• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • दो साल बाद अंपायर ने किया सैंडपेपर कांड पर बड़ा खुलासा, जानिए क्या कहा

दो साल बाद अंपायर ने किया सैंडपेपर कांड पर बड़ा खुलासा, जानिए क्या कहा

साल 2018 में हुए बॉल टेम्परिंग कांड ने क्रिकेट जगत को हिलाकर रख दिया था.

साल 2018 में हुए बॉल टेम्परिंग कांड ने क्रिकेट जगत को हिलाकर रख दिया था.

बॉल टेम्परिंग (Ball Tempering) कांड में आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीव स्मिथ (Steve Smith) और डेविड वॉर्नर (David Warner) पर एक साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था.

  • Share this:
    लंदन. दो साल पहले साउथ अफ्रीका और आस्ट्रेलिया (South Africa vs Australia) के बीच खेले गए टेस्ट मैच के दौरान हुए बॉल टेम्परिंग (Ball Tempering) विवाद ने पूरे क्रिकेट जगत को हिलाकर रख दिया था. आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कैमरून बैनक्राफ्ट (Cameron Bancroft) अपनी पैंट की जेब से गेंद पर सैंडपेपर (Sandpaper) रगड़ते देखे गए थे, जिसकी जिम्मेदारी स्टीव स्मिथ (Steve Smith) और डेविड वॉर्नर (David Warner) ने भी ली थी. इसके बाद स्मिथ और वॉर्नर पर एक साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया था. वहीं स्मिथ पर दो साल के लिए आस्ट्रेलिया की कप्तानी न करने का भी बैन लगाया गया था. अब उस मैच में टीवी अंपायर रहे इयान गाउल्ड (Ian Gould) ने इस पूरे घटनाक्रम पर एक और खुलासा किया है.

    गेंद पर सैंडपेपर का प्रभाव नजर नहीं आ रहा था
    अंपायर इयान गाउल्ड (Ian Gould) ने कहा कि उन्होंने टीवी पर जो कुछ देखा उससे उन्हें अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हुआ लेकिन कहा कि यह खेल विशेषकर आस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिये अच्छा हुआ. उन्होंने कहा, ‘जब डायरेक्टर ने कहा वह अपनी पतलून के आगे वाले हिस्से में कुछ रख रहा है तो मैं सतर्क हो गया क्योंकि वह अच्छी बात नहीं थी. निश्चित तौर पर जो कुछ भी हुआ वह क्रिकेट विशेषकर आस्ट्रेलियाई क्रिकेट की बेहतरी के लिए अच्छा हुआ.’ गाउल्ड ने कहा कि उनके पास अब भी वह गेंद है जो न्यूलैंड्स टेस्ट में उपयोग की गई थी. ‘अगर आप गेंद को देखोगे तो आपको यह पूरा प्रकरण गलत लगेगा क्योंकि गेंद पर सैंडपेपर का प्रभाव नजर नहीं आ रहा था.’

    इयान गाउल्ड ने ही मैदानों अंपायरों को दी थी जानकारी
    आईसीसी एलीट पैनल के पूर्व अंपायर और 2018 के बहुचर्चित केपटाउन टेस्ट के टीवी अंपायर इयान गाउल्ड (Ian Gould) ने पिछले साल विश्व कप के बाद संन्यास ले लिया था. गाउल्ड ने ही टीवी पर देखने के बाद मैदानी अंपायरों को बताया था कि कैमरून बैनक्राफ्ट अपनी पतलून के अगले वाले हिस्से में सैंडपेपर रख रहे हैं. उन्होंने अपनी आत्मकथा ‘गनर माइ लाइफ इन क्रिकेट’ के प्रचार के तहत ‘डेली टेलीग्राफ’ से कहा, ‘अगर आप पीछे मुड़कर देखो तो आस्ट्रेलिया दो साल और संभवत: तीन साल पहले ही नियंत्रण से बाहर चला गया था, लेकिन इस (गेंद से छेड़छाड़) संदर्भ में नहीं. उनका व्यवहार बेहद औसत इंसान के जैसा था.’ इस मैच के बाद स्मिथ और वॉर्नर के अलावा बैनक्राफ्ट पर भी नौ महीने का प्रतिबंध लगाया गया था. इसके बाद ही आस्ट्रेलियाई क्रिकेट की सांस्कृतिक समीक्षा शुरू हुई थी.

    मुझे विश्वास नहीं था कि इतनी कड़ी प्रतिक्रिया मिलेगी
    पूर्व अंपायर इयान गाउल्ड (Ian Gould) ने कहा, ‘मुझे पता नहीं था कि इसके क्या परिणाम निकलेंगे. जब मुझे इस बारे में पता चला तो मुझे विश्वास नहीं था कि आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री भी इन तीनों खिलाड़ियों को लेकर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया देंगे. मैं केवल यही सोच रहा था कि हे ईश्वर कि मैं कैसे ज्यादा शोर शराबा किए बिना खिलाड़ी के पास से सैंडपेपर बाहर करवा सकूं.’ गेंद से छेड़छाड़ आईसीसी आचार संहिता के तहत लेवल दो अपराध की श्रेणी में आता था लेकिन इस घटना के बाद इसे लेवल तीन श्रेणी में रख दिया गया जिसके लिए छह टेस्ट या 12 वनडे तक का प्रतिबंध लग सकता है.

    शोएब अख्तर ने भारत से मांगी मदद, कहा-ये काम किया तो पाकिस्तान हमेशा याद रखेगा

    रमीज राजा ने दी रिटायरमेंट की सलाह, ये दिग्गज बोला-तीनों साथ संन्यास लेते हैं

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज