लाइव टीवी

हमारी नहीं, पुरुष क्रिकेट की वजह से आ रहे हैं पैसे, इसलिए ज्यादा वेतन की मांग गलत: स्मृति मंधाना

News18Hindi
Updated: January 22, 2020, 7:16 PM IST
हमारी नहीं, पुरुष क्रिकेट की वजह से आ रहे हैं पैसे, इसलिए ज्यादा वेतन की मांग गलत: स्मृति मंधाना
स्मृति मंधाना भारत की स्टार क्रिकेटर हैं

बीसीसीआई (BCCI) के केंद्रीय अनुबंध के शीर्ष वर्ग के पुरुष क्रिकेटरों को सात करोड़ रुपये मिलते हैं जबकि महिला क्रिकेटरों को 50 लाख रुपये का भुगतान किया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2020, 7:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत की स्टार महिला क्रिकेटर स्मृति मंधाना (Smriti Mandahana) अपने पुरुष समकक्षों की तुलना में कम वेतन से परेशान नहीं हैं क्योंकि वह समझती हैं कि इस खेल के इस राजस्व पुरुष क्रिकेट के जरिए आता है.

आईसीसी (ICC) की साल की सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर मंधाना ने बुधवार को एक प्रचार कार्यक्रम के दौरान समान वेतन के विवादास्पद मुद्दे पर बात की. बीसीसीआई (BCCI) के केंद्रीय अनुबंध के शीर्ष वर्ग में शामिल पुरुष क्रिकेटरों को वार्षिक वेतन के तौर पर सात करोड़ रुपये मिलते हैं जबकि शीर्ष वर्ग की महिला क्रिकेटरों को वार्षिक अधिकतम 50 लाख रुपये का भुगतान किया जाता है.

स्मृति मंधाना ने कहा पैसे पर नहीं प्रदर्शन पर है टीम का ध्यान
उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि टीम की कोई साथी इस अंतर के बारे में सोचती है क्योंकि फिलहाल हमारा ध्यान सिर्फ भारत के लिए मैच जीतने, दर्शकों को मैदान पर लाने, राजस्व जुटाने पर है. हमारा लक्ष्य यही है और अगर ऐसा होता है तो सभी अन्य चीजें ठीक हो जाएंगी.’ मंधाना ने कहा, ‘इसके लिए हमें प्रदर्शन करना होगा. हमारी तरफ से यह कहना अनुचित होगा कि हमें समान वेतन की जरूरत है, यह सही नहीं है. इसलिए मुझे नहीं लगता कि मैं इस अंतर पर प्रतिक्रिया देना चाहती हूं.’

smrir mandhana, cricket news, sports news
स्मृति मंधाना भारतीय टी20 टीम की उप-कप्तान हैं


मंधाना  (Smriti Mandhana) ने कहा कि भारतीय टीम पिछले एक साल से विश्व टी20 (World T20) टूर्नामेंट को लेकर रणनीति बना रही है. उन्होंने कहा,‘पिछले साल से, मैचों के दौरान हम जो भी कर रहे थे, हम विश्व कप के बारे में सोच रहे थे, अब हम विश्व कप के लिए जा रहे है, इसलिए काफी रोमांचित हैं.’

वर्ल्ड कप में छक्के लगाने की तैयारी कर रही हैं जेमिमा रोड्रिग्सदमखम की कमी को पूरा करने के लिये भारत की सलामी बल्लेबाज जेमिमा रोड्रिग्स (Jemmimah
Rodrigues) अपने बल्ले की रफ्तार बढ़ाने पर मेहनत कर रही है ताकि महिला टी20 विश्व कप में बड़े शॉट लगा सके. विश्व कप से पहले उनका लक्ष्य बैकफुट पर अपनी बल्लेबाजी को बेहतर करना भी है.

उन्होंने ‘रोड टू द टी20 विश्व कप’ पॉडकास्ट में कहा ,‘मैं अपने बैकफुट पर काम कर रही हूं और अपने बल्ले की रफ्तार बढ़ाने की भी कोशिश कर रही हूं. आप मेरी कद काठी देखकर अनुमान लगा सकते हैं कि मेरे भीतर छक्के लगाने की ताकत नहीं है लेकिन मैं इस पर काम कर रही हूं.’अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 2018 में डेब्यू करने के बाद से वह लगातार अच्छा प्रदर्शन करती आई हैं. विश्व कप से पहले भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया (Australia) और इंग्लैंड (England) के खिलाफ 31 जनवरी से त्रिकोणीय श्रृंखला खेलेगी.

वापसी के बाद पहला ग्रैंड स्लैम खेल रही सानिया को बड़ा झटका, मिक्स्ड डबल्स से नाम लिया वापस

विराट कोहली ने फिटनेस पर उठाए थे सवाल, अब तिहरा शतक ठोककर दिया करारा जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 6:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर