अपना शहर चुनें

States

2 दिन पहले ही टीम को दिलाया ऐतिहासिक खिताब, अब उनादकट ने लिया जिंदगी का सबसे बड़ा फैसला

सौराष्ट्र को रणजी ट्रॉफी चैंपियन बनाने में जयदेव उनादकट का अहम योगदान रहा.
सौराष्ट्र को रणजी ट्रॉफी चैंपियन बनाने में जयदेव उनादकट का अहम योगदान रहा.

दो दिन पहले ही जयदेव उनादकट (Jaydev Unadkat) की अगुआई में सौराष्ट्र ने पहली बार रणजी ट्रॉफी का खिताब अपने नाम किया था

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 15, 2020, 5:35 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दो दिन पहले ही सौराष्ट्र को पहली बार रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) खिताब दिलाकर इतिहास में अपना नाम दर्ज करवाने वाले कप्तान जयदेव उनादकट (Jaydev Unadkat)  ने रविवार को अपनी जिंदगी का सबसे बड़ा फैसला ले लिया है. सौराष्ट्र को रणजी ट्रॉफी दिलाने वाले पहले कप्तान उनादकट ने निजी समारोह में सगाई कर ली है. उनकी मंगेतर का नाम  रिन्नी हैं.

इस कार्यक्रम में उनकी सौराष्ट्र टीम के साथी चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) भी अपनी पत्नी पूजा के साथ शामिल हुए. उनादकट रणजी ट्रॉफी के इस सीजन में सबसे अधिक विकेट लेने वाले खिलाड़ी रहे. उनकी अगुआई में सौराष्ट्र ने खिताबी मुकाबले में पहली पारी की बढ़त के आधार पर बंगाल को मात दी.

Jaydev Unadkat, ranji trophy, Cheteshwar Pujara, cricket, sports news, जयदेव उनादकट, चेतेश्वर पुजारा,क्रिकेट, स्पोर्ट्स न्यूज



उनादकट ने इस रणजी सीजन में 13.23 की औसत से कुल 67 विकेट लिए. इसी के साथ वह रणजी ट्रॉफी  (Ranji Trophy)  के इतिहास में एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज बने. जीत के बाद पोरबंदर में जन्में इस गेंदबाज ने कहा था कि उनके अभी भी टीम इंडिया (Team India) में वापसी करने के लिए भूखे हैं. उनादकट ने सगाई की तस्वीर अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर की. वहीं पुजारा ने भी फोटो शेयर करके इस कपल को बधाई दी. बधाई देने के साथ पुजारा ने  रिन्नी को चेता भी दिया है कि अब उन्हें काफी ब्रोमांस (दो या अधिक दोस्तों में भाईयों जैसा प्यार) से निपटना होगा.
Jaydev Unadkat, ranji trophy, Cheteshwar Pujara, cricket, sports news, जयदेव उनादकट, चेतेश्वर पुजारा,क्रिकेट, स्पोर्ट्स न्यूज

पुजारा और उनादकट के बीच लगती है हजारों की शर्त
उनादकट और पुजारा के बीच भाईयों वाली दोस्ती से हर कोई वाकिफ है. खुद उनादकट भी कई बार इस बारे में जिक्र कर चुके हैं.  आईपीएल (IPL) में करोड़ों रुपए आसानी से कमाने वाले उनादकट और टेस्ट स्पेशलिस्ट पुजारा के बीच आज भी 5 या 10 हजार रुपये की शर्त लगती है और इनमें से जो भी बेहतर खेलता है, दूसरा उन्हें शर्त के हिसाब से ईनामी राशि देता है.

जयदेव उनादकट का करियर
एकमात्र इंटरनेशनल टेस्ट मैच में उनादकट ने सिर्फ दो रन बनाए और विकेट नहीं ले पाए थे. सात वनडे मैच में 8 और 10 टी20 मैच में 14 विकेट लिए. वहीं 89 फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनके नाम 327 विकेट है. 94 लिस्ट ए क्रिकेट में 133 विकेट है.

धोनी को चेन्नई छोड़ जाता देख भावुक हुए फैंस, कहा-यह भी आपका घर है

इशांत ने बताया पहले क्रिकेटर होने के कारण जलती थी पत्नी, छह साल बाद की शादी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज