Home /News /sports /

स्मृति मंधाना बन सकती हैं टीम इंडिया की कप्तान, पूर्व कोच ने वर्ल्ड कप से पहले कही बड़ी बात

स्मृति मंधाना बन सकती हैं टीम इंडिया की कप्तान, पूर्व कोच ने वर्ल्ड कप से पहले कही बड़ी बात

स्मृति मंधाना ने पिछले दिनों ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डे-नाइट टेस्ट में शतक लगाया था. (Smriti Mandhana Instagram )

स्मृति मंधाना ने पिछले दिनों ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डे-नाइट टेस्ट में शतक लगाया था. (Smriti Mandhana Instagram )

भारतीय महिला टीम अभी ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर है. इस बीच टीम के पूर्व कोच डब्ल्यूवी रमन (WV Raman) का बड़ा बयान आया है. उन्हाेंने कहा कि अगले साल होने वाले वर्ल्ड कप के बाद स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) को टीम की कमान दे देनी चाहिए.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. पूर्व कोच डब्ल्यूवी रमन (WV Raman) ने मंगलवार को कहा कि आगामी महिला वनडे वर्ल्ड कप के बाद ओपनर बल्लेबाज स्मृति मंधाना को भारतीय टीम की कमान सौंप देनी चाहिए. 25 साल की मंधाना (Smriti Mandhana) 2013 में पदार्पण करने के बाद से टीम की अहम सदस्य रही हैं. रमन ने कहा कि कप्तानी का उम्र से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन मुझे पूरा यकीन है कि मंधाना कप्तान हो सकती हैं. वह खेल को अच्छे से समझती हैं. वह कई वर्षों से क्रिकेट खेल रही हैं. उन्हाेंने पिछले दिनों डे-नाइट टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक लगाया है. वे ऐसा करने वाली भारतीय पहली महिला खिलाड़ी बनीं. टी20 सीरीज गुरुवार से शुरू हो रही है.

    उन्होंने कहा, ‘यह एक अच्छा समय हो सकता है और एक युवा क्रिकेटर को कप्तानी देने का मतलब है कि वह कुछ वर्षों तक टीम का नेतृत्व कर सकती है.’ उन्होंने कहा, ‘अभी कप्तान बदलने का सही समय नहीं है. हाल के दिनों में चाहे जो भी नतीजा रहा हो टीम को वर्ल्ड कप तक इंतजार करना चाहिए. वर्ल्ड कप में चाहे जो भी परिणाम रहे, मुझे लगता है कि स्मृति को कप्तानी सौंप देनी चाहिए.’

    झूलन गोस्वामी का करियर अंतिम पड़ाव पर

    फिलहाल 38 साल की अनुभवी मिताली राज भारत की टेस्ट और एकदिवसीय टीम की कप्तान हैं, जबकि 32 वर्षीय हरमनप्रीत कौर टी20 अंतरराष्ट्रीय टीम की प्रभारी हैं. रमन के कोच रहते भारतीय टीम टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची थी. उनकी जगह हालांकि इस साल रमेश पवार को टीम को कोच नियुक्त कर दिया गया था. भारत की मुख्य तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी अपने करियर के आखिरी पड़ाव में है और रमन को उम्मीद है कि आने वाले दिनों में महिला टीम को मेघना सिंह जैसे और भी अच्छे तेज गेंदबाज मिलेंगे.

    पूजा और मेघना जैसी अच्छी तेज गेंदबाज टीम में

    उन्होंने कहा, ‘हमें तेज गेंदबाजों के लिए एक कार्यक्रम विकसित करने की जरूरत है. दरअसल, इस मुद्दे पर मेरी राहुल द्रविड़ से पहले भी चर्चा हुई थी. हम एक कार्यक्रम शुरू करने की योजना बना रहे थे, जिसमें तीन तेज गेंदबाजी कोच को मैच देखकर प्रतिभा को परखना था.’ उन्होंने कहा,  यह चीजें लागू होती उससे पहले ही कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन हो गया.’ पूर्व कोच ने कहा, ‘यह देखकर अच्छा लगा कि पूजा वस्त्राकर दबाव बनाने में झूलन गोस्वामी की मदद कर रही हैं. टीम में मेघना सिंह भी हैं.’

    मार्च-अप्रैल में होना है वर्ल्ड कप

    डब्ल्यूवी रमन ने कहा कि मुझे विश्वास है कि राहुल द्रविड़ भविष्य में इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाएंगे. अगर यह हमारी योजना के अनुसार किया जाता है, तो तीन साल में हम कुछ तेज गेंदबाजों को उभरते हुए देख सकते हैं.’ उनका मानना था कि इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर भारतीय टीम के हालिया प्रदर्शन को देखते हुए कहा जा सकता है कि वर्ल्ड कप के लिए उसकी तैयारी अच्छी है. वर्ल्ड कप का आयोजन अगले साल मार्च-अप्रैल में न्यूजीलैंड में होगा.

    यह भी पढ़ें: T20 World Cup: वरुण चक्रवर्ती का टी20 वर्ल्ड कप खेलना मुश्किल! चोट के बाद भी आईपीएल से नहीं हटे

    यह भी पढ़ें: T20 World Cup: पूर्व चैंपियन इंग्लैंड को लगा बड़ा झटका, स्टोक्स और आर्चर के बाद दिग्गज खिलाड़ी वर्ल्ड कप से बाहर

    उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गुरुवार से शुरू हो रही टी20 सीरीज में शेफाली वर्मा बड़ा अंतर पैदा कर सकती हैं. उन्होंने कहा, ‘शेफाली एक बड़ी भूमिका निभाएगी, क्योंकि वह अपने आक्रामक खेल से प्रतिद्वंद्वी टीम की मैच पर पकड़ कम कर सकती है. उसके पास प्रतिभा है. ऑस्ट्रेलिया की टीम लक्ष्य का पीछा करने के मामले में बेहतर नहीं है.’

    Tags: BCCI, Cricket news, ICC Womens World Cup 2021, India vs Australia, Indian women cricketer, Smriti mandhana, WV Raman

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर