बड़ा बयान- शशांक मनोहर भारत विरोधी, बीसीसीआई को बड़ा नुकसान पहुंचाया

बड़ा बयान- शशांक मनोहर भारत विरोधी, बीसीसीआई को बड़ा नुकसान पहुंचाया
शशांक मनोहन ने छोड़ी आईपीएल चेयरमैन की कुर्सी

शशांक मनोहर (Shashank Manohar) ने बुधवार को आईसीसी चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया था

  • Share this:
नई दिल्ली. बीसीसीआई (BCCI) के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने आईसीसी के चेयरमैन पद से इस्तीफा देने वाले शशांक मनोहर पर निशाना साधा है. श्रीनिवासन ने शशांक मनोहर को भारत विरोधी बताया. श्रीनिवासन ने कहा कि शशांक मनोहर ने हर वो काम किया, जिससे भारतीय क्रिकेट को नुकसान पहुंचा. श्रीनिवासन की मानें तो शशांक मनोहर के भारतीय क्रिकेट से जाने के बाद सबकुछ सही हुआ और उन्होंने बीसीसीआई को उस वक्त छोड़ा था, जब वो मुश्किल में थी.

निरंजन शाह ने भी शशांक मनोहर की आलोचना की
भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के पूर्व सचिव निरंजन शाह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) के पूर्व चेयरमैन शशांक मनोहर पर निशाना साधते हुए उनसे अपील की है कि वह समय निकालकर आकलन करें कि उन्होंने भारतीय क्रिकेट को ‘किस तरह का नुकसान’ पहुंचाया है. मनोहर ने दो साल के दो कार्यकाल के बाद बुधवार को अपना पद छोड़ दिया था क्योंकि उन्हें अहसास हो गया था कि बहुमत में लोग उनके तीसरे कार्यकाल के खिलाफ होंगे.

मनोहर ने रद्द कराया बिग थ्री मॉडल
बीसीसीआई का इतने सालों तक मानना रहा है कि मनोहर ने ‘बिग थ्री’ मॉडल को रद्द करवाने में अहम भूमिका निभाई थी जिसमें राजस्व का अधिकांश हिस्सा इंग्लैंड, आस्ट्रेलिया और भारत की झोली में जाता था. बीसीसीआई के सचिव रहे शाह ने बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष के संदर्भ में बयान जारी करके कहा, 'शशांक जी को मिश्रित अहसास होगा कि वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए वह क्या कर सकते थे और उनके कार्यकाल के दौरान भारत में क्रिकेट के साथ क्या हुआ.' उन्होंने कहा, 'अब वह आईसीसी चेयरमैन के रूप में अपने कार्यकाल का आकलन कर सकते हैं और बीसीसीआई के अध्यक्ष के रूप में भी जो उनके लिए मंच था. वह आकलन कर सकते हैं कि उनके कार्यकाल के दौरान भारतीय क्रिकेट और बीसीसीआई को क्या नुकसान पहुंचा.'



आईसीसी ने भारतीय क्रिकेट को नुकसान पहुंचा
शाह का मानना है कि बीसीसीआई के मौजूदा नेतृत्व से बोर्ड को आईसीसी में मजबूत, फायदेमंद और रचनात्मक प्रतिनिधित्व मिलेगा. उन्होंने कहा, 'बीसीसीआई को पिछले कुछ वर्षों में मुश्किलों का सामना करना पड़ा. और इन वर्षों में आईसीसी ने स्थिति का फायदा उठाकर भारत में क्रिकेट और बीसीसीआई को हर संभावित तरीके से नुकसान पहुंचाया. ' शाह ने कहा, 'हालांकि मुझे पूरा यकीन है कि बीसीसीआई का मौजूदा नेतृत्व का आईसीसी में मजबूत, फायदेमंद और रचनात्मक प्रतिनिधित्व होगा.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading