Sunday Special: इमरान खान की राह पर अफरीदी, बनना चाहते हैं पाकिस्‍तान का प्रधानमंत्री!

Sunday Special: इमरान खान की राह पर अफरीदी, बनना चाहते हैं पाकिस्‍तान का प्रधानमंत्री!
शाहिद अफरीदी और इमरान खान पाकिस्तान को वर्ल्ड चैंपियन बना चुके हैं

शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) इन दिनों पाकिस्तान (Pakistan) में अपने बयानों और कोरोना (Corona) के बीच समाजसेवा को लेकर चर्चा में थे, जिसके बाद उनके अगले प्रधानमंत्री बनने की चर्चा शुरू हो गई

  • Share this:
नई दिल्ली. बीते कुछ दिनों में पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) अपने देश में हीरो की तरह सामने आए हैं. कोरोना वायरस (Coronavirus) के बीच वह लोगों की मदद कर मसीहा बन गए हैं. हालांकि जिस तरह वह पाकिस्तान (Pakistan) के कब्जे वाले कश्मीर (Kashmir) में जाकर भाषण देकर आए और जैसे लोगों के दिलों में जगह बनाने की कोशिश कर रहे हैं उससे एक बार फिर उनके राजनीति में उतने की चर्चा शुरू हो गई है. अफरीदी जिस राह पर चल रहे  हैं उसी पर चलकर पाकिस्तान को वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले कप्तान इमरान खान (Imran Khan) पाकिस्तान (Pakistan) के वजीरे आजम बन गए थे.

प्रधानमंत्री बनने की इच्छा जाहिर कर चुके हैं शाहिद अफरीदी
साल 2016 में शाहिद अफरीदी ने पहली बार राजनीति में उतरने की इच्छा जताई थी. उन्होंने कहा था कि वह राजनीति में आकर लोगों की सेवा करना चाहते हैं. उन्होंने साथ ही यह भी कहा था कि उनके शुभचिंतक चाहते हैं कि वह राजनीति में न आए. हालांकि अफरीदी को लगता है कि राजनेता जनता का सेवक होता है और वह इसे पूरी ईमानदारी के साथ निभा सकते हैं.

इमरान खान की तरह ही है अफरीदी का व्यक्तित्व
दोनों ही खिलाड़ी हैं तो बात खेल से शुरू करना सही रहेगा. शाहिद और इमरान दोनों ही की ये खासियत रही है कि जब भी पाकिस्तान की टीम ने खेल के मैदान में मुश्किलों का सामना किया है तो चाहे आतिशी बैटिंग के दम पर हो या फिर सधी हुई बॉलिंग के बल पर इन दोनों ने ही अपने-अपने योगदान से टीम को जीत दिलाई है. आज पाकिस्तान में ऐसा कोई ऑल-राउंडर नहीं है जो अपने प्रदर्शन से हारती हुई टीम को जिता सके. ये तो बात हो गई खेल के मैदान की. बाहर भी दोनों ऑल-राउंडर ही हैं. चाहे लव लाइफ रही हो या फिर अफेयर्स की तादाद आज भी दोनों का मुकाबला शायद ही कोई पाकिस्तान में कोई कर पाए.



कोरोना में लोगों की मदद के लिए आए आगे
इमरान खान (Imran Khan) ने राजनीति की शुरुआत समाज सेवा के साथ ही की थी. उन्होंने कई ऐसी चेरेटी खोलीं थी जो पाकिस्तान (Pakistan) में शिक्षा से लेकर स्वास्थय तक काम करती हैं. उनकी पहचान एक समाज सेवक के तौर पर ही होती थी. वहीं अफरीदी ने भी इस रास्ते पर चलना शुरू कर दिया. कोरोना वायरस के बीच कई खिलाड़ी लोगों की मदद के लिए आगे आए लेकिन अफरीदी सबसे एक कदम आगे निकले. अफीरी घर-घर जाकर लोगों को खाना और जरूरत का सामान बांटें. शाहिद अफरदी की फाउंडेशन इस दौरान लोगों में राशन बांटने के साथ-साथ जगह सैनेटाइजर भी लगा रहे थी.

अफरीदी खुद दूर-दराज के इलाकों में जाकर लोगों की मदद कर रहे थे. आए दिन उनकी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होती रहीं. अफरीदी (Shahid Afridi) के इन प्रयासों की बेहद तारीफ होने लगी और एक तरह से जनता के हीरो या यूं कहे मसीहा बन गए. हालांकि इन सबके बीच आज जब वह खुद इस बीमारी से संक्रिमत हैं सिर्फ पाकिस्तान ही नहीं दुनिया भर के फैंस उनके लिए दुआ कर रहे हैं. वह लोगों के दिल में अपनी जगह बना चुके हैं.

अफरीदी भी पठानों की पसंद
खैबर पख्तूनख्वा से लेकर कराची और पेशावर से लेकर लाहौर तक इमरान को पंसद किया जाता था. बात अगर लोगों द्वारा इन्हें पसंद किये जाने कि बड़ी वजहों की हो तो इमरान का पठान होना एक बड़ा कारण है. ऐसा ही मामला शाहिद अफरीदी का भी है. पठान होने के चलते इन्हें भी लोग खूब पसंद करते हैं. पाकिस्तान की राजनीति को मद्देनजर रखते हुए देखें तो पाकिस्तान की एक बड़ी आबादी ऐसी है जो पठान है पाकिस्तान में किसी भी नेता की जीत या हार पर 'पठान फैक्टर' एक महत्वपूर्ण रोल अदा करता है. अगर अफरीदी इस रास्ते पर जाते हैं तो उनके लिए उनका पठान होना रास्ता आसान कर सकता है.

पिछले साल लोगों ने ट्विटर पर चलाया था ट्रेंड
कुछ समय पहले मेजर जनरल गफूर और शाहिद अफरीदी की तस्‍वीर सोशल मीडिया पर खूब वारयल हुई थी जिसमें दोनों गले मिलते दिख रहे थे. आर्मी चीफ के साथ उनकी तस्वीर को देखकर कहा  रहा था कि जिस तरह इमरान खान ने क्रिकेट से अलग होने के बाद राजनीति शुरू की, उन्‍हीं के नक्‍शेकदम पर अब शाहिद अफरीदी भी चल रहे हैं और इमरान की ही तरह शाहिद अफरीदी पाकिस्‍तान के अगले प्रधानमंत्री हो सकते हैं. इसके बाद ट्विटर पर #afridiforPM ट्रेंड कर रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज