अपना शहर चुनें

States

वर्ल्ड कप फाइनल में 11 रन बनाने वाली स्मृति मंधाना बोलीं- पागल हो गए हैं लोग

स्मृति मंधाना भारत की सलामी बल्लेबाज हैं
स्मृति मंधाना भारत की सलामी बल्लेबाज हैं

स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) भारतीय महिला टीम की स्टार बल्लेबाज हैं लेकिन टी20 वर्ल्ड कप (ICC T20 World Cup) में फ्लॉप रही थीं

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 11, 2020, 3:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट की बड़ी स्टार माने जाने वाली स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) आज देश में महिला क्रिकेट का बड़ा चेहरा हैं. ऑस्ट्रेलिया (Australia) में हाल ही में खत्म हुए टी20 वर्ल्ड कप (ICC T20 World Cup) में उनका बल्ला नहीं चला. फाइनल में ऑस्ट्रेलिया (Australia) के खिलाफ केवल 11 रन ही बना पाई थी. इस बार उनका सफर शानदार नहीं रहा लेकिन साल 2017 में इंग्लैंड (England) में हुए वनडे वर्ल्ड कप ने उन्हें जरूर स्टार बना दिया था. स्मृति  (Smriti Mandhana)  ने एक इंटरव्यू में बताया कि 2017 में इंग्लैंड में हुए वर्ल्ड कप में फाइनल में हारने के बाद लोगों का व्यवहार देखकर उन्हें ऐसा लगा कि लोग पागल हो गए हैं.

2017 में बड़ी स्टार बन गई थीं मंधाना
साल 2017 में इंग्लैंड में महिला वनडे वर्ल्ड कप का आयोजन हुआ था. भारतीय टीम की सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने इस टूर्नामेंट के पहले ही मुकाबले में मेजबान इंग्लैंड (England) के खिलाफ 90 रन की पारी खेली थी. इसके बाद उन्होंने वेस्टइंडीज (West Indies) के खिलाफ शतकीय पारी खेली थी. उनके प्रदर्शन के दम पर भारत ने फाइनल में जगह बनाई थी. मंधाना ने नौ मैचों में 232 रन बनाए थे. मंधाना अपने प्रदर्शन के दम पर भारत में घर-घर का नाम बन गई थीं. इंटरव्यू के दौरान स्मृति ने बताया, 'मेरा ट्विटर डिलीट हो गया था या नहीं पता नहीं, और मैं नहीं जानती थी कि इंस्टाग्राम क्या होता है. मैं बस यह जानती थी कि एक दिन मेरे 2000 फॉलोअर थे वहीं पांच दिन में यह लगभग तीन लाख तक पहुंच गए हैं. मुझे लगा था लोग पागल हो गए हैं.'

टी20 वर्ल्ड कप में फ्लॉप रहीं मंधाना
साल 2018 में मंधाना (Smriti Mandhana) को आईसीसी ने महिला वनडे खिलाड़ी चुना गया था. इस साल में उन्होंने 66.90 की औसत से सबसे ज्यादा 669 रन बनाए थे. मौजूदा समय की बात करें तो मंधाना ने टी20 वर्ल्ड कप में कुछ खास प्रदर्शन नहीं किया. वह पूरे टूर्नामेंट में अपनी किसी भी पारी में 17 रन से आगे नहीं बढ़ पाई. वह पहले मुकाबले में फील्डिंग के दौरान अपना हाथ चोटिल कर बैठीं थी. इसके बाद बांग्लादेश के खिलाफ मैच वह नहीं खेली. फाइनल में उम्मीद थी कि मंधाना शानदार प्रदर्शन करेंगी लेकिन वह महज 11 रन बनाकर आउट हो गई. भारत फाइनल के साथ-साथ टूर्नामेंट भी हार गया था.



विराट कोहली की शुभकामनाएं टीम इंडिया के लिए अभिशाप! सहवाग भी निशाने पर, ये है वजह

जीरो पर आउट होने के बाद भी सचिन बजाने लगे तालियां, इरफान पठान ने '13 गेंद पर 43 रन' ठोककर दिलाई जीत, VIDEO
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज