कोविड-19 से जंग, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर फ्रेंचाइजी जुटाएगी 45 करोड़ रुपये

आरसीबी फ्रेंचाइजी की पैरेंट कंपनी ने 45 करोड़ रुपये देने का फैसला किया है. (Photo- Twitter/RCB)

विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) फ्रेंचाइजी ने भी कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में योगदान का फैसला किया है और 45 करोड़ रुपये जुटाने का संकल्प लिया है. आरसीबी की पैरेंट कंपनी डिआजियो (Diageo) हर राज्य और केंद्र शासित प्रदेश के एक जिले में सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने का काम करेगी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. घातक कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर में देश में कई लोगों की जान चली गई. इसी के चलते आम लोगों के अलावा कुछ बड़ी हस्तियां, खिलाड़ी जनप्रतिनिधि और कई स्वयंसेवी संगठन मदद को आगे आए. अब रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) फ्रेंचाइजी ने भी 45 करोड़ रुपये जुटाने का संकल्प लिया है. आरसीबी की पैरेंट कंपनी डिआजियो (Diageo) ने देश के हर राज्य और केंद्र शासित प्रदेश के एक जिले में सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने के लिए मदद करने का वादा किया है.

    फ्रेंचाइजी मालिकों ने लंबे समय तक ऑक्सीजन क्षमता बनाने के लिए 21 जिलों के सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट भी लगाए हैं. इसके अलावा उन्होंने अन्य 15 शहरों में बेड की क्षमता बढ़ाने के लिए 16 बिस्तरों वाली मिनी-अस्पताल इकाइयां भी प्रदान की हैं. टीम के कप्तान विराट कोहली और उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा ने भी 11 करोड़ रुपये जुटाए थे.

    इसे भी पढ़ें, कोरोना की लड़ाई में बीसीसीआई भी आगे आया, 2000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर देगा

    डिआजियो इंडिया के प्रबंध निदेशक और सीईओ आनंद कृपालु ने कहा कि कंपनी इस कठिन समय में भारतीय नागरिकों के साथ खड़े होना चाहती है. उन्होंने यह भी कहा कि मुख्य रूप से हर राज्य और केंद्र शासित प्रदेश में अस्पताल के बिस्तर और ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर देने पर ध्यान केंद्रित है. उन्होंने कहा कि कंपनी सरकार के प्रयासों का समर्थन करना चाहती है.



    कंपनी ने इसकी जानकारी सोशल मीडिया पर भी दी है. इससे पहले बीसीसीआई (BCCI) भी मदद को हाथ बढ़ाते हुए देश में 10 लीटर के 2000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर देने की घोषणा की है. कई खिलाड़ी भी निजी तौर पर जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं तो कुछ ने संस्थाओं के साथ मिलकर सहायता की है.