लाइव टीवी

हर्षा भोगले ने बताया कौन हैं सर्वश्रेष्ठ फील्डर्स, स्टंप तोड़ने वाला ये खिलाड़ी शामिल नहीं, फैंस भड़के

News18Hindi
Updated: March 25, 2020, 4:06 PM IST
हर्षा भोगले ने बताया कौन हैं सर्वश्रेष्ठ फील्डर्स, स्टंप तोड़ने वाला ये खिलाड़ी शामिल नहीं, फैंस भड़के
हर्षा भोगले भारतीय क्रिकेट कमेंटेटर हैं

हर्षा भोगले (Harsha Bhogley) ने अपने पंसदीदा फील्डर्स के नाम ट्विटर पर फैंस के साथ शेयर किए

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2020, 4:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट में हर्षा भोगले (Harsha Bhogle) को खेल का बड़ा जानकार माना जाता है. वह लंबे समय से इस खेल से जुड़े हुए हैं और भारतीय क्रिकेट फैंस उनकी हर बात को अहमियत भी देते हैं. कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते इन दिनों क्रिकेट बंद ऐसे में हर्षा भोगले (Harsha Bhogle) ने ट्विटर पर अपने पसंदीदा तीन फील्डर के नाम बताए. हालांकि फैंस इन लिस्ट में एक ऐसे भारतीय क्रिकेटर के नाम की गैरमौजूदगी से हैरान हो गए जिसने अपनी फील्डिंग से ही स्टंप तोड़ दिया था.

हर्षा भोगले ने बताए भारत के तीन सर्वश्रेष्ठ फील्डर
हर्षा भोगले ने अपने तीन पसंदीदा क्रिकेटर में एकनाथ सोलकर, पूर्व भारतीय कप्तान अजहरूद्दीन और तीसरे स्थान पर भारतीय ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा का नाम शामिल किया. इसके अलावा उन्होंने 10 और नाम दिए. इन 10 नामों में हेमू अधिकारी, टाइगर पटौदी, रूसी सूर्ती, सैयद किरमानी, अबिद अली, ब्रिजेश पटेल,अजय जडेजा, सुरेश रैना, युवराज सिंह और मोहम्मद कैफ का नाम था जो हर्षा भोगले के मुताबिक देश के बेहतरीन फील्डर्स में शामिल है.



हालांकि फैंस हैरान थे कि इस लिस्ट में भारत के लिए क्रिकेट खेलने वाले पहले विदेशी खिलाड़ी रॉबिन सिंह का नाम नहीं था. रॉबिन सिंह (Robin Singh ) को अपने ऑलराउंड प्रदर्शन से ज्‍यादा फी‌ल्डिंग के लिए जाना जाता है. श्रीलंका के खिलाफ एक मैच के दौरान उन्होंने  रनआउट के लिए थ्रो करते हुए स्टंप तोड़ दिया था.  अपनी शानदार फील्डिंग के दम पर उन्‍होंने भारत को कई अहम मैच में जीत दिलाने में बड़ी भूमिका निभाई. वह साल 2008 में आईपीएल की डेक्कन चार्जर्स के फील्डिंग कोच भी रहे थे.

फैंस ने कहा कि इस लिस्ट में रॉबिन सिंह का नाम होना चाहिए क्योंकि वह देश के बेहतरीन फील्डर थे.





फील्डिंग कोच भी रहे रॉबिन सिंह
रॉबिन सिंह (Robin Singh ) क्रिकेट को अलविदा कहने के तुरंत बाद कोचिंग से जुड़ गए थे. उन्होंने 2004 में भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम से अपने कोचिंग करियर की शुरुआत की थी. इसके बाद वह हॉन्ग कॉन्ग नेशनल टीम के कोच बने और 2006 में एशिया कप के लिए टीम को क्वालीफाई करवाया. इसके बाद भारतीय नेशनल टीम ए के कोच बने और गौतम गंभीर और रॉबिन उथप्पा जैसे खिला‌ड़ियों को ट्रेनिंग दी.

राहुल द्रविड़ का बड़ा खुलासा-चेन्नई सुपरकिंग्स की सफलता में टीम मालिकों का हाथ

टोक्यो खेल स्थगित होने के बाद अब 2024 के पेरिस ओलिंपिक को लेकर आई बड़ी खबर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 4:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर