2 साल पहले ही संन्यास लेने वाला था ये दिग्गज, 'दिल टूटने' पर किया खेलते रहने का फैसला!

WTC Final: रॉस टेलर 2 साल पहले लेने वाले थे संन्यास! (AFP)

WTC फाइनल से पहले न्यूजीलैंड के अनुभवी बल्लेबाज रॉस टेलर (Ross Taylor) ने खुलासा किया है कि वो आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 जीत जाते तो वो क्रिकेट को अलविदा कह देते लेकिन दिल टूटने के बाद उन्होंने खेलना जारी रखा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. न्यूजीलैंड के अनुभवी बल्लेबाज रॉस टेलर (Ross Taylor) वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए पूरी तरह तैयार हैं. लेकिन इस अहम मुकाबले से पहले टेलर ने दिलचस्प खुलासा किया है. टेलर ने बताया कि वो 2 साल पहले ही संन्यास लेने के बारे में सोच रहे थे लेकिन दिल टूटने की वजह से उन्होंने ऐसा नहीं किया. टेलर ने बताया कि अगर न्यूजीलैंड की टीम आईसीसी वर्ल्ड कप जीत जाती तो वो क्रिकेट को अलविदा कह देते लेकिन ऐसा हुआ नहीं और वर्ल्ड चैंपियन इंग्लैंड की टीम बन गई. हालांकि रॉस टेलर के पास अब टेस्ट के वर्ल्ड कप को जीतने का मौका है.

    बता दें भारत और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल 18 जून से साउथैंप्टन में खेला जाना है. रॉस टेलर इस मैच से ठीक पहले फॉर्म में आ गए हैं. टेलर ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट की पहली पारी में 80 रन बनाए थे. न्यूजीलैंड ने ये टेस्ट मैच 8 विकेट से जीत सीरीज भी अपने नाम की थी. अब रॉस टेलर से कीवी टीम को ऐसे ही प्रदर्शन की उम्मीद होगी. हालांकि टेलर का मानना है कि टीम इंडिया बेहद मजबूत टीम है और उसके बाद एक से बढ़कर एक बल्लेबाज और गेंदबाज हैं. वैसे सवाल ये है कि अगर न्यूजीलैंड की टीम टेस्ट चैंपियन बनती है तो क्या रॉस टेलर क्रिकेट को अलविदा कह देंगे?

    बीजे वॉटलिंग भी खेलेंगे आखिरी टेस्ट
    बता दें वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल न्यूजीलैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज बी जे वॉटलिंग का आखिरी मैच होगा. इस मुकाबले के बाद वो संन्यास लेंगे. वॉटलिंग का यह 75वां और आखिरी टेस्ट होगा. कमर की चोट के कारण इंग्लैंड के खिलाफ पिछले सप्ताह दूसरे टेस्ट से बाहर रहे वॉटलिंग ने इस अहम मैच के लिये टीम में वापसी की है . उन्होंने स्टफ डॉट कॉम डॉट न्यूजीलैंड से कहा ,'मुझे इस मैच का इंतजार है . यह रोचक होगा और मैं शानदार प्रदर्शन की कोशिश करूंगा . मैं उसी तरह से जाऊंगा जैसे बाकी टेस्ट के लिये जाते हैं . मेरा मकसद जीत का ही होगा .'

    वॉटलिंग ने 2009 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था . उन्होंने कहा कि वह खुशकिस्मत हैं कि इतने लंबे करियर में फिटनेस समस्यायें आड़े नहीं आई .उन्होने कहा ,'एक क्रिकेटर को छोटी मोटी चोट तो लगती रहती है . कुछ मौकों पर कमर के दर्द ने परेशान किया लेकिन समय के साथ इन चोटों से निपटना सीख जाते हैं . मैं खुशकिस्मत हूं कि कोई बड़ी चोट नहीं लगी .' उन्होंने कहा ,'न्यूजीलैंड के लिये खेलते हुए मैने अपने समय का पूरा लुत्फ उठाया . यह यादगार सफर रहा .' इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला में मिली जीत के बारे में उन्होंने कहा ,'इंग्लैंड को उसकी धरती पर हराना खास था . हम कोशिश करेंगे कि इस फॉर्म को इस मैच में भी बरकरार रखें .' (भाषा के इनपुट के साथ)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.