सचिन तेंदुलकर के हमशक्ल की गई नौकरी, पूरे परिवार को हुआ कोरोना

सचिन तेंदुलकर के हमशक्ल की गई नौकरी, पूरे परिवार को हुआ कोरोना
सचिन के हमशक्ल को हुआ कोरोना

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के हमशक्ल बलवीर चंद (Balvir Chand) बहुत बड़े आर्थिक संकट में फंस गए हैं

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस ने लाखों लोगों की जिंदगी तो ली ही है, साथ में जो लोग बच गए उन्हें बहुत बड़ी आर्थिक चोट भी पहुंचाई है. करोड़ों लोगों ने अपनी नौकरी गंवा दी है और इसमें सचिन तेंदुलकर के हमशक्ल बलवीर चंद भी शामिल हैं. बलवीर चंद ने सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के हमशक्ल के तौर पर काफी नाम और शोहरत हासिल की है. लेकिन कोरोना वायरस महामारी ने उन्हें बहुत बड़े आर्थिक संकट में फंसा दिया है.

बलवीर चंद और उनके परिवार को हुआ कोरोना
मुंबई में रहने वाले बलवीर चंद (Balvir Chand) को कोरोना हो गया है, यही नहीं उनका पूरा परिवार भी इस महामारी की चपेट में आ गया है. बलवीर को कोरोना वायरस की वजह से अपनी नौकरी भी गंवानी पड़ी और वो मुंबई छोड़कर पंजाब के एक गांव में रह रहे हैं.
 
View this post on Instagram
 

Twins 🏏🇮🇳🏏

A post shared by Balvir Darshan Chand (@look_alike_sachin) on






बलवीर की नौकरी छूटी
बता दें कोरोना से पहले बलवीर चंद की जिंदगी एकदम पटरी पर थी. वो गोली वडा पाव फास्ट फूड चेन के ब्रांड एंबेसडर थे. इसके जरिए उनकी इतनी कमाई हो जाती थी कि वो वकरोली में किराए के घर पर आसानी से रह सकते थे लेकिन कोरोना के बाद उनका जीवन एक तरह से पटरी से ही उतर गया. बलवीर चंद को नौकरी से हटा दिया गया, हालांकि उन्हें ये आश्वासन दिया गया कि सबकुछ ठीक होते ही उन्हें दोबारा नौकरी दी जाएगी.

द्रविड़ ने तेंदुलकर को पछाड़कर पाया बड़ा मुकाम, जानें कोहली का हाल

धोनी को जन्‍मदिन पर मिलेगा बेहतरीन गिफ्ट! वेस्‍टइंडीज में हो रहा तैयार

बलवीर चंद ने हिंदुस्तान टाइम्स से खास बातचीत में कहा, 'मेरी कंपनी को लॉकडाउन की वजह से काफी नुकसान हुआ और उन्होंने अपने कई कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया. उन्होंने मुझे भी जाने के लिए कहा. हालांकि उन्होंने आश्वासन दिया कि वो हालात सुधरने पर मुझे दोबारा नौकरी देंगे. नौकरी जाने के बाद विक्रोली के घर का किराया देने में मुश्किल हुई. जब राज्यों के बीच यात्रा को मंजूरी मिली तो मैं अपनी पत्नी और तीन बच्चों के साथ अपने गांव रवाना हो गया. मुंबई से लुधियाना मैं पश्चिम एक्सप्रेस से पहुंचा. हमने यात्रा करते हुए पूरी सावधानी बरती लेकिन ट्रेन में कई लोग ऐसे थे जो इन बातों का पालन नहीं कर रहे थे. मेरा मानना है कि ऐसे मौके पर यात्रा करना सुरक्षित नहीं है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading