अपना शहर चुनें

States

Hpy Birthday Ganguly : दाएं हाथ से बल्लेबाजी करते थे सौरव गांगुली, फिर हुआ ऐसा...

सौरव गांगुली की गिनती भारत के सबसे लोकप्रिय कप्तानों में होती है.
सौरव गांगुली की गिनती भारत के सबसे लोकप्रिय कप्तानों में होती है.

जरा सोचिए कि अगर सौरव गांगुली दाएं हाथ से बल्लेबाजी करते तो....जी हां, सौरव अपने क्रिकेट के शुरुआती दिनों में दाएं हाथ से ही बल्लेबाजी किया करते थे.

  • Share this:
कोई उन्हें प्रिंस ऑफ कोलकाता कहता है तो कोई बंगाल टाइगर. कोई तो प्यार से उन्हें दादा भी कहता है. कोई उनके ऑफ साइड पर लगाए गए शॉट्स का मुरीद है तो कोई उनकी मासूम सी स्माइल का फैन. भारत में यही है टीम इंडिया के सबसे लोकप्रिय कप्तानों में से एक सौरव गांगुली की पहचान. वही गांगुली जो सोमवार 8 जुलाई को अपना 47वां जन्मदिन मना रहे हैं.

गांगुली के बल्ले से ऑफ साइड पर लगाए चौके-छक्के आज भी क्रिकेट प्रेमियों के जेहन में ताजा हैं. बाएं हाथ से जब सौरव गांगुली बल्ले को घुमाते थे तो दर्शक तो दर्शक, गेंदबाज की नजरें भी गेंद की ऊंचाई और लंबाई के साथ उतनी ही बड़ी हो जाती. पीछे हटकर शॉन पोलॉक पर प्वाइंट के ऊपर से छक्का जड़ना हो या आगे बढ़कर गेंदबाज के सिसर के ऊपर से शॉट लगाना, अपने इसी बाएं हाथ की बल्लेबाजी से उन्होंने दाएं हाथ के बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के साथ दुनिया की सबसे सफल जोड़ी बनाई.

लेकिन जरा सोचिए कि अगर सौरव गांगुली दाएं हाथ से बल्लेबाजी करते तो.... आज वो अपना 47वां जन्मदिन मना रहे हैं और हम उनके जन्मदिन पर आपाको उनके दाएं हाथ से बाएं हाथ तक आने का सफर बता रहे हैं. जो शायद बहुत ही कम लोग जानते होंगे. जी हां, सौरव अपने क्रिकेट के शुरुआती दिनों में दाएं हाथ से ही बल्लेबाजी किया करते थे.



icc, cricket. saurav ganguly, saurav ganguly birthday, saurav ganguly records, saurav ganguly captain,
सौरव गांगुली सर्वाधिक वनडे रन बनाने वाले बाएं हाथ के बल्लेबाजों में शीर्ष तीन में शामिल हैं.

फुटबॉलर बनना चाहते थे...

बंगाल के लगभग हर युवा की तरह सौरव गांगुली भी फुटबॉलर बनना चाहते थे. मगर उनकी मां चाहती थीं कि वह पढ़ाई पर ध्यान दें. हालांकि इसी दौरान सौरव के बड़े भाई स्नेहाशीष गांगुली बंगाल क्रिकेट टीम में अपनी जगह बना चुके थे. वह बाएं हाथ के बल्लेबाज थे. बड़े भाई के कहने पर सौरव को क्रिकेट एकेडमी में दाखिला मिल गया.

ऐसे बन गए बाएं हाथ के बल्लेबाज

एकेडमी में दाखिला तो मिल गया, लेकिन मगर माता-पिता उनके खेल करियर को लेकर बहुत गंभीर नहीं थे. इसलिए सौरव को अलग से किट नहीं मिली. उन्होंने इसका हल निकाला और दाएं के बजाय बाएं हाथ से बल्लेबाजी करने लगे ताकि वह अपने बड़े भाई की किट का इस्तेमाल कर सकें. ऐसा करने से पहले तक शायद खुद उन्होंने भी नहीं सोचा होगा कि एक दिन वह बाएं हाथ के महान बल्लेबाजों में से एक गिने जाएंगे. हालांकि सौरव गांगुली करियर के दौरान दाएं हाथ से ही गेंदबाजी करते रहे.

शीर्ष तीन बल्लेबाज ऐसे...गांगुली भी उनमें से एक

वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाले शीर्ष-10 बल्लेबाजों में सिर्फ तीन ही बल्लेबाज बाएं हाथ के हैं. कुमार संगकारा और सनथ जयसूर्या के बाद इस सूची में तीसरा नाम सौरव गांगुली का ही है. यही नहीं एक कैलेंडर वर्ष में सर्वाधिक रन बनाने के मामले में वह बाएं हाथ के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं. 1999 में उन्होंने एक साल में 1767 रन बनाए थे. सिर्फ सचिन तेंदुलकर ही उनसे आगे हैं.
जन्मदिन विशेष: टीम इंडिया के वो खिलाड़ी जिन्हें गांगुली की कप्तानी ने बनाया स्टार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज