Road Safety World Series: रायपुर में फैंस स्टेडियम में मैच देख सकेंगे, पर नियमों में की गई सख्ती

मैच के दौरान हालांकि फैंस मास्क को लेकर सचेत नहीं रहते हैं.

रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज (Road Safety World Series) के सेमीफाइनल और फाइनल मुकाबले बाकी हैं. टी20 सीरीज (India vs England) में फैंस के आने पर रोक के बाद यहां भी फैंस को लेकर आशंका व्यक्त की जा रही थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. टी20 सीरीज (India vs England) के बचे तीन मैच में फैंस के आने पर रोक लगा दी गई है. कोरोना के बढ़ते मामले काे देखते हुए यह निर्णय लिया गया. ऐसे में लग रहा था कि रायपुर में चल रहे रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज (Road Safety World Series) पर भी कोरोना की मार पड़ सकती है. लेकिन ऐसा नहीं हुआ है. प्रशासन की ओर नियमों को सख्ती की गई है, लेकिन पहले की तरह 50 फीसदी फैंस  स्टेडियम में मैच देख सकेंगे.

रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज में इंडिया लीजेंड्स के मैच में बड़ी संख्या में फैंस पहुंच रहे हैं. टीम सेमीफाइनल में पहुंच चुकी है. सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, युवराज सिंह जैस स्टार खिलाड़ी टीम में शामिल हैं. ऐसे में सेमीफाइनल में भी बड़ी संख्या में फैंस के पहुुंचने की उम्मीद है. रायपुर के शहीद वीर नारायण सिंह स्टेडियम की दर्शक क्षमता 65 हजार है. 30 हजार फैंस के भारत के सेमीफाइनल मैच में पहुंचने की उम्मीद है. टी20 सीरीज के बचे मैच में फैंस के बैन के बाद रायपुर में भी आला अधिकारियों ने बैठक की. इसमें नियमों को लेकर सख्ती करने की बात कही गई, लेकिन फैंस पर रोक नहीं लगाई गई है. मंगलवार को अंतिम लीग मुकाबला होना है. 17 और 18 मार्च को सेमीफाइनल जबकि 21 मार्च को फाइनल होना है. यानी कुल 4 मुकाबले बचे हैं.

यह भी पढ़ें: डिजिटल ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म Upstox आईपीएल का आधिकारिक पार्टनर बना, एक साल से ज्यादा का है करार

टूर्नामेंट के आयोजन को लेकर बैठक हुई. इसमें परिवहन आयुक्त दीपांशु काबरा, पुलिस महानिरीक्षक विवेकानंद सिन्हा, कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रायपुर अजय यादव सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी शामिल हुए. बैठक में निर्णय लिया गया कि बिना मास्क लगाए दर्शकों को स्टेडियम में प्रवेश नहीं दिया जाएगा. हालांकि फैंस अपने साथ सेनिटाइजर की बोतल नहीं ले जा सकेंगे. खिलाड़ियों की सुरक्षा को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है. आयोजक फैंस को सेनिटाइजर देंगे. फैंस के आने पर अभी रोक इसलिए भी नहीं गई है, क्योंकि रायपुर में अन्य बड़े शहरों की तुलना में कोरोना के मामले कम हैं.