• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • बड़ी खबर : IPL को लेकर खिलाड़ियों से 'जबरदस्ती' कर रहा क्रिकेट ऑस्टेलिया, ये है मामला

बड़ी खबर : IPL को लेकर खिलाड़ियों से 'जबरदस्ती' कर रहा क्रिकेट ऑस्टेलिया, ये है मामला

पैट कमिंस ने कहा- गेंद पर मोम लगाने की इजाजत मिले

पैट कमिंस ने कहा- गेंद पर मोम लगाने की इजाजत मिले

दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस (Corona Virus) के कहर के चलते इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) के सीजन को 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. ऐसे में जबकि कोरोना वायरस (Corona Virus) का कहर दुनियाभर में फैला है, सभी तरह के खेल आयोजनों पर भी इसका गहरा गहरा और व्यापक असर देखने को मिला है. एनबीए से लेकर क्रिकेट, बैडमिंटन से लेकर हॉकी और शूटिंग से लेकर एथलेटिक्स, सभी तरह के खेल आयोजनों को या तो रद कर दिया गया है या फिर स्थगित. यहां तक कि जुलाई से जापान में होने वाले टोक्यो ओलिंपिक खेलों को लेकर भी खतरे के बादल मंडरा रहे हैं. बीसीसीआई (BCCI) ने दुनिया की सबसे लोकप्रिय टी20 लीग आईपीएल (IPL) को भी 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया है. हालांकि इस बीच एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है.

    ऐसे में जबकि आईपीएल (IPL) के 13वें सीजन के आयोजन को लेकर स्थिति अभी साफ नहीं है सभी आठों फ्रेंचाइजियों ने अपने-अपने प्री टूर्नामेंट कैंप रद कर दिए हैं और खिलाड़ियों को वापस भेज दिया है. हालांकि क्रिकट्रैकर की रिपोर्ट के अनुसार, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (Cricket Australia) ने एक कदम आगे जाकर खिलाड़ियों को आईपीएल में खेलने से रोकने के लिए जबरदस्ती करने का मन बना लिया है. रिपोर्ट के अनुसार, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने खिलाड़ियों को आईपीएल में खेलने के फैसले की समीक्षा करने के लिए कहा है.

    क्या कहते हैं नियम
    नियमों के अनुसार इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) में खेलने का फैसला करने का अधिकार पूरी तरह से खिलाड़ियों का है. क्रिकेट आस्ट्रेलिया (Cricket Australia) के चीफ एग्जीक्यूटिव केविन रॉबटर्स ने भी इस मानते हुए कहा है कि खिलाड़ियों ने व्यक्तिगत तौर पर आईपीएल फ्रेंचाइजियों से अनुबंध किया है. ऐसे में आईपीएल 2020 में खेलने या न खेलने को लेकर फैसला करने का अधिकार भी उन्हीं को है.

    मगर यहां फंसा है पेंच
    बेशक आईपीएल (IPL) में खेलने का फैसला खिलाड़ियों को करना है, लेकिन महत्वपूर्ण बात ये है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (Cricket Australia) से बिना अनापत्ति प्रमाणपत्र मिले वो आईपीएल में हिस्सा नहीं ले सकते. यही वजह है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया इस पर विचार कर रहा है कि क्या उसे अपने खिलाड़ियों को आईपीएल के लिए भारत और फिर द हंड्रेड टूर्नामेंट के लिए इंग्लैंड भेजना चाहिए या नहीं. रिपोर्ट के अनुसार आमतौर पर बोर्ड अनापत्ति प्रमाणपत्र दे देता है, लेकिन इस बार इस पर गहनता से विचार किया जा रहा है. ऐसे में हो सकता है कि खिलाड़ियों के आईपीएल में खेलने की इच्छा जताने के बावजूद क्रिकेट आस्ट्रेलिया उन्हें जाने की अनुमति न दे.

    उम्मीद है खिलाड़ी सही फैसला करेंगे
    केविन रॉबटर्स ने कहा कि बेशक लीग में खेलने का फैसला करने का अधिकार खिलाड़ियों को है, लेकिन हमारा काम भी उन्हें सलाह देना है. उम्मीद है कि खिलाड़ी अनिश्चितताओं के इस माहौल में सही फैसला करेंगे. कोरोना वायरस के चलते क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने घरेलू टूर्नामेंट शेफील्ड शील्ड के आगे का कार्यक्रम रद करते हुए न्यू साउथ वेल्स को विजेता घोषित कर दिया, जो दूसरे स्थान पर काबिज विक्टोरिया से 12 अंक आगे थी.

    खिलाड़ियों के लिए बड़ा नुकसान
    अगर क्रिकेट आस्ट्रेलिया आईपीएल में हिस्सा लेने के लिए खिलाड़ियों को अनापत्ति प्रमाणपत्र नहीं देता है तो फिर क्रिकेटरों को बड़ा आर्थिक नुकसान उठाना पड़ेगा. पैट कमिंस, स्टीव स्मिथ, डेविड वॉर्नर और ग्लेन मैक्सवेल आईपीएल में हिस्सा ले रहे बड़े नामों में शामिल हैं. पैट कमिंस तो इस आईपीएल के लिए हुई नीलामी में सबसे महंगे बिके थे. पैट कमिंस को लगभग 16 करोड़ रुपये मेें कोलकाता नाइटराइडर्स ने अपने साथ जोड़ा था.

    भारत को वर्ल्ड कप जिताने वाला कप्तान करना चाहता था खुदकुशी, रोते हुए कहा...

    Corona Virus ने एमएस धोनी की उम्मीदों पर फेरा पानी, अब लेना ही होगा संन्यास!

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज