संजय मांजरेकर से अब भी नाराज है बीसीसीआई, आईपीएल कमेंट्री पैनल से की छुट्टी

संजय मांजरेकर से अब भी नाराज है बीसीसीआई, आईपीएल कमेंट्री पैनल से की छुट्टी
संजय मांजरेकर से नाराज है बीसीसीआई

संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) ने जुलाई में बीसीसीआई (BCCI) की अपेक्स काउंसिल को ईमेल लिखकर अपने बयानों के लिए माफी मांगी थी

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 4, 2020, 11:53 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत के पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर (Sanjay Majrekar) से बीसीसीआई (BCCI) पिछले कुछ समय से नाराज चल रही है. यही कारण था कि मार्च में साउथ अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ होने वाली घरेलू सीरीज में मांजरेकर को कमेंट्री पैनल हटा दिया गया था. इसके बाद मांजरेकर ने बीसीसीआई (BCCI) से माफी मांगी थी. हालांकि लगता नहीं कि बीसीसीआई मांजरेकर को फिर से मौका देना चाहती है. यही कारण है कि उन्हें 19 सितंबर से होने वाले आईपीएल (IPL) के कमेंट्री पैनल से हटा दिया गया.

आईपीएल कमेंट्री पैनल में शामिल नहीं है संजय मांजरेकर
बीसीसीआई (BCCI) ने आईपीएल के सात कमेंटेटर का पैनल चुना है. इस पैनल में सुनील गावस्कर, एल शिवारामकृष्ण, मुरली कार्तिक, दीप दासगुप्ता, रोहन गावस्कर, हर्षा भोगले और अंजुम चोपड़ा शामिल है. यह पहला मौका होगा जब मांजरेकर आईपीएल के कमेंट्री पैनल में नहीं दिखेंगे. वह साल 2008 से हर बार आईपीएल की कमेंट्री पैनल का हिस्सा रहे हैं. खबरों के मुताबिक बीसीसीआई अब भी संजय मांजरेकर से नाराज हैं.

मांजरेकर ने मांगी थी माफी
मांजरेकर ने बीसीसीआई (BCCI) की अपेक्स काउंसिल को इमेल लिखकर अपील की थी कि 19 सितंबर से शुरू होने वाले आईपीएल कमेंट्री पैनल के लिए वह उनके नाम पर भी विचार किया जाए. उन्होंने मेल में लिखा था, 'मैंने यह इमेल एक कमेंटेटर के तौर पर अपनी पॉजीशन के बारे में बात करने के लिए लिखा है. मैंने पहले ही कमेंटेटर की जगह के लिए आवेदन कर दिया है.  मुझे आपकी गाइडलाइंस का पालन करने में खुशी होगी क्योंकि हम सभी वह कर रहे हैं जो प्रोडक्शन के लिए अच्छा हो. पिछली बार शायद इस मुद्दे पर कुछ बातें साफ नहीं हुई थी.'



IPL 2020: चेन्नई सुपर किंग्स की दूसरी कोरोना रिपोर्ट आई सामने, जाने क्या रहा नतीजा

T20 Blast: समरसेट के बल्लेबाजों ने एक ओवर में बना डाले 29 रन, तूफानी बल्लेबाजी देखकर हैरान गए विरोधी

पिछले साल विश्व कप के दौरान उन्होंने रवींद्र जडेजा को टुकड़ों में प्रदर्शन करना वाला खिलाड़ी कहा था और सौराष्ट्र के इस ऑल राउंडर को यह बात पसंद नहीं आई थी, जिन्होंने भी मुंबई के इस क्रिकेटर की काबिलियत पर सवाल उठाए थे.' मांजरेकर ने बाद में स्वीकार किया था कि उन्होंने जडेजा पर गैर जरूरी टिप्पणी की. उन्होंने ‘पिंक टेस्ट’ के दौरान भी साथी कमेंटेटर हर्षा भोगले की काबिलियत पर सवाल उठाए, क्योंकि वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में नहीं खेले थे जिसके बाद भी उन्हें माफी मांगनी पड़ी थी.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज