भारतीय बल्‍लेबाज की विस्‍फोटक बैटिंग, इस छोटे से देश ने तोड़ा टी20 क्रिकेट का 12 साल पुराना बड़ा रिकॉर्ड

News18Hindi
Updated: August 31, 2019, 6:15 AM IST
भारतीय बल्‍लेबाज की विस्‍फोटक बैटिंग, इस छोटे से देश ने तोड़ा टी20 क्रिकेट का 12 साल पुराना बड़ा रिकॉर्ड
Demo Pic

रोमानिया की तुर्की पर जीत के नायक भारतीय मूल के शिवकुमार पेरियालवर रहे जिन्‍होंने 40 गेंद में 105 रन उड़ाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2019, 6:15 AM IST
  • Share this:
अंतरराष्‍ट्रीय टी20 क्रिकेट (T20 Cricket) में यूरोप के एक छोटे से देश रोमानिया (Romania) ने ऐसा कारनामा कर दिया जो भारत, ऑस्‍ट्रेलिया और इंग्‍लैंड जैसे धुरंधर देश भी नहीं कर पाए. उसने गुरुवार को तुर्की को 173 रन से हराकर अंतरराष्‍ट्रीय टी20 मुकाबलों में सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया. रोमानिया ने श्रीलंका के 12 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ा. पहले खेलते हुए रोमानिया ने भारतीय मूल के बल्‍लेबाज शिवकुमार पेरियालवर (Shivaumar Perialwar) के तूफानी शतक की बदौलत 20 ओवर में 6 विकेट पर 226 रन का स्‍कोर खड़ा किया. इसके बाद उसके गेंदबाजों ने तुर्की(Turkey) को केवल 53 रन पर समेट दिया.

रोमानिया ने तोड़ा श्रीलंका का रिकॉर्ड
रोमानिया से पहले सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड श्रीलंका के नाम था जिसने 2007 में पहले टी20 वर्ल्‍ड कप के उद्घाटन मैच में केन्‍या को 172 रन से मात दी थी. रोमानिया के बल्‍लेबाज पेरियालवर ने 40 गेंद में 105 रन की नाबाद पारी खेली. 5वें नंबर पर बल्‍लेबाजी को आए इस बल्‍लेबाज ने अपनी पारी में 12 चौके और 6 छक्‍के लगाए. वह पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं. साथ ही रोमानिया के लिए टी20 क्रिकेट में शतक लगाने वाले पहले बल्‍लेबाज हैं. उनका जन्‍म तमिलनाडु के शिवकाशी शहर में हुआ था. उनका शहर पूरे देश में पटाखों के लिए मशहूर हैं.

romania cricket, turkey cricket, romania turkey cricket, biggest t20i win, highest margin win in t20i, shivakumar perialwar, रोमानिया, तुर्की, टी20 सबसे बड़ी जीत, श्रीलंका, शिवकुमार पेरियालवर
शिवकुमार पेरियालवर.


वीकेंड पर खेलते हुए नेशनल टीम में बनाई जगह 
अपने प्रदर्शन के बारे में पेरियालवर ने इंडियन एक्‍सप्रेस को बताया कि वह पहले केवल वीकेंड पर ही खेला करते थे. इस दौरान उनके शानदार प्रदर्शन के बूते उन्‍हें रोमानिया की नेशनल टीम में चुन लिया गया. उन्‍होंने बताया कि भारत में वे अंडर-15 और अंडर-22 तक क्रिकेट खेले थे. बीटेक की पढ़ाई पूरी होने के बाद 2015 में वे रोमानिया चले गए. यहां आने के बाद उन्‍होंने क्‍लब जॉइन कर लिया और खेलने लगे.

Loading...

उन्‍होंने बताया कि उन्‍हें शतक के बारे में कुछ नहीं पता था. आखिरी ओवरों में उनके टीम साथी उन्‍हें तेजी से रन बनाने को कह रहे थे और चौके-छक्‍के लगाने के लिए प्रेरित कर रहे थे. वे यूरोपियन क्रिकेट लीग में भी खेल चुके हैं.


रोमानिया टीम के कप्‍तान रमेश सतीशन भी भारतीय मूल के ही हैं. उनकी कप्‍तानी में टीम ने अभी तक दो मैच जीत लिए हैं और वे अंक तालिका में टॉप पर है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 31, 2019, 6:15 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...