लाइव टीवी

दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर्स के देश छोड़ने से चिंतित हैं शॉन पोलक, बोले- खेल अब धंधा बन गया है

भाषा
Updated: October 4, 2019, 3:57 PM IST
दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर्स के देश छोड़ने से चिंतित हैं शॉन पोलक, बोले- खेल अब धंधा बन गया है
शॉन पोलक.

कोल्‍पैक करार (Kolpak Deal) में खिलाड़ी यूरोपीय संघ देशों में खेल सकते हैं और उन्हें विदेशी खिलाड़ी नहीं माना जाता. वे विदेशी खिलाड़ी की कैटेगरी में आए बिना इंग्लिश काउंटी के साथ करार कर सकते हैं.

  • Share this:
विशाखापत्तनम: दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के महान खिलाड़ी शॉन पोलक (Shaun Pollock) इस बात से थोड़ा चिंतित हैं कि उनके देश में खिलाड़ी राष्ट्रीय टीम के बजाय काउंटी क्रिकेट को चुन रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि यह एक समस्या है और इसे ठीक नहीं किया जा सकता क्योंकि खेल अब व्यवसाय बन गया है. साल के शुरू में 27 साल के तेज गेंदबाज डुएन ओलिवर (Duanne Olivier)ने दक्षिण अफ्रीका के लिए महज 10 टेस्ट खेलने के बाद कोल्‍पैक करार किया. एक अन्य तेज गेंदबाज काइल एबट (Kyle Abbott) ने भी 2017 में ऐसा ही किया था. मोर्ने मोर्कल (Morne Morkel) ने भी काउंटी क्रिकेट में खेलने के लिए कोल्‍पैक अनुबंध किया लेकिन ऐसा उन्होंने पिछले साल 33 साल की उम्र में संन्यास की घोषणा करने के बाद किया.

क्‍या है कोल्‍पैक डील
कोल्‍पैक करार में खिलाड़ी यूरोपीय संघ देशों में खेल सकते हैं और उन्हें विदेशी खिलाड़ी नहीं माना जाता. वे विदेशी खिलाड़ी की कैटेगरी में आए बिना इंग्लिश काउंटी के साथ करार कर सकते हैं. पोलाक ने शुक्रवार को पीटीआई से कहा, ‘आप चयन के लिए कई खिलाड़ियों में से चुनना पसंद करते हो लेकिन आप इसे (इस समस्या को) सही नहीं कर सकते. आधुनिक युग में ऐसा ही है. बीते दिनों में खेल से इतना वित्तीय लाभ नहीं होता था. लोग खेलों में अपने देश के लिए उपलब्ध रहते थे. लेकिन अब यह व्यवसाय बन गया है.’

एबट और ओलिवर के जाने से हुई परेशानी

वर्ष 2004 के बाद से दक्षिण अफ्रीका में काफी खिलाड़ी कोल्‍पैक से जुड़े हैं लेकिन हाल के दिनों में उन्हें तेज गेंदबाज एबट और ओलिवर के जाने से काफी परेशानी हुई. पोलक ने दक्षिण अफ्रीका के लिए 108 टेस्ट और 303 वनडे खेले हैं. उन्होंने कहा, ‘उन्हें व्यावसायिक फैसले करने होते हैं कि कहां से उन्हें ज्यादा राशि मिलेगी, कहां से उन्हें मौके मिलेंगे और आप इसके खिलाफ नहीं हो सकते. अगर वे महसूस करते हैं कि वे कुछ समय के लिए दक्षिण अफ्रीका के लिए नहीं खेलेंगे और वे कहीं और जाना चाहते हैं तो यह दुर्भाग्यपूर्ण है.’

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान पोलक ने कहा, ‘यह आदर्श नहीं है क्योंकि मजबूती टीम की गहराई से आती है और अगर आपकी टीम में गहराई नहीं है तो यह और भी चुनौतीपूर्ण हो जाता है.'

Video: रवींद्र जडेजा ने फेंकी सबसे खराब गेंद, दुनिया उड़ा रही है मजाक
Loading...

कोहली ने इशांत के कान में फूंका मंत्र, अगली गेंद पर आउट हो गया बल्लेबाज, VIDEO

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 4, 2019, 3:47 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...