जसप्रीत बुमराह के बॉलिंग एक्शन पर बोले हेडली, वह ज्यादा चोटों का सामना कर सकते हैं

जसप्रीत बुमराह ने 19 टेस्ट में 83 विकेट झटके हैं (PIC: AP)

जसप्रीत बुमराह ने 19 टेस्ट में 83 विकेट झटके हैं (PIC: AP)

आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल शुरू होने से पहले लीजेंडरी ऑलराउंडर रिचर्ड हेडली (Richard Hadlee) ने जसप्रीत बुमराह की अपरंपरागत तकनीक पर अपने विचार साझा किए और क्रिकेट में उनकी लंबी उम्र के बारे में बात की.

  • Share this:

नई दिल्ली. 2016 में डेब्यू से ही जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य पेस अटैक का हिस्सा रहे हैं. उन्होंने अक्सर अपने स्पैल से खेल का रुख पलट कर दिया है. वर्ष 2012 में मुंबई इंडियंस के जॉन राइट ने बुमराह को पहली बार देखा था. बुमराह इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की खोज हैं और अपने अनूठे शॉर्ट रन-अप एक्शन से सभी को प्रभावित करके अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेजी से आगे बढ़े हैं. बुमराह को भारत के दक्षिण अफ्रीका दौरे के दौरान टेस्ट कैप सौंपी गई थी और तब से उन्होंने 83 विकेट लिए हैं, जिनमें से अधिकांश भारत के ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज और न्यूजीलैंड के दौरे के दौरान विदेशों में आए हैं. जब भारत आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल (WTC) में न्यूजीलैंड के खिलाफ मैदान में उतरेगा तो कप्तान विराट कोहली और रविचंद्रन अश्विन के साथ यह तेज गेंदबाज निस्संदेह प्रमुख खिलाड़ियों में से एक होगा. भारत और न्यूजीलैंड के बीच डब्ल्यूटीसी 18 जून से खेला जाएगा.

आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल शुरू होने से पहले लीजेंडरी ऑलराउंडर रिचर्ड हेडली (Richard Hadlee) ने जसप्रीत बुमराह की अपरंपरागत तकनीक पर अपने विचार साझा किए और क्रिकेट में उनकी लंबी उम्र के बारे में बात की. रिचर्ड हेडली ने आईसीसी की मीडिया रिलीज में कहा, ''बुमराह अनऑर्थोडॉक्स कैटेगरी में फिट बैठते हैं, क्योंकि उनका रनअप भी नहीं है. उनकी तकनीक काफी शानदार है. उन्होंने इसे प्रभावी तरीके से साबित भी किया है. वह एक ऐसे गेंदबाज हैं, जो गेंद को रिलीज करते समय अपनी ताकत और गति का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं.''

इरफान पठान की पत्नी की तस्वीर पर हुआ विवाद, कहा-मैं उसका मालिक नहीं, साथी हूं

उन्होंने कहा, ''खेल में जसप्रीत की लंबी उम्र का निर्धारण होना अभी बाकी है. मुझे संदेह है कि वो अन्य तेज गेंदबाजों जिनका एक्शन ज्यादा क्लासिक और बेहतर है, उनकी अपेक्षा में ज्यादा चोटों का सामना कर सकते हैं.'' हेडली इस बात को लेकर अनिश्चित हैं कि बुमराह अपने कठिन एक्शन के साथ कितने समय तक खेल सकते हैं और उन्हें इस तरह की गेंदबाजी शैली के कारण चोटों के बारे में चेतावनी दी.
डब्ल्यूटीसी फाइनल के बारे में बात करें तो जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज, उमेश यादव और शार्दुल ठाकुर के साथ भारत के तेज आक्रमण का नेतृत्व करेंगे. हेडली ने कहा, '' उनकी कुछ चोटें काफी गंभीर साबित हो सकती है, क्योंकि वह अपने शरीर पर काफी तनाव और दबाव डालते हैं. मैं उम्मीद करता हूं कि चोट के चलते उनका करियर खत्म नहीं होगा,क्योंकि उन्हें गेंदबाजी करते हुए देखना काफी अच्छा लगता है. वह बल्लेबाजों को अपनी गति, उछाल, हवा और पिच से गेंद को मूव कराकर बल्लेबाजों के लिए परेशानी खड़ा करते हैं.''

इंग्लैंड जाने से पहले क्‍वारंटीन में पसीना बहा रहे टीम इंडिया के खिलाड़ी, सामने आया VIDEO

उन्होंने कहा कि ऐसे तकनीक वाले गेंदबाजों को कोचिंग देना मुश्किल होगा और मुझे लगता है कि कोई भी कोच ऐसा करने से बचेगा क्योंकि इससे गेंदबाज अधिक चोटिल हो सकते हैं. हालांकि, मुझे लगता है कि कुछ युवा उनकी नकल करने की कोशिश कर सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज