• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • फिक्सिंग के आरोपों बीच आखिर क्‍यों सचिन तेंदुलकर ने छोड़ी टीम इंडिया की कप्‍तानी, सामने आई वजह

फिक्सिंग के आरोपों बीच आखिर क्‍यों सचिन तेंदुलकर ने छोड़ी टीम इंडिया की कप्‍तानी, सामने आई वजह

सचिन को रमाकांत देसाई ने कप्तान बनाया था

सचिन को रमाकांत देसाई ने कप्तान बनाया था

साल 2000 में हुए फिक्सिंग कांड के बाद सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने कप्तानी छोड़ दी थी

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत के दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने बल्लेबाजी में कई बड़े रिकॉर्ड कायम किए है. वह शतकों का शतक लगाने वाले इकलौते बल्लेबाज हैं वहीं उन्होंने टेस्ट और वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाए हैं. हालांकि जब बात कप्तानी की आई तो सचिन यहां अपनी बल्लेबाजी की सफलता दोहरा नहीं पाए. सचिन  (Sachin Tendulkar को टीम की कप्तानी दी गई थी लेकिन कुछ समय बाद वह इस पद से हट गए थे.  उस समय टीम के सेलेक्टर रहे चंदू बोर्डे ने बताया कि आखिरी क्या कारण था कि सचिन ने कप्तानी छोड़ दी थी.

    बल्लेबाजी पर ध्यान देना चाहते थे सचिन
    हाल में टीम इंडिया के चीफ सिलेक्टर रहे चंदू बोर्डे ने बताया कि सचिन ने सेलेक्टर्स के पास जाकर कहा था कि वह कप्तानी जारी रखना वहीं चाहते. स्पोर्ट्सकीड़ा को दिए बयान में उन्होंने कहा, ', अगर आपको याद हो तो हमने उन्हें कप्तान के तौर पर ऑस्ट्रेलिया (Australia) भेजा था. उस दौरे पर सचिन (Sachin Tendulkar) ने कप्तानी की लेकिन वहां टीम की कमान संभालने के बाद जब वह लौटकर आए तो वह कप्तानी नहीं करना चाहते थे. उन्होंने कहा था, 'मैं अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान देना चाहता हूं. मैंने उनसे कहा था कि आप कुछ लंबे समय के लिए कप्तानी करें क्योंकि हमें नए कप्तान को ढूंढ़ना होगा.' बोर्डे के मुताबिक सचिन अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान देना चाहते थे.

    सचिन ने भारत के लिए 73 वनडे मैच और 25 टेस्ट मैचों में कप्तानी की, जिसमें भारत ने 23 वनडे इंटरनैशनल और चार टेस्ट मैच उनकी कप्तानी में जीते. उन्होंने कहा, 'सचिन ने कहा कि वो अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान नहीं दे पा रहे हैं और टीम के लिए वैसा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं, जैसा वो खेलना चाहते हैं. अंत में हमने गांगुली को कप्तान चुना.'

    750 विकेट लेने के बावजूद नहीं मिला कभी टीम इंडिया में मौका, बिशन सिंह बेदी ने कहा- वो बेहतर थे, मगर मैं लकी रहा

    कोच मदनलाल भी कर चुके हैं खुलासा
    सचिन की कप्तानी के दौरान मदनलाल 1996 और 97 में भारतीय क्रिकेट टीम के कोच थे. उन्होंने भी यह माना था सचिन खुद के प्रदर्शन को लेकर ज्यादा सजग थे और इसी वजह से वह सफल कप्तान नहीं बन पाए. मदनलाल ने स्पोटर्सकीड़ा के साथ फेसबुक लाइव में कहा, मैं इस बात से सहमत नहीं हूं कि वह अच्छे कप्तान नहीं थे, लेकिन वह अपने प्रदर्शन को लेकर खुद में इतना फोकस थे कि वह टीम का ख्याल नहीं रख पा रहे थे.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज