लाइव टीवी

रोहित शर्मा की इस 'टीम' ने 754 रनों से जीता मैच, सभी विरोधी बल्लेबाज 0 पर आउट

News18Hindi
Updated: November 21, 2019, 12:49 PM IST
रोहित शर्मा की इस 'टीम' ने 754 रनों से जीता मैच, सभी विरोधी बल्लेबाज 0 पर आउट
विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ते थे रोहित शर्मा

मुंबई के हैरिस शील्ड स्कूल टूर्नामेंट (Harris Shield School Tournament) में चिल्ड्रन वेलफेयर स्कूल का एक भी बल्लेबाज खाता नहीं खोल सका.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2019, 12:49 PM IST
  • Share this:
क्रिकेट के मैदान पर टीमें अक्सर बेहद खराब प्रदर्शन कर मैच गंवाती हैं लेकिन मुंबई में चल रहे हैरिस शील्ड टूर्नामेंट (Harris Shield School Tournament) में तो एक टीम ने सारी हदें पार कर दीं. बुधवार को खेले गए एक मैच में चिल्ड्रन वेलफेयर स्कूल की टीम महज 7 रन पर ऑल आउट हो गई. गजब की बात तो ये है कि इस टीम का एक भी बल्लेबाज खाता नहीं खोल पाया. टीम के सभी बल्लेबाज जीरो पर आउट हुए. टीम के जो 7 रन बने वो अतिरिक्त थे.

इस मैच में चिल्ड्रन वेलफेयर स्कूल (Children Welfare School) की टीम बुरी तरह हारी. विपक्षी विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल (Vivekanand International School) की टीम 754 रनों के बड़े अंतर से मैच जीत गई. चिल्ड्रन वेलफेयर स्कूल के बल्लेबाजों को समेटने के लिए सिर्फ दो गेंदबाज काफी रहे. विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल के तेज गेंदबाज आलोक पाल ने तीन ओवर में तीन रन देकर 6 विकेट लिए वहीं कप्तान वरोद राजे ने दो विकेट झटके. चिल्ड्रन वेलफेयर स्कूल के दो बल्लेबाज रन आउट हुए.

विवेकानंद स्कूल की धमाकेदार जीत


विवेकानंद स्कूल के बल्लेबाज ने ठोका तिहरा शतक

इससे पहले विवेकानंद स्कूल  (Vivekanand International School) की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 39 ओवरों में 761 रन ठोके थे. मीत मायरे ने तिहरा शतक ठोका. उन्होंने 134 गेंदों में नाबाद 338 रनों की पारी खेली. इस बल्लेबाज ने 56 चौके और 7 छक्के जड़े. बता दें इस मैच में चिल्ड्रन वेलफेयर स्कूल पर 156 रनों की पेनल्टी भी लगी थी. दरअसल टीम के गेंदबाज निर्धारित 45 ओवर 3 घंटे के समय में नहीं फेंक पाए.

रोहित शर्मा को अच्छा क्रिकेटर होने की वजह से मिला था विवेकानंद स्कूल में एडमिशन


बता दें विवेकानंद स्कूल (Vivekanand International School) में टीम इंडिया के उपकप्तान रोहित शर्मा पढ़ते थे. उन्होंने इसी स्कूल टीम से खेलते हुए क्रिकेट का ककहरा सीखा था. रोहित शर्मा एक गरीब परिवार से थे लेकिन अच्छे क्रिकेटर होने की वजह से उन्हें इस स्कूल में एडमिशन मिला था. आज रोहित शर्मा अपने बल्ले की धमक दिखा रहे हैं और उनके स्कूल का क्रिकेट लेवल भी काफी ऊपर दिखाई दे रहा है. रोहित शर्मा अपने स्कूल के इस कमाल को सुनेंगे तो उन्हें गर्व जरूर होगा.
Loading...

यह भी पढ़ें :  डे-नाइट टेस्ट: गुलाबी गेंद से हो रही है विराट कोहली को ये परेशानियां!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 12:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...