अजिंक्य रहाणे की बल्लेबाजी से मांजरेकर नाखुश, कहा- एक बल्लेबाज के तौर पर वो असुरक्षित दिख रहे हैं

अजिंक्य रहाणे पिछली 11 पारियों में सिर्फ एक बार पचास रन का आंकड़ा पार कर पाए गए हैं. ( PIC:AP)

अजिंक्य रहाणे पिछली 11 पारियों में सिर्फ एक बार पचास रन का आंकड़ा पार कर पाए गए हैं. ( PIC:AP)

पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) भी अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) की बल्लेबाजी से खुश नहीं हैं. उन्होंने कहा कि इन दिनों रहाणे की बल्लेबाजी टीम को वो सुरक्षा नहीं देती है, जिसकी उम्मीद टीम उनसे करती है.

  • Share this:
नई दिल्ली. पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर(Sanjay Manjrekar) भी अजिंक्य रहाणे(Ajinkya Rahane) की बल्लेबाजी से खुश नहीं हैं. उन्होंने कहा कि इन दिनों रहाणे की बल्लेबाजी टीम को वो सुरक्षा नहीं देती है, जिसकी उम्मीद टीम उनसे करती है. रहाणे इंग्लैंड के खिलाफ अहमदाबाद टेस्ट की पहली पारी में 27 रन बनाकर आउट हो गए थे.

मांजरेकर ने ईएसपीएन क्रिकइंफो से बातचीत में कहा कि रहाणे में आत्मविश्वास की कमी नजर आ रही है. हाल के दिनों में मैं जब भी उन्हें बल्लेबाजी करते हुए देखता हूं तो मुझे ये नजर आता कि एक बल्लेबाज के तौर पर उनका आत्मविश्वास कमजोर है और वो खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं. पिछले कुछ समय से उनकी बल्लेबाजी में ये गड़बड़ नजर आ रही है.

रहाणे में आत्मविश्वास की कमी दिख रही: संजय मांजरेकर

इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा कि इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट में रहाणे आक्रामक सोच के साथ बल्लेबाजी करने उतरे थे. वो पिछले तीन-चार सालों से इसी अंदाज में बल्लेबाजी कर रहे हैं. कई बार ऐसा हुआ है, जब उन्होंने ये सभी शॉट खेले हैं. हालांकि, अहमदाबाद टेस्ट के दूसरे दिन उन्होंने कई श़ॉट्स ऐसे खेले जिसमें वो पूरी तरह नियंत्रण में नजर नहीं आए. ये बात सही है कि उन्होंने 27 रन तेजी से बनाए. लेकिन ड्रेसिंग रूम में बैठेकर उनकी बल्लेबाजी देख रहे खिलाड़ियों को उनकी इस पारी से आत्मविश्वास नहीं मिला होगा.
रहाणे ने पिछली 11 पारियों में एक बार अर्धशतक लगाया

रहाणे पहली पारी में 45 गेंद पर 27 रन बनाकर आउट हुए थे. उन्हें जेम्स एंडरसन ने अपनी बाहर जाती गेंद पर सेकेंड स्लिप में खड़े बेन स्टोक्स के हाथों कैच करवाया. पिछले साल ऑस्ट्रेलिया दौरे के मेलबर्न टेस्ट में 112 रन की मैच जिताने वाली पारी खेलने के बाद से ही रहाणे का बल्ला खामोश है. वो बड़ी पारी नहीं खेल पाए. पिछली 11 पारियों में वो सिर्फ एक बार पचास रन का आंकड़ा पार कर पाए गए हैं. इस दौरान उन्होंने 27*, 22, 4, 37, 24, 1, 0, 67, 10, 7 और 27 रन बनाए हैं. इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में भी रहाणे बल्ले से नाकाम रहे थे. उन्होंने पहली पारी में 1 और दूसरी पारी में 0 रन बनाए थे. तब भी मांजरेकर ने ट्वीट कर रहाणे पर तंज कसा था. तब उन्होंने लिखा था कि मेरी दिक्कत कप्तान रहाणे से ये है कि वो बल्लेबाज रहाणे के तौर पर अच्छा नहीं कर रहे हैं. मेलबर्न में सेंचुरी के बाद रहाणे के स्कोर रहे हैं 27*, 22, 4, 37, 24, 1 और 0. शतक के बाद बड़ा खिलाड़ी अपनी फॉर्म को आगे ले जाता है और टीम के आउट ऑफ फॉर्म वाले खिलाड़ियों का भार उठाता है.

रहाणे वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप में एक हजार रन पूरे कर चुके हैं. वे ऐसा करने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज भी हैं. उन्होंने डब्ल्यूटीसी के तहत 17 टेस्ट में 1095 रन बनाए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज