लाइव टीवी

पिता थे चौकीदार, सचिन को किया लगातार 3 बार आउट, IPL खेलने के बावजूद चलाता है मामूली दुकान

News18Hindi
Updated: March 24, 2020, 3:24 PM IST
पिता थे चौकीदार, सचिन को किया लगातार 3 बार आउट, IPL खेलने के बावजूद चलाता है मामूली दुकान
रे प्राइस ने सचिन को लगातार 3 बार आउट किया था

कई क्रिकेटर ऐसे हुए हैं जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में बड़ा नाम किया लेकिन रिटायर होने के बाद वो एक मामूली सी जिंदगी जी रहे हैं, इनमें रे प्राइस (Ray Price) भी शामिल हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2020, 3:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आपने कई खिलाड़ियों की ऐसी कहानियां जरूर पढ़ी या सुनी होंगी जो बेहद ही गरीब परिवार से ताल्लुक रखते थे लेकिन इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने के बाद उनकी जिंदगी बदल गई. रोहित शर्मा, एमएस धोनी, विराट कोहली भी ऐसे ही खिलाड़ी हैं. हालांकि कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जो इंटरनेशनल क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन के बावजूद एक मामूली सी जिंदगी जी रहे हैं. संन्यास के बाद उनकी जिंदगी और मुश्किल हो गई है. ऐसे ही एक खिलाड़ी हैं जिम्बाब्वे के पूर्व स्पिनर रे प्राइस (Ray Price), जो दुकान चलाकर अपने परिवार का पेट पाल रहे हैं.

रे प्राइस का संघर्ष
बाएं हाथ के स्पिनर रे प्राइस  (Ray Price) ने 22 टेस्ट, 102 वनडे और 16 टी20 मैच खेले हैं. उनके नाम 80 वनडे, 100 टेस्ट और 13 टी20 विकेट हैं. यही नहीं रे प्राइस 2011 में मुंबई इंडियंस की ओर से इंडियन प्रीमियर लीग में भी खेल चुके हैं लेकिन 2013 में रिटायरमेंट के बाद अब वो जिम्बाब्वे में एक मामूली सी दुकान चलाते हैं. वो क्रिकेट का सामान बेचते हैं. यही नहीं रे प्राइस घर-घर जाकर एयर कंडिशनर भी सही करते हैं. रे प्राइस का बचपन भी बेहद कठिनाइयों भरा था. उनके पिता एक चौकीदार थे तो इसलिए हमेशा घर में आर्थिक तंगी रहती थी. इसके अलावा रे प्राइस चार साल की उम्र तक सुन नहीं पाते थे, उनके कानों में खराबी थी, लेकिन इसके बाद ऑपरेशन से वो सही हो गए.





सचिन को किया लगातार 3 बार आउट
रे प्राइस की गेंदबाजी की धार आप इसी बात से जान सकते हैं कि उन्होंने साल 2002 में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) जैसे महान बल्लेबाज को नाको चने चबवा दिये थे. रे प्राइस ने नागपुर टेस्ट की दोनों पारियों में सचिन का विकेट लिया और इसके बाद दिल्ली टेस्ट की पहली पारी में भी उन्होंने सचिन को पैवेलियन की राह दिखाई. संयोग देखिए 9 साल बाद रे प्राइस ने सचिन की कप्तानी में ही आईपीएल डेब्यू किया. मुंबई इंडियंस ने रे प्राइस को मोसेस हेनरीके के चोटिल होने के बाद अपनी टीम में शामिल किया. प्राइस को सिर्फ एक ही मैच में मौका मिला. बता दें सचिन और प्राइस काफी अच्छे दोस्त हैं.

प्राइस को भारत से काफी लगाव
रे प्राइस  (Ray Price) को भारत से बेहद प्यार है, उनके करियर की सबसे यादगार घटना राजधानी दिल्ली में घटी थी. रे प्राइस ने एक इंटरव्यू में खुलासा किया था कि वो दिल्ली टेस्ट के दौरान चिड़ियाघर में घूमने गए थे जहां हाथी की देखभाल करने वाले एक शख्स ने मुझे पहचान लिया. उसने मुझसे कहा, 'सर मेरा बेटा भी बाएं हाथ का स्पिनर है और आप उसके हीरो हैं.' प्राइस ने इस घटना को अपनी जिंदगी का सबसे यादगार लम्हा बताया था.

डेल स्टेन का टूटा दिल, साउथ अफ्रीकी क्रिकेट बोर्ड ने किया ऐसा सुलूक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 3:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर