होम /न्यूज /खेल /

4 हजार दिहाड़ी मजदूरों के लिए 'मसीहा' बने सचिन तेंदुलकर, कोरोना वायरस के बीच बढ़ाया मदद का हाथ

4 हजार दिहाड़ी मजदूरों के लिए 'मसीहा' बने सचिन तेंदुलकर, कोरोना वायरस के बीच बढ़ाया मदद का हाथ

नई दिल्‍ली. क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर को द वॉल राहुल द्रविड़ से मात मिली है और इसी के साथ राहुल द्रविड़ पिछले 50 सालों में भारत के महान टेस्‍ट बल्‍लेबाज चुने गए. दरअसल विजडन इंडिया की तरफ से फेसबुक पर भारत के महान टेस्‍ट बल्‍लेबाज के लिए पोल करवाया गया था.

नई दिल्‍ली. क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर को द वॉल राहुल द्रविड़ से मात मिली है और इसी के साथ राहुल द्रविड़ पिछले 50 सालों में भारत के महान टेस्‍ट बल्‍लेबाज चुने गए. दरअसल विजडन इंडिया की तरफ से फेसबुक पर भारत के महान टेस्‍ट बल्‍लेबाज के लिए पोल करवाया गया था.

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) पहले ही पीएम फंड केयर और मुख्यमंत्री फंड केयर में दान कर चुके हैं

    नई दिल्ली. दिग्गज भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने कोविड-19 (Covid-19) महामारी से परेशानी का सामना कर रहे 4,000 गरीब लोगों की आर्थिक मदद की. मास्टर ब्लास्टर ने हालांकि मदद के तौर पर कितनी राशि दी है इसका पता नहीं चला. तेंदुलकर ने यह दान मुंबई की गैर सरकारी संगठन ‘हाई5’ (HI5) को दिया. तेंदुलकर ने ट्वीट किया, ‘दैनिक वेतन प्राप्त करने वाले परिवारों के समर्थन में ‘हाई5’के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं.’ इस संस्था ने भी ट्वीट कर जरूरमंदों की मदद के लिए तेंदुलकर का आभार जताया.

    उन्होंने तेंदुलकर को टैग करते हुए ट्वीट किया, ‘शुक्रिया तेंदुलकर, आपके इस दान से हम कोविड-19 के कारण परेशानी का सामना कर रहे 4,000 गरीब लोगों की मदद कर पायेंगे. इसमें बीएमसी (बृहन्मुंबई नगर निगम) के स्कूली छात्र भी शामिल है.’



    तेंदुलकर इससे पहले प्रधानमंत्री राहत कोष और मुख्यमंत्री राहत कोष में 25-25 लाख दान दे चुके है. . कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ने के लिए भारत के महान बल्‍लेबाज सचिन तेंदुलकर पहले ही 50 लाख रुपये का दान में दिए थे. कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई के लिए सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने अब एक महीने में 5 हजार लोगों को खाना खिलाने का फैसला किया था.

    कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सचिन ने दी थी सलाह
    सचिन ने कहा, 'कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ सभी देशों को मिलकर लड़ाई लड़नी होगी. अगर आप क्रिकेट की भाषा में कहें तो जैसे सीमित ओवर प्रारूप में व्यक्तिगत प्रदर्शन मदद कर सकता है, वैसे ही टेस्ट क्रिकेट पूरी तरह साझेदारी और टीमवर्क पर आधारित है. टेस्ट क्रिकेट वापसी के बारे में है. अगर आपने पहला अवसर गंवा दिया तो वहां हमेशा दूसरा मौका होता है. हमें इस लड़ाई को सत्र दर सत्र के हिसाब से लड़ना होगा.'

    महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यो में शामिल
    महाराष्ट्र कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में से हैं. अब तक महाराष्ट्र में 19 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं जिसमें से 731 लोगों की मौत हो चुकी हैं. वहीं देश कि बात करें तो अब लगभग 60 हजार लोग इसकी चपेट में हैं जिसमें से लगभग दो हजार लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

    कोरोना वायरस के कारण टेंट में रहने को मजबूर है यह क्रिकेटर, कहा- इस बीमारी ने सब तबाह कर दिया

    लॉकडाउन के बावजूद पाकिस्तान के खिलाड़ियों ने खेला क्रिकेट, किया चाइनीज ऐप का इस्तेमाल!undefined

    Tags: Cricket news, Sachin tendulkar, Sports news

    अगली ख़बर