सचिन तेंदुलकर ने आज के ही दिन वनडे क्रिकेट में रचा था इतिहास, दोहरा शतक बनाने वाले बने थे पहले खिलाड़ी

वनडे क्रिकेट में अब भी सबसे ज्यादा शतक, रन और अर्धशतकों समेत कई रिकॉर्ड सचिन के नाम पर हैं. फाइल फोटो

Sachin Tendulkar Double century: क्रिकेट डायरी में बात आज सचिन के दोहरे शतक की. सचिन तेंदुलकर 2010 में 24 फरवरी के दिन ग्वालियर के मैदान पर इतिहास रचा था. उस समय सचिन का ये शतक उस समय आया था, जब उन पर हमेशा की तरह सवाल उठ रहे थे, लेकिन सचिन ने एक बार फिर से अपनी बातों नहीं, बल्कि अपने बल्ले से आलोचकों को ऐसा जवाब दिया था, जिसकी छाप हमेशा के लिए क्रिकेट इतिहास पर लग गई.

  • Share this:
    नई दिल्ली: विश्व में वन डे क्रिकेट की बात शुरू भले किसी भी क्रिकेटर से हो, लेकिन उसके पन्नों में सबसे ज्यादा जगह एक ही क्रिकेटर को मिलेगी, और वो हैं सचिन तेंदुलकर. उनके वनडे क्रिकेट के भले कुछ रिकॉर्ड कोई खिलाडी अपने नाम कर ले, लेकिन सचिन जैसी प्रसिद्धि किसी और को नसीब होना मुश्किल ही है. जब उन्हें क्रिकेट के भगवान की उपाधि से नवाजा गया तो कई लोगों ने आपत्ति ली, लेकिन 2010 में 24 फरवरी के दिन ग्वालियर के कैप्टन रूप सिंह स्टेडियम में जब इस खिलाडी ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए वनडे क्रिकेट में 200 रनों के दरवाजे पर पहली बार कदम रखा तो उनका बडे से बडा आलोचक भी उनकी तारीफ किए बिना नहीं रह सका.

    5 जनवरी 1971 को पहला वनडे मैच ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच मेलबोर्न में खेला गया. उसके बाद से क्रिकेट में कई दिग्गज खिलाडी आए, लेकिन पुरुषों के वनडे क्रिकेट में 200 के आंकडे पर पहुंचना उनकी किस्मत में नहीं था. कई खिलाडी इस नंबर के करीब तक पहुंचे, लेकिन 200 नंबर के इस ताले की चाबी शायद उनके पास नहीं थी. लेकिन इस इतिहास को रचने के लिए शायद कुदरत ने सचिन को चुना था. सचिन से पहले हालांकि 1997 में महिला क्रिकेटर बेलिंडा क्लार्क 229 रनों की पारी खेल चुकी थीं.

    36 साल की उम्र में सचिन ने बनाया दोहरा शतक
    सचिन ने ग्वालियर के मैदान पर 24 फरवरी 2010 को ये बेजोड पारी खेली. बडी बात ये है कि उन्होंने इस दोहरे शतक को 36 साल की उम्र में खेला. उन्होंने उस समय पारी खेली, जब हर बार की तरह उनके खेल और उम्र पर सवाल खडे हो रहे थे. लेकिन हमेशा की तरह सचिन ने अपनी बातों से नहीं अपने खेल से लेागों को जवाब दिया.

    147 बॉल में सचिन ने 200 रनों की पारी खेली. भारत ने इस मैच में 400 से ज्यादा स्कोर बनाया और 153 रनों से ये मैच जीता. इससे पहले वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन का रिकॉर्ड पाकिस्तानी बल्लेबाज सईद अनवर के नाम था. उन्होंने 194 रनों की पारी भारत के खिलाफ खेली थी.

    क्रिस गेल ने भी 5 साल बाद इसी दिन दोहरी सेंचुरी बनाई
    ये भी एक संयोग है कि सचिन तेंदुलकर ने वनडे क्रिकेट में पहली बार दोहरा शतक बनाया, उसके ठीक 5 साल बाद उसी दिन क्रिस गेल ने भी दोहरा शतक बनाया. उनके नाम पर सबसे तेजी से दोहरा शतक बनाने का रिकॉर्ड अब तक है. गेल ने 138 बॉल में 200 रन बनाए.

    तब से अब तक बन चुके हैं 8 दोहरे शतक, तीन तो रोहित के नाम
    सचिन ने 2010 में दोहरा शतक वनडे क्रिकेट में बनाया था. उसके बाद से 8 बार दोहरे शतक बन चुके हैं. इसमें से तीन बार तो रोहित शर्मा ही दोहरे शतक बना चुके हैं. इसके अलावा भारत के लिए वीरेंद्र सहवाग, वेस्ट इंडीज के क्रिस गेल, पाक के लिए फकर जमां, न्यूजीलैंड के लिए मार्टिन गप्टिल दोहरे शतक बना चुके हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.