लाइव टीवी

चार साल बाद टीम इंडिया में वापसी के बाद संजू सैमसन बोले- नहीं बनना चाहता ‘परफेक्ट बल्लेबाज’

भाषा
Updated: October 24, 2019, 11:29 PM IST
चार साल बाद टीम इंडिया में वापसी के बाद संजू सैमसन बोले- नहीं बनना चाहता ‘परफेक्ट बल्लेबाज’
संजू सैमसन के नाम अब लिस्‍ट ए क्रिकेट का सबसे तेज दोहरा शतक है.

संजू सैमसन (Sanju Samson) को डेब्यू के चार साल बाद बांग्लादेश (Bangladesh) के खिलाफ फिर से टीम में शामिल किया गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. संजू सैमसन (Sanju Samson) को अपने कॅरियर में कई बार निराशा का सामना करना पड़ा और अब उन्हें इन उतार चढ़ाव से कोई परेशानी भी नहीं होती तथा चार साल के अंतराल के बाद भारतीय टीम (Team India) में वापसी करने वाला यह खिलाड़ी ‘परफेक्ट बल्लेबाज’ बनने की कोशिश भी नहीं करता.

सैमसन (Sanju Samson) ने भारत के लिए एकमात्र मैच जुलाई 2015 में टी20 के रूप में खेला था जब कम अनुभवी टीम ने जिम्बाब्वे (Zimbabwe) का दौरा किया था. तब वह 19 साल के थे.

विजय हजारे ने ठोका दोहरा शतक
इसके बाद से विकेटकीपर बल्लेबाज का सफर उतार चढ़ावों भरा रहा है जिन्हें अनुशासनहीनता के आधार पर केरल टीम से भी बाहर कर दिया गया था. वह निरंतर अच्छा प्रदर्शन भी नहीं कर सके और इस बीच उनकी फिटनेस भी अच्छी नहीं रही. इस दौरान उन्होंने बेहतरीन पारियां भी खेलीं. इसी तरह की एक पारी इस महीने में विजय हजारे ट्राफी में सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत स्कोर से रही जिसमें उन्होंने नाबाद 212 रन बनाये.

t20 world cup, team india, virat kohli, Shubman Gill, Dinesh Karthik, Shreyas Gopal, टी20 वर्ल्ड कप, शुभमन गिल, ईशान किशन, दिनेश कार्तिक
संजू सैमसन पहली बार 19 साल की उम्र में टीम में शामिल हुए थे


सैमसन अब 24 साल के हैं और उन्होंने गुरूवार को पीटीआई से कहा, ‘आपने सही कहा कि यह मेरे लिये उतार-चढ़ाव भरा सफर रहा. अगर आपका करियर सुरक्षित और आसान राह वाला रहता है तो आप बहुत कम चीजें सीखते हो. मैंने पिछले चार से पांच वर्षों में काफी चीजें सीखी हैं अगर आप काफी बार विफल होते हो तो आप जानते हो कि कैसे फिर से वापसी की जाये और कैसे सफल हुआ जाये. मैं अपनी जिंदगी में काफी बार विफल हुआ हूं इसलिये मैं जानता हूं कि कैसे उठकर अच्छा प्रदर्शन किया जाये. यह मेरे लिये फायदे की चीज रही.’

कई बड़े खिलाड़ी कर चुके हैं सैमसन की तारीफ
Loading...

महान क्रिकेटर राहुल द्रविड़ सहित कई ने सैमसन की तारीफ की लेकिन प्रदर्शन में निरंतरता की कमी उनके खिलाफ जाती रही. दिनेश कार्तिक की वापसी के बाद ऋषभ पंत के आने से वह पिछले दो वर्षों में भारत की सीमित ओवरों की टीम से बाहर रहे.

कोहली को बांग्लादेश के खिलाफ टी-20 श्रृंखला से बाहर रखा गया है जिससे सैमसन के विशेषज्ञ बल्लेबाज के तौर पर खेलने की उम्मीद है जिसमें पंत विकेटकीपिंग करेंगे.

पहले सैमसन का खुद से काफी ऊंची उम्मीदें रहती थीं लेकिन अब ऐसा नहीं है. उन्होंने कहा, ‘मुझे कोई पछतावा नहीं है. जैसा कि मैंने कहा कि मैं काफी उतार चढ़ाव से गुजरा हूं. मुझे खुद से काफी ज्यादा उम्मीदें रहती थी कि मुझे बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए था. लेकिन अब मैं समझ गया हूं कि हर चीज का अपना समय होता है और आपको अपनी बारी का संयम से इंतजार करना होता है.’

गांगुली के हाथ में चयन समिति का भविष्य, सेलेक्टर्स के कार्यकाल का करेंगे फैसला

कोहली-गंभीर कर रहे थे जमकर तारीफ, रोहित के कप्तान बनते ही हो गया टीम से बाहर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 8:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...