एमएस धोनी के जिगरी दोस्‍त ने पूछा, मेरे करियर के साथ क्‍यों हुआ ऐसा, आज तक नहीं मिला जवाब

एमएस धोनी के जिगरी दोस्‍त ने पूछा, मेरे करियर के साथ क्‍यों हुआ ऐसा, आज तक नहीं मिला जवाब
एमएस धोनी मोहित शर्मा पर नाराज हो गए थे (फाइल फोटो)

जिगरी दोस्‍त ने कहा कि कप्‍तान बनने के बाद एमएस धोनी (MS Dhoni) के करियर का ग्राफ तो ऊपर चढ़ता गया, मगर उनके करियर का ग्राफ नीचे आता गया

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2020, 10:24 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारत को 2007 में पहला टी20 वर्ल्‍ड कप दिलाने में अहम भूमिका वाले आरपी सिंह (RP Singh) ने खुलासा किया है कि उनके पास इस बात का कोई जवाब नहीं था कि उनका करियर क्‍यों छोटा किया गया. भारत के पूर्व सलामी बल्‍लेबाज आकाश चोपड़ा के साथ बातचीत में आरपी सिंह ने भारतीय बल्‍लेबाज और विकेटकीपर एमएस धोनी (MS Dhoni) के साथ अपनी दोस्‍ती पर भी खुलकर बातचीत की. आरपी सिंह ने बताया कि उनकी और धोनी की मुलाकात भारत के लिए खेलने से पहले हुई थी. उन्‍होंने कहा कि वें दोनों काफी समय साथ में बिताते थे. इसके बाद धोनी कप्‍तान बन गए है और उनका ग्राफ बढ़ता ही गया और इनका नीचे आता गया. मगर इसके बावजूद उनकी दोस्‍ती बरकरार है. वे बातें करते हैं और साथ में घूमते हैं.

धोनी से भी पूछा करियर को लेकर सवाल
आरपी सिंह ने खुलासा किया कि उन्‍होंने धोनी से इस बारे में पूछा कि एक अच्‍छा क्रिकेटर बनने के लिए वे क्‍या करें. इस पर धोनी ने कहा कि आप कड़ी मेहनत कर रहे हैं, मगर ये भाग्‍य के बारे में हो सकता है. आरपी सिंह पहले टी20 वर्ल्‍ड कप में सबसे ज्‍यादा विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज थे. मगर इसके बावजूद वर्ल्‍ड कप के बाद वह सिर्फ तीन टी20 मैच ही खेल पाए. यहां तक कि टेस्‍ट और वनडे करियर भी बहुत शानदार नहीं रहा. उनका टेस्‍ट करियर 14 और वनडे करियर 58 मैचों का रहा था. जब आरपी सिंह से इस बारे में पूछा गया कि ऐसा क्‍या हुआ था कि उनके करियर में अचानक बदलाव आ गया तो उन्‍होंने कहा कि उनके पास इसका जवाब नहीं है.
उन्‍होंने कहा कि प्रदर्शन के हिसाब से वो टॉप पर थे, मगर फिर भी वह टेस्‍ट और वनडे में अपनी जगह पक्‍की नहीं कर पाए. आरपी सिंह ने कहा कि आईपीएल में भी अच्‍छा प्रदर्शन किया और उन्‍हें लगता है कि वह 3 या 4 सीजन सबसे ज्‍यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी थे. मगर उन्‍हें बाद में मैच खेलने को नहीं मिला, क्‍योंकि उन्‍हें लगता है कि शायद कप्‍तान को उन पर भरोसा नहीं था. या फिर उनका प्रदर्शन डाउन ग्रेड हो गया था.
आज तक चयनकर्ताओं ने नहीं दिया जवाब
34 साल के आरपी सिंह ने कहा कि चयनकर्ताओं ने भी उन्‍हें कभी जवाब नहीं दिया. जब भी वे पूछते थे कि तो वह सिर्फ इतना कह देते थे कि तुम मेहनत करो, तुम्‍हारा समय जरूर आएगा. हालांकि काफी इंतजार के बाद भी आरपी सिंह को मौका नहीं मिल पाया और फिर 2018 में उन्‍होंने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्‍यास ले लिया था.



कपिल देव ने कहा- भारत से क्रिकेट खेलने के लिए बैचेन पाकिस्‍तान पहले...

केएल राहुल की राह पर ये इंग्लिश गेंदबाज, मदद के लिए 3 चीजों की करेंगे नीलामी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज