• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • धोनी की 'ताकत' के आगे झुका ये दिग्गज खिलाड़ी, कहा- उनका कर्ज कभी नहीं चुका सकता

धोनी की 'ताकत' के आगे झुका ये दिग्गज खिलाड़ी, कहा- उनका कर्ज कभी नहीं चुका सकता

धोनी की बेमिसाल कप्तानी के मुरीद हुए शेन वॉटसन

एमएस धोनी (MS Dhoni) किस कद के कप्तान हैं ये उन्होंने कई बार साबित किया है, उनकी कप्तानी का लोहा एक ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी भी मानता है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने बतौर कप्तान वर्ल्ड कप जीता, टी20 वर्ल्ड कप जीता, चैंपियंस ट्रॉफी जीती लेकिन इन टूर्नामेंट्स के साथ-साथ इस दिग्गज ने खिलाड़ियों का दिल भी जीता है. एमएस धोनी ने अपनी कप्तानी में कई क्रिकेट खिलाड़ियों का करियर संवारा है. धोनी ने जिन खिलाड़ियों पर भरोसा जताया है वो हमेशा मैच विनर ही साबित हुए हैं. उनमें से ही एक हैं शेन वॉटसन (Shane Watson) जो आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए खेलते हैं. वो धोनी की कप्तानी की ही ताकत का नतीजा है जो शेन वॉटसन उनके सजदे में झुकते हैं और साथ ही ये भी कहते हैं कि वो माही का कर्ज कभी नहीं चुका सकते.

    धोनी और फ्लेमिंग के मुरीद वॉटसन
    ऑस्ट्रेलिया के पूर्व ऑलराउंडर शेन वॉटसन (Shane Watson) ने शनिवार को चेन्नई सुपरकिंग्स के इंस्टाग्राम लाइव के दौरा कई बड़ी बातें कही. शेन वॉटसन ने कहा कि खिलाड़ियों की क्षमता पर विश्वास करना ही चेन्नई सुपर किंग्स टीम की सफलता का राज है. बता दें वॉटसन इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में सबसे पहले खिताब जीतने वाली राजस्थान रॉयल्स टीम का हिस्सा थे. इसके बाद वह रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और उसके बाद चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम में खेले.

    लगातार फेल होने के बावजूद वॉटसन को धोनी ने दिया मौका
    वॉटसन (Shane Watson) ने चेन्नई सुपर किंग्स के इंस्टाग्राम लाइव पर बातचीत के दौरान धोनी और चेन्नई के कोच स्टीफन फ्लेमिंग को शुक्रिया कहा. वॉटसन ने कहा कि अगर आप 10 मैचों में रन नहीं बनाते हैं और उसके बावजूद कप्तान और कोच आपके ऊपर भरोसा जताते हैं तो वो बड़ी बात है. वॉटसन ने कहा कि अगर कोई दूसरी टीम होती तो आप कबके टीम से बाहर कर दिए गए होते, लेकिन चेन्नई ने मुझे टीम में बरकरार रखा.

    आईपीएल 2018 के फाइनल में वॉटसन ने जड़ा था शतक


    बता दें वॉटसन (Shane Watson) ने 2018 में चेन्नई सुपरकिंग्स को आईपीएल चैंपियन बनाया था. उन्होंने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ फाइनल में 57 गेंदों में 117 रनों की तूफानी पारी खेली थी. इसमें उन्होंने 11 चौके और आठ छक्के लगाए थे. गजब की बात ये है कि वॉटसन उस पूरे टूर्नामेंट में फ्लॉप रहे थे लेकिन धोनी ने उनपर भरोसा बनाए रखा. यही नहीं पिछले सीजन में भी वॉटसन ने आईपीएल 2020 के फाइनल में 59 गेंदों पर 80 रनों की शानदार पारी खेली थी, हालांकि टीम 1 रन से फाइनल हार गई.

    वॉटसन (Shane Watson) ने कहा कि IPL 2019 के दौरान वो अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे लेकिन वो बड़े स्कोर नहीं बना पा रहे थे. कई मैचों में असफल होने के बाद वॉटसन को लगा कि इस बार उन्हें टीम से बाहर कर दिया जाएगा लेकिन धोनी ने उन्हें टीम में बरकरार रखा. वॉटसन ने बताया कि धोनी के विश्वास ने सबकुछ बदलकर रख दिया. वॉटसन ने कहा कि धोनी की लीडरशिप में बहुत ताकत है. उन्हें पता है कि किस खिलाड़ी के साथ कब रहना है, कब उसे कप्तान की सबसे ज्यादा जरूरत है. वॉटसन ने कहा कि ये उनके लिए हैरानी भरा है. वो धोनी और फ्लेमिंग के हमेशा ऋणी रहेंगे.

    चेन्नई के दिग्गज ने कहा-पंत को जगह मिलनी ही चाहिए, धोनी से बड़ी है टीम

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज