बॉल टेंपरिंग मामले में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को डिविलियर्स ने लगाई लताड़, कहा-उनकी बातें बकवास है

कैमरन बैनक्रॉफ्ट द्वारा लगाए गए आरोपों पर ऑस्ट्रेलिया के चार गेंदबाजों ने बयान जारी कर सफाई दी है. (Cricket Australia Twitter)

कैमरन बैनक्रॉफ्ट द्वारा लगाए गए आरोपों पर ऑस्ट्रेलिया के चार गेंदबाजों ने बयान जारी कर सफाई दी है. (Cricket Australia Twitter)

सैंडपेपर गेट स्कैंडल में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज कैमरन बैनक्रॉफ्ट के खुलासे पर कंगारू गेंदबाजों का कहना है कि उन्हें इस मामले की जानकारी नहीं थी. हालांकि उस मैच में कमेंटेटर की भूमिका निभा रहे डिविलियर्स ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के बयान को बकवास बताया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाच कैमरन बैनक्रॉफ्ट के एक इंटरव्यू के बाद तीन साल पुराना सैंडपेपर गेट स्कैंडल दोबारा सुर्खियों में हैं. ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने दावा किया था कि गेंदबाजों को गेंद से छेड़छाड़ की जानकारी हो सकती थी. हालांकि पैट कमिंस, मिचेल स्टार्क, जोश हेजलवुड और नाथन लायन की गेंदबाजी चौकड़ी ने एक बयान जारी कर खुद को इस मामले से अंजान बताया. लेकिन दक्षिण अफ्रीका के पूर्व गेंदबाज फैनी डिविलियर्स का मानना है कि पूरी टीम को इस योजना के बारे में पता होगा. फैनी उस मैच में कमेंटेटर की भूमिका निभा रहे थे और उन्होंने टीवी क्रू को गेंद से छेड़छाड़ मामले में सतर्क किया था. इसके बाद बैनक्रॉफ्ट को गेंद पर सैंडपेपर रगड़ते हुए कैमरे पर पकड़ा गया.

डिविलियर्स बोले-पूरी टीम को पता होगा

हालांकि ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने अपने बयान में कहा कि हमें न्यूलैंड्स टेस्ट के दौरान हुई गेंद से छेड़छाड़ के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. हमें नहीं पता था कि गेंद की स्थिति को बदलने के लिए एक चीज को मैदान पर ले जाया गया था. हमने भी स्टेडियम में लगी स्क्रीन पर ही इससे जुड़ी तस्वीरें देखी थीं. फैनी डिविलियर्स ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा, "ऐसा हो ही नहीं सकता कि ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को पता ना हो कि गेंद के साथ क्या चल रहा है, क्योंकि आप वह व्यक्ति हैं जो इसकी जांच करते हैं, आप वह व्यक्ति हैं जो इसे देख रहे हैं, आप वह व्यक्ति हैं जो इसे साफ कर रहे हैं, आप वह व्यक्ति हैं जो गेंदबाजी करते हैं, तो यह सब बिल्कुल बकवास है."

डिविलियर्स ने आगे कहा, "मुझे लगता है कि शुरू से ही यह स्पष्ट था कि वे जानते थे. और शुरुआत से ही ऑस्ट्रेलियाई प्रबंधन ने इसे ठीक से नहीं संभाला. उन्हें इसे अलग तरह से संभालना चाहिए था और उन्होंने सिर्फ दो (तीन वास्तव में) लोगों को अपराधी बनाकर सब कुछ कवर करने की कोशिश की. यह एक संयुक्त प्रयास था... कोच जानता था, सिस्टम में हर कोई जानता है, क्योंकि आप इन चीजों को पहले टीम में नहीं छिपाते हैं और दूसरी बात यह है कि एक गेंदबाज के लिए यह नहीं जानना असंभव है क्योंकि वह गेंद में अंतर देख सकता है.”
डिविलियर्स घटना को याद करते हुए कहते हैं, 'गेंद बंजर विकेट पर जल्द ही रिवर्स स्विंग लेने लगी थी. यदि विकेट पर घास हो तो गेंद देर से रिवर्स होती है यानि 40वें-50वें ओवर में. इस पिच पर घास थी और आपको 20 ओवर के बाद गेंद रिवर्स होने की उम्मीद नहीं थी. यह दक्षिण अफ्रीका में नहीं होता.'

यह भी पढ़ें:

कुलदीप यादव फंसे मुश्किल में, लॉन में कोरोना वैक्सीन लेने पर डीएम ने बिठाई जांच



एशेज सीरीज 8 दिसंबर से, 26 साल बाद फाइनल मुकाबला सिडनी की जगह पर्थ में

हालिया घटनाक्रम पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का कहना है कि वह पूरे मामले की जांच के लिए तैयार है. इस पर डिविलियर्स कहते हैं, "मुझे नहीं लगता कि इसे दोबारा खोलना चाहिए. मुझे लगता है कि लोगों को चेतावनी मिली, दुनिया भर में हर किसी को इसके माध्यम से एक उचित चेतावनी मिली. मुझे नहीं लगता कि यह खिलाड़ियों के लिए उचित है, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई प्रबंधन ने इसे सही तरीके से नहीं संभाला. उन्हें पता था लेकिन उनके फैसले से दो (तीन) खिलाड़ी इसका खामियाजा भुगतने वाले हैं."

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज