Home /News /sports /

IND vs SA: इशांत शर्मा को नजरअंदाज करने पर बोले पूर्व दिग्गज, उनका सम्मान किया जाना चाहिए

IND vs SA: इशांत शर्मा को नजरअंदाज करने पर बोले पूर्व दिग्गज, उनका सम्मान किया जाना चाहिए

IND vs SA: इशांत शर्मा को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीनों टेस्ट मैचों में मौका नहीं मिला है.(AFP)

IND vs SA: इशांत शर्मा को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीनों टेस्ट मैचों में मौका नहीं मिला है.(AFP)

India vs South Africa: कुछ महीने पहले तक खेल के सबसे लंबे प्रारूप में पहली टीम में नियमित रूप से खेलने वाले तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं बनाई. ऐसे में प्रोटियाज के पूर्व कप्तान शॉन पोलक ने जोर देकर कहा कि आपको उनके साथ ईमानदार होने की जरूरत है और आपको उन्हें सटीक कारण बताने की जरूरत है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. पिछले कई सालों की मेहनत का नतीजा है कि तेज गेंदबाज इशांत शर्मा (Ishant Sharma) ने खुद को विश्व क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक के रूप में स्थापित किया है. वह टेस्ट क्रिकेट में टीम इंडिया के प्रभावशाली तेज आक्रमण का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) और मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) के साथ उन्होंने एक शानदार साझेदारी की है, जिसने टीम को विदेशी परिस्थितियों में खेल के सबसे लंबे प्रारूप में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने में मदद की. हालांकि, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी अभी भी भारतीय टीम के प्रमुख सदस्य बने हुए हैं, लेकिन मोहम्मद सिराज के उभरने के बाद इशांत हाल के दिनों में किनारे होना शुरू हो गए हैं.

यहां तक कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चल रही सीरीज (India vs South Africa) में इशांत शर्मा तीन टेस्ट मैचों में से किसी की भी प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं हुए हैं. मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) के दूसरे टेस्ट में चोटिल होने के कारण केपटाउन टेस्ट से बाहर होने के बाद भी इशांत को प्लेइंग इंलेवन में मौका नहीं मिल पाया. उमेश यादव (Umesh Yadav) को इशांत की जगह सिराज के रिप्लेसमेंट के रूप में चुना गया.
VIDEO: ऋषभ पंत से सिक्स जड़ने के चक्कर में उड़ा बल्ला, फिर बैट को ऐसे दिया सम्मान

टीम में इशांत की प्रमुखता स्पष्ट रूप से कम होने के साथ दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान शॉन पोलक (Shaun Pollock) ने भारतीय टीम प्रबंधन से उन्हें सम्मान देने और उनके साथ ईमानदार बातचीत करने का आग्रह किया है. क्रिकबज से बात करते हुए पोलक ने कहा, ”मुझे लगता है कि कम्युनिकेशन अच्छा होना चाहिए. इशांत ने जो भी भारतीय टीम के लिए किया है, उसके लिए उनका सम्मान किया जाना चाहिए.”

उन्होंने आगे कहा, ”आपको उनके साथ ईमानदार होने की जरूरत है और आपको उन्हें सटीक कारण बताने की जरूरत है. यदि कारण यह था कि हमें लगता है कि ‘अगर आप बाएं हाथ के खिलाड़ी नहीं होते तो आप बेहतर अनुकूल होते,’ उन्हें बस यह स्वीकार करना होगा,” पोलक ने इशांत के प्रति सहानुभूति व्यक्त की और दावा किया कि भारत के लिए इतना क्रिकेट खेलने के बाद विशेष रूप से तेज गेंदबाजों के लिए ऐसी अनुकूल परिस्थितियों में बेंच पर बैठना उनके लिए आसान नहीं होगा.

पूर्व कप्तान ने कहा, ”यह आसान नहीं है, जब आपने इतनी क्रिकेट खेली हो और वास्तव में अच्छी सर्विस दी हो. दक्षिण अफ्रीका में हालात अच्छे हैं और वह एक अवसर के लिए बेचैन होंगे, खासकर उन दो पिचों के बाद. वह सोच रहे होंगे कि भगवान अगर मैं यहां सिर्फ एक खेल कर सकता था, तो मुझे यकीन है कि मैं एक प्रभाव डाल सकता हूं.”

IND vs SA: रोहित से तेंदुलकर तक ने बांधे ऋषभ पंत की तारीफों के पुल, जाफर बोले- आग लगा दी

बता दें कि इशांत शर्मा ने 2007 में पदार्पण करने के बाद भारत के लिए 105 टेस्ट मैचों में भाग लिया है. 33 वर्षीय पेसर के नाम पर 311 विकेट हैं, जो क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप के इतिहास में एक भारतीय तेज गेंदबाज के लिए संयुक्त रूप से दूसरा सबसे बड़ा रिकॉर्ड है.

Tags: Cricket news, India vs South Africa, Ishant Sharma, Umesh yadav

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर