रवि शास्‍त्री को कोच चुने जाने से फैंस नाराज, कहा- इस दिग्गज को बनना चाहिए था कोच

क्रिकेट सलाहकार समिति (Cricket Advisory Committee) की अगुआई कर रहे कपिल देव (Kapil Dev) ने टीम इंडिया (Team India) के कोच पद के लिए रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) के नाम का ऐलान किया. माइक हेसन (Mike Hesson) दूसरे व टॉम मूडी (Tom Moody) तीसरे नंबर पर रहे.

News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 8:13 PM IST
रवि शास्‍त्री को कोच चुने जाने से फैंस नाराज, कहा- इस दिग्गज को बनना चाहिए था कोच
रवि शास्त्री बने हेड कोच
News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 8:13 PM IST
रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) को एक बार फिर टीम इंडिया (Indian Cricket Team) का कोच चुन लिया गया है. उनका कार्यकाल आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 तक के लिए था, जिसे वेस्टइंडीज दौरे के लिए 45 दिन तक बढ़ा दिया गया था. टीम इंडिया का कोच बनने की इस होड़ में तीन लोगों के बीच कड़ी टक्कर हुई, जिसमें ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर टॉम मूडी और न्यूजीलैंड को 2015 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पहुंचाने वाले माइक हेसन (Mike Hesson) शामिल थे. क्रिकेट सलाहकार समिति की अगुआई कर रहे कपिल देव ने शास्‍त्री के नाम का ऐलान करते हुए कहा कि कोच बनने की इस रेस में मूडी तीसरे नंबर पर थे, जबकि हेसन दूसरे नंबर पर रहे. रवि शास्‍त्री को नंबर वन बताते हुए उन्हें नया कोच नियुक्त कर दिया गया.

रवि शास्‍त्री को बतौर कोच भले ही टीम इंडिया की फिर से कमान मिल गई हो, लेकिन क्रिकेट प्रशंसकों में इसे लेकर भारी नाराजगी देखने को मिल रही है. लोगों का मानना है कि रवि शास्‍त्री को कोच बनाने का फैसला दबाव में लिया गया, जबकि इस काम के लिए न्यूजीलैंड के माइक हेसन सबसे उपयुक्त विकल्प थे. अपना गुस्सा जाहिर करते हुए फैंस ने सोशल मीडिया पर तरह-तरह से अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है.

माइक हेसन के समर्थन में ट्वीट




इसलिए बनना चाहिए था हेसन को कोच
माइक हेसन (Mike Hesson) ने 22 साल की उम्र में कोचिंग शुरू कर दी थी. न्यूजीलैंड के डुनेडिन में पैदा हुए हेसन ने करीब 15 साल तक ओटागो क्रिकेट के लिए काम किया. इस दौरान उन्होंने मैच जीतने के लिए तरसती रही ओटागो टीम का 20 साल का सूखा खत्म कराते हुए उसे खिताब दिलाया. इसके बाद 2011 वर्ल्ड कप में केन्या के खराब प्रदर्शन के बाद वह केन्या के कोच बनाए गए. हालांकि उन्होंने मई 2012 में इस्तीफा दे दिया और जुलाई 2012 में जॉन राइट की जगह न्यूजीलैंड के कोच बने.

माइक हेसन भी थे भारतीय कोच पद के दावेदार

Loading...

6 साल तक न्यूजीलैंड को दी कोचिंग, बुलंदियों पर पहुंचाया
माइक हेसन (Mike Hesson) करीब 6 साल तक न्यूजीलैंड टीम के कोच रहे. उन्होंने 2018 में अपने पद से इस्तीफा दिया था. इस साल उन्हें आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब की टीम का कोच बनाया गया. हेसन को न्यूजीलैंड के क्रिकेट इतिहास का सबसे कामयाब कोच माना जाता है. टीम को 2015 के वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पहुंचाने का श्रेय भी उन्हें जाता है. हेसन ने तब तत्कालीन कप्तान ब्रेंडन मैक्कलम को पूरी आजादी दी हुई थी और इस दौरान हेसन के आक्रामक रवैये की सभी ने प्रशंसा की थी, जिसकी वजह से न्यूजीलैंड का खेल बिल्कुल बदल गया था.

माइक हेसन अब पाकिस्तान के कोच बन सकते हैं


न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के मौजूदा कप्तान केन विलियमसन ने भी मैक्कलम के बाद कप्तानी संभालते वक्त हेसन की तारीफ की थी. हेसन आईपीएल टीम किंग्स इलेवन पंजाब में लोकेश राहुल, रविचंद्रन अश्विन और मोहम्मद शमी जैसे भारतीय खिलाड़ियों के साथ काम कर चुके हैं.

यह भी पढ़ें- रवि शास्‍त्री बने रहेंगे टीम इंडिया के हेड कोच, 2 साल का होगा कार्यकाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 6:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...