लाइव टीवी

संजू सैमसन ने की अपने आलोचकों की बोलती बंद, बताया-आखिर क्यों उनके लिए जरूरी नहीं है लगातार रन बनाना?

News18Hindi
Updated: November 28, 2019, 5:53 PM IST
संजू सैमसन ने की अपने आलोचकों की बोलती बंद, बताया-आखिर क्यों उनके लिए जरूरी नहीं है लगातार रन बनाना?
संजू सैमसन बांग्लादेश के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए भी टीम में शामिल थे, लेकिन उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला. (फाइल फोटो)

संजू सैमसन (Sanju Samson) ने 2015 में इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा था और वह अभी तक सिर्फ एक ही बार टीम इंडिया की जर्सी पहन पाए

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2019, 5:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली.  पिछले दो महीने से युवा भारतीय विकेटकीपर संजू सैमसन (Sanju Samson) सुर्खियों में छाए हुए हैं. पहले विजय हजारे ट्रॉफी में गोवा के खिलाफ दोहरा शतक जड़ा. इसके बाद बांग्लादेश के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए टीम इंडिया के स्‍क्वॉड में शामिल किया गया. हालांकि वेस्टइंडीज के खिलाफ टी20 सीरीज से पहले उन्हें एक भी मैच में मौका दिए बिना ही टीम से बाहर कर दिया गया. जिस वजह से चयनकर्ताओं की काफी आलोचनाएं भी हुई थी. हालांकि शिखर धवन के चोटिल होने के कारण उन्हें वापस से स्‍क्वॉड में शामिल कर लिया.
इंटरनेशनल क्रिकेट में 2015 में टी20 मैच से कदम रखने वाले 25 साल के संजू सैमसन घरेलू टूर्नामेंट में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे  है, लेकिन इंटरनेशनल डेब्यू के बाद उन्हें कभी टीम में मौका नहीं मिल पाया. हालांकि पूर्व भारतीय क्रिकेटर राहुल द्रविड़ तो उनकी बल्लेबाजी की तारीफ करते रहे हैं, लेकिन आलोचकों ने उनके प्रदर्शन में निरंतरता की कमी बताई. जिसका जवाब संजू सैमसन (Sanju Samson)  ने अब जाकर दे ही दिया. संजू सैमसन ने एक इंटरव्यू में इन मुद्दों पर खुलकर बात की.

cricket news, sports news, harbhajan singh, sanju samson, indian cricket team, team india, bcci, sourav ganguly, क्रिकेट न्यूज, हरभजन सिंह, संजू सैमसन, इंडियन क्रिकेट टीम, बीसीसीआई, चयन समिति, सिलेक्शन पैनल, सौरव गांगुली,
संजू सैमसन ने हाल ही में खत्म हुई विजय हजारे ट्रॉफी में बेहतरीन दोहरा शतक जड़ा था. (FILE PHOTO)


अलग किस्म के हैं बल्लेबाज

इंडिया टुडे की खबर के अनुसार संजू सैमसन ने कहा कि टीम की जीत में अपना योगदान देना उनके लिए सबसे अहम है. केरल के इस‌ खिलाड़ी ने कहा कि उन्होंने निरंतरता के बारे में कभी नहीं सोचा. ये एक मुद्दा है, लेकिन उन्होंने जो समझा, वो ये है कि वह थोड़े अलग तरह के खिलाड़ी हैं. उन्हें लगता है कि वह गेंदबाजों पर हावी हो सकते हैं. उन्होंने कहा कि अगर वह निरंतरता पर ध्यान देते हैं तो वह अपनी स्टाइल खो सकते हैं.संजू सैमसन  (Sanju Samson)  ने यह भी साफ कर दिया है कि निरंतरता लाने के लिए वह अपनी शैली में बदलाव नहीं कर सकते. वह चीजों को सरल रखना चाहते हैं.

t20 world cup, team india, virat kohli, Shubman Gill, Dinesh Karthik, Shreyas Gopal, टी20 वर्ल्ड कप, शुभमन गिल, ईशान किशन, दिनेश कार्तिक
संजू सैमसन पहली बार 19 साल की उम्र में टीम में शामिल हुए थे


पांच में से एक या दो पारियों में बड़ा स्कोर करेंगे
Loading...

भारत के इस युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा कि अगर उन्हें पांच पारियां मिलती है तो वह एक या दो में बड़ा स्‍‌कोर करना चाहेंगे और अपनी टीम के लिए मैच जीतना चाहेंगे. उन्होंने यह भी साफ कर दिया है कि उनकी निरंतरता टीम को मैच नहीं जिता सकती. टीम को मैच जिताने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है उनका लाजवाब पारी खेलना. संजू ने कहा कि यह टीम मैनेजमेंट पर निर्भर करेगा कि वे उनका उपयोग कैसे करते हैं. अगर वह उनसे विकेटकीपिंग करने के लिए कहेंगे तो वे वो भी करेंगे. नहीं तो वह मैच के दौरान फील्डिंग करेंगे. उन्होंने कहा कि टीम उनके लिए प्राथमिकता है. वह जो करने के लिए कहेगी, वे वहीं करेंगे. विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुआई में टीम इंडिया वेस्टइंडीज के खिलाफ 6 दिसंबर से तीन टी20 मैचों की सीरीज खेलने उतरेगी. लेकिन  इस सीरीज में यह देखना अहम होगा कि क्या संजू सैमसन (Sanju Samson) को खुद को साबित करने के लिए मौका मिलेगा या नहीं.

पाकिस्तान के पूर्व कोच मिकी आर्थर अब उठाएंगे इस टीम की जिम्मेदारी

उमेश यादव का बड़ा खुलासा, टीम से बाहर होने पर इन सवालों का करना पड़ता है सामना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 28, 2019, 5:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...