संन्यास के बाद युवराज सिंह ने दिया रिषभ पंत को बड़ा 'तोहफा'

भारत को साल 2007 में वर्ल्ड टी20 और 2011 में आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप जिताने वाले युवराज सिंह ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया, उन्होंने रिषभ पंत की बहुत तारीफ की है

News18Hindi
Updated: June 10, 2019, 6:01 PM IST
संन्यास के बाद युवराज सिंह ने दिया रिषभ पंत को बड़ा 'तोहफा'
संन्यास के बाद युवराज सिंह ने दिया रिषभ पंत को बड़ा 'तोहफा'
News18Hindi
Updated: June 10, 2019, 6:01 PM IST
सोमवार का दिन भारतीय क्रिकेट फैंस के लिए बेहद ही भावुक लम्हा लेकर आया. इसकी वजह थी युवराज सिंह का संन्यास. टीम इंडिया को दो वर्ल्ड कप जिताने वाले इस चैंपियन खिलाड़ी ने मुंबई में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर संन्यास का ऐलान कर दिया. संन्यास के बाद युवराज सिंह ने अपने दिल की कई बातें कही, लेकिन इस दौरान उन्होंने रिषभ पंत को सबसे बड़ा गिफ्ट दे दिया. युवराज सिंह ने कहा कि रिषभ पंत ही वो खिलाड़ी हैं जो उनकी जगह टीम इंडिया में ले सकते हैं.

पंत के मुरीद युवराज
युवराज सिंह से पूछा गया कि मौजूदा खिलाड़ियों में कौन उनकी जगह ले सकता है. इस पर उन्होंने कहा कि रिषभ पंत में काफी टैलेंट हैं. युवी ने कहा कि पंत उनसे भी ज्यादा टैलेंटेड हैं. भले ही वर्ल्ड कप में पंत को जगह नहीं मिली लेकिन उनमें काफी संभावनाएं हैं. युवराज ने कहा कि रिषभ में क्षमता और वो मेरी जगह ले सकते हैं. पंत मुझसे बेहतर भी साबित हो सकते हैं.

पंत ने युवराज को बताया मेंटॉर

रिषभ पंत ने भी युवराज के संन्यास के ऐलान के बाद उनके लिए बेहद खास बात कही. पंत ने युवी को अपना भाई और मेंटर बताया. उन्होंने युवराज को फाइटर खिलाड़ी करार दिया और उन्हें अगली यात्रा के लिए शुभकामनाएं दीं.

पंत और युवराज के स्टाइल में समानता
युवराज और रिषभ पंत के खेलने का अंदाज काफी हद तक एक जैसा है. पंत भी युवराज सिंह की तरह ताबड़तोड़ हिटिंग करते हैं. युवराज सिंह की तरह वो भी लंबे-लंबे सिक्स लगाते हैं. अपने दम पर जीत दिलाने की कला भी पंत को आती है, शायद इसीलिए युवराज सिंह ने उनकी इतनी तारीफ की है.
Loading...

युवराज सिंह और रिषभ पंत


युवराज सिंह ने किया चौंकाने वाला खुलासा
युवराज सिंह ने रिषभ पंत की तारीफ तो की ही लेकिन संन्यास के बाद उन्होंने बहुत ही बड़ा चौंकाने वाला खुलासा भी किया. युवराज सिंह ने कहा कि उन्हें फेयरवेल मैच खेलने का मौका देने का ऑफर दिया गया था लेकिन इसके लिए उनके सामने यो-यो टेस्ट में फेल होने की शर्त रखी गई थी.

युवराज सिंह ने बयान दिया, 'उन्होंने मुझे कहा कि आपको फेयरवेल मैच मिलेगा अगर आप यो-यो टेस्ट पास नहीं करेंगे. मैंने कहा कि मैं खुद ही क्रिकेट छोड़ दूंगा अगर मैं यो-यो टेस्ट में फेल हो गया. मैं यो-यो टेस्ट में पास हुआ लेकिन इसके बाद मेरे हाथ में कुछ भी नहीं था. युवराज सिंह ने आगे कहा, 'मैंने किसी को नहीं बोला कि मुझे आखिरी मैच चाहिए फेयरवेल के लिए. मुझमें दम होता या संभावना होती तो मैं मैदान से ही बाहर जाता. मुझे इस तरह का क्रिकेट पसंद नहीं कि मुझे आखिरी मैच चाहिए.'

यह भी पढ़ें- 

बड़ी खबर : दो वर्ल्ड कप जिताने वाले युवराज ने लिया संन्यास

2011 वर्ल्ड कप : युवी की जिंदगी के वो बेहतरीन दिन...जो बदतर दिनों की आहट लेकर आए थे

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 10, 2019, 5:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...