Coronavirus के बीच भारत के इस विस्फोटक बल्लेबाज ने निकाली क्रिकेट खेलने की राह, पिता करा रहे प्रैक्टिस

Coronavirus के बीच भारत के इस विस्फोटक बल्लेबाज ने निकाली क्रिकेट खेलने की राह, पिता करा रहे प्रैक्टिस
सरफराज खान ने आईपीएल 2016 में आरसीबी के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया था. (फाइल फोटो)

कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण मौजूदा समय में बीसीसीआई (BCCI) ने सभी क्रिकेट मैचों पर बैन लगाया हुआ है

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 2, 2020, 12:34 PM IST
  • Share this:
आजमगढ़. कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण इस समय सभी खिलाड़ी अपने घर पर रहनेको मजबूर है. जाहिर है ऐसे में खिलाड़ियों के अभ्यास करना मुश्किल हो गया है. हालांकि एक ऐसा क्रिकेटर भी है जो इस समय में भी वैसे और उतना ही अभ्यास कर रहा है जैसा आम दिनों में करता था. हम बात कर रहे हैं युवा बल्लेबाज सरफराज खान की. इस साल रणजी में उनका बल्ला जमकर बोला औऱ उम्मीद की जा रही थी कि आईपीएल सीजन में वह अपना शानदार फॉर्म जारी रखेंगे. हालांकि कोरोना वायरस ने उनका इंतजार बढ़ा दिया है. फिलहाल वह आजमगढ़ में अपने पैतृक घर पर हैं लेकिन उन्होंने अपना अभ्यास नहीं छोड़ा है. उनके खेल पर कोई असर न हो इसकी जिम्मेदारी उठाई उनके पिता

पिता ने घर पर किया ट्रेनिंग का इंतजाम
सरफराज ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया कि वह भोपाल (Bhopal) में क्लब क्रिकेट खेल रहे थे जब उनके पिता ने बताया कि इरानी ट्रॉफी और आईपीएल स्थगित हो गए हैं. सरफराज लॉकडाउन से पहले पिता के साथ आजमगढ़ आ गए. हालांकि क्वारंटाइन समय में उन्हें आराम करने का बिलकुल समय नहीं मिल रहा है क्योंकि उनके कोच और पिता नौशाद खान (Naushad Khan) ने सरफराज की ट्रेनिंग का पूरा इंतजाम किया हुआ है. उन्होंने घर की छत को पिच में बदल दिया है.  सॉफ्ट बॉल से अभ्यास करवाते हैं. सरफराज ने बताया कि वह सुबह तीन घंटे बल्लेबाजी का अभ्यास करते हैं जिसमें उनका छोटा भाई मुशेर (स्पिन गेंदबाज मदद करता है. शाम के समय वह बल्लेबाजी के अलावा फिटनेस और फील्डिंग पर काम करते हैं. दिन के अंत में गेंदबाजों की वीडियो देखकर रणनीति बनाते हैं. सरफराज का कहना है कि पिता के आसपास रहते हुए आराम करने का समय होता ही नहीं है.

घरेलू तरीकों से बल्लेबाजी का अभ्यास कर रहे हैं सरफराज



सरफराज ने बताया कि वह आमतौर पर आजमगढ़ नहीं आते थे. अगर आना भी होता तो एक हफ्ते से ज्यादा नहीं रुकते थे. जब उन्हें छुट्टी मिलती भी थी तो वह मुंबई चले जाते थे लेकिन अब वह नहीं जानते कि कब तक अपने घर रहेंगे. सरफऱाज के पिता नौशाद घरेलू तरीकों से अभ्यास कराने के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने दिखाया है कि कैसे कम रिसोर्स में भी अच्छी ट्रेनिंग मिल सकती है. आरसीबी की टीम में शामिल सरफराज खान (Sarfaraz Khan) को फिटनेस ठीक न होने के चलते टीम से बाहर निकाल दिया था. मगर अब सरफराज ने रणजी ट्रॉफी में अपने बेहतरीन प्रदर्शन से सभी का ध्यान खींच लिया है. सरफराज ने पिछले रणजी सीजन में मुंबई की ओर से खेलते हुए उत्तर प्रदेश के खिलाफ नाबाद तिहरा शतक और हिमाचल प्रदेश के खिलाफ नाबाद दोहरा शतक लगाया था.



विंबलडन पर गिरी कोरोना वायरस की गाज, दूसरे विश्व युद्ध के बाद पहली बार रद्द
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading