• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • सचिन के सामने शर्म से झुक गया था इस दिग्गज पाकिस्तानी खिलाड़ी का सिर, कहा- माफ कर दो

सचिन के सामने शर्म से झुक गया था इस दिग्गज पाकिस्तानी खिलाड़ी का सिर, कहा- माफ कर दो

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से मिली जिम्मेदारी के बाद मुश्ताक ने कहा, 'पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करना सम्मान की बात है, मैं खुश हूं कि मुझे युवा क्रिकेटरों के साथ काम करने का मौका दिया गया है. मुझे पूरा भरोसा है कि मैं अपनी जानकारी और अनुभव युवा खिलाड़ियों को बांटने में सफल रहूंगा.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से मिली जिम्मेदारी के बाद मुश्ताक ने कहा, 'पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करना सम्मान की बात है, मैं खुश हूं कि मुझे युवा क्रिकेटरों के साथ काम करने का मौका दिया गया है. मुझे पूरा भरोसा है कि मैं अपनी जानकारी और अनुभव युवा खिलाड़ियों को बांटने में सफल रहूंगा.

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) सिर्फ बल्लेबाजी की वजह से नहीं बल्कि अपने व्यक्तित्व की वजह से भी महान क्रिकेटर माने जाते हैं, जानिए कैसे उनके एक जवाब ने दिग्गज पाकिस्तानी खिलाड़ी सकलैन मुश्ताक (Saqlain Mushtaq) को माफी मांगने पर मजबूर कर दिया था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के 47वें जन्मदिन पर दुनियाभर के दिग्गज क्रिकेटरों ने उन्हें मुबारकबाद दी, इन खिलाड़ियों की फेहरिस्त में पाकिस्तान के पूर्व ऑफ स्पिनर सकलैन मुश्ताक का नाम भी शामिल रहा. सकलैन मुश्ताक ने सचिन को जन्मदिन की बधाई दो ही साथ ही उन्होंने एक इंटरव्यू में एक किस्सा भी सुनाया. सकलैन ने बताया कि कैसे उन्होंने पहली बार सचिन तेंदुलकर को स्लेज करने की कोशिश की और फिर मास्टर ब्लास्टर के एक जवाब ने उनकी बोलती बंद कर दी थी.

    सचिन का जवाब, सकलैन शर्मसार!
    90 के दशक में सचिन और सकलैन (Saqlain Mushtaq) के बीच क्रिकेट के मैदान पर जबर्दस्त जंग होती थी. इसी तरह की एक लड़ाई कनाडा में खेले गए सहारा कप में हुई. उस सीरीज में सकलैन ने सोचा कि उन्हें सचिन को स्लेजिंग करना चाहिए. सकलैन ने बताया, 'मैं उस वक्त नया-नया टीम में आया था और मैंने सचिन को पहली बार स्लेज 1997 में किया.' सकलैन ने आगे कहा, 'सचिन मेरे पास आए और कहा मैंने कभी तुम्हारे साथ बदतमीजी नहीं की, तो तुम मेरे साथ ऐसा क्यों कर रहे हो? सचिन कि ये बात सुनकर मुझे काफी शर्म आई और मुझे समझ नहीं आया कि उन्हें क्या जवाब दूं.'

    सकलैन (Saqlain Mushtaq) ने आगे बताया, 'सचिन ने मुझे कहा कि मैं तुम्हें एक खिलाड़ी और इंसान के तौर पर काफी अच्छा समझता हूं. सचिन का ये जवाब सुनकर मैं कुछ नहीं बोल सका और मैच के बाद मैंने उनसे माफी मांगी. इसके बाद मैंने कभी सचिन को स्लेज नहीं किया. सचिन ने मेरी गेंदों पर काफी रन बनाए, लेकिन मेरे दिमाग में कभी उन्हें स्लेज करने का विचार नहीं आया.'

    सकलैन ने याद किया 1999 का चेन्नई टेस्ट
    सकलैन ने 1999 में खेला गया ऐतिहासिक चेन्नई टेस्ट को याद किया, जिसमें उन्होंने 10 विकेट लिए थे और पाकिस्तान ने बेहद ही रोमांचक मुकाबले में भारत को 12 रनों से हरा दिया था. सकलैन की धारदार गेंदबाजी की वजह से ही सचिन के 136 रन बनाने के बावजूद भारत वो टेस्ट मैच हार गया.

    सकलैन (Saqlain Mushtaq) ने चेन्नई टेस्ट को याद करते हुए कहा, '1999 में खेले गए चेन्नई टेस्ट में हमारे बीच कोई बातचीत नहीं हुई, बस गेंद और बल्ले का मुकाबला हुआ. हम दोनों ने अपने-अपने देश को जिताने की भरपूर कोशिश की. मैं खुद को भाग्यशाली मानता हूं कि सचिन के करियर की उस पारी के साथ मेरा नाम जुड़े हुआ है. अंतर सिर्फ इतना रहा कि उस दिन अल्लाह मेरे साथ था.'

    बता दें सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को सकलैन मुश्ताक ने चेन्नई टेस्ट की दोनों पारियों में आउट किया था. पहली पारी में सचिन खाता तक नहीं खोल सके थे. हालांकि दूसरी पारी में सचिन ने शतक जड़ा लेकिन भारतीय पारी लक्ष्य से 12 रन पहले ही थम गई. सकलैन ने सचिन की बल्लेबाजी की तारीफ करते हुए कहा कि वो एकलौते बल्लेबाज थे जो मेरी 'दूसरा' गेंद को बड़ी आसानी से पढ़ लेते थे. सचिन की आंखें बहुत तेज थी, वो गेंद को दूसरे बल्लेबाजों से पहले समझ लेते थे. सकलैन ने कहा कि राहुल द्रविड़ और मोहम्मद अजहरुद्दीन भी स्पिन को अच्छा खेलते थे.

    Happy Birthday Sachin:सचिन से ऐसे हुई थी धोनी, विराट कोहली की पहली मुलाकात

    कोरोना के खौफ के बीच रोज खतरों से खेल रही इस भारतीय क्रिकेटर की मां

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज