड़े. दो रन होने भी चाहिए थे, लेकिन जडेजा के सामने दो रन का सवाल ही कहां उठता है. उन्होंने बिजली सी तेजी से गेंद पर झपट्टा मारा और डायरेक्ट थ्रो से टेलर को पवेलियन भेज दिया.
Loading...

World cup, semifinal, rain, manchester, weather report, वर्ल्ड कप, भारत बनाम न्यूज़ीलैंड, बारिश, मैनचेस्टर मौसम का हाल, विराट कोहली, रोहित शर्मा, केएल राहुल, virat kohli, rohit sharma, kl rahul, रवींद्र जडेजा, ravindra jadeja, फाइनल लॉर्ड्स, lords final
रवींद्र जडेजा ने ये शानदार कैच लेकर किया टॉम लाथम की पारी का अंत. (फाइल फोटो)


कैचिंग में धमाल

1. न्यूजीलैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज टॉम लाथम पारी के 49वें ओवर में छक्का लगाने की कोशिश की, लेकिन तभी उनकी राह में रवींद्र जडेजा आ गए. मिडविकेट पर जब गेंद छक्के के लिए जाती दिख रही थी तभी जडेजा ने गेंद को देखा और अंतिम समय पर पूरा जोर लगाकर लंबी छलांग लगाकर दोनों हाथों से कैच पकड़ लिया. इसी के साथ न्यूजीलैंड की आखिरी ओवरों में ज्यादा से ज्यादा रन बनाने का सपना भी टूट गया.

2. न्यूजीलैंड की पारी का 36वां ओवर फेंकने युजवेंद्र चहल आए. ऑफ स्टंप के बाहर फेंकी गई उनकी दूसरी गेंद पर कप्तान केन विलियमसन ने स्लैश करने की कोशिश की लेकिन गेंद उतनी रफ्तार से नहीं आई और गेंद उनके बल्ले का बाहरी किनारा लगकर हवा में उछल गई. रवींद्र जडेजा ने यह कैच लपकने में कोई गलती नहीं की.

World cup, semifinal, rain, manchester, weather report, वर्ल्ड कप, भारत बनाम न्यूज़ीलैंड, बारिश, मैनचेस्टर मौसम का हाल, विराट कोहली, रोहित शर्मा, केएल राहुल, virat kohli, rohit sharma, kl rahul, रवींद्र जडेजा, ravindra jadeja, फाइनल लॉर्ड्स, lords final
जब न्यूजीलैंड के ओपनर निकोल्स को रवींद्र जडेजा ने इस गेंद पर बोल्ड किया तो इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने भी उनकी तारीफ की. (फाइल फोटो)




बॉलिंग में जलवा



रवींद्र जडेजा ने गेंदबाजी करते हुए एक विकेट भी हासिल किया. उन्होंने न्यूजीलैंड के ओपनर हेनरी निकोल्स को बोल्ड कर पवेलियन की राह दिखाई. यह 19वें ओवर की दूसरी गेंद थी. जडेजा की यह गेंद बाएं हाथ के हेनरी के लिए ऑफ स्टंप के बाहर से स्पिन होकर अंदर की ओर आई और स्टंप पर लग गई. इसी के साथ जडेजा ने खतरनाक होती एक साझेदारी को भी तोड़ दिया.

World cup, semifinal, rain, manchester, weather report, वर्ल्ड कप, भारत बनाम न्यूज़ीलैंड, बारिश, मैनचेस्टर मौसम का हाल, विराट कोहली, रोहित शर्मा, केएल राहुल, virat kohli, rohit sharma, kl rahul, रवींद्र जडेजा, ravindra jadeja, फाइनल लॉर्ड्स, lords final
रवींद्र जडेजा ने 59 गेंद पर शानदार 77 रनों की पारी खेली, लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके. (फोटो-AP)


बैटिंग का बाहुबली

रवींद्र जडेजा जब क्रीज पर उतरे तो टीम इंडिया अपना छठा विकेट गंवा चुकी थी. वह आठवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे. तब भारत को जीत के लिए करीब 150 रन बनाने थे. यहां से जीत नामुमकिन जैसी ही लग रही थी. बावजूद इसके जडेजा ने हार नहीं मानी और धोनी के साथ मिलकर टीम को संभालने का काम जारी रखा. 33वें ओवर की तीसरी गेंद पर नीशाम की गेंद पर लगाए गए जडेजा के छक्के ने बताया कि मैच अभी खत्म नहीं हुआ है. इसके बाद जब-जब खराब गेंद मिली जडेजा ने उसे नहीं बख्‍शा. और कई बार तो अच्छी गेंदों को भी बाउंड्री पार भेज दिया. हालांकि 48वें ओवर की आखिरी गेंद पर जडेजा कैच आउट हो गए. लेकिन इससे पहले वह 59 गेंदों पर 77 रन की पारी खेलकर अपना काम कर चुके थे. इस पारी में उन्होंने चार छक्के और इतने ही चौके लगाए.

जडेजा के सामने नतमस्तक हुए संजय मांजरेकर, गलती मानते हुए कहा- उन्‍होंने अपने खेल से मेरी धज्जियां उड़ा दीं
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...