सौरव गांगुली ने भारत के मजबूत बेंच स्ट्रैंथ का श्रेय राहुल द्रविड़ को दिया, तारीफ में कही यह बात

सौरव गांगुली ने एनसीए के कोच राहुल द्रविड़ की तारीफ की है (Sourav Ganguly/Instagram)

सौरव गांगुली ने एनसीए के कोच राहुल द्रविड़ की तारीफ की है (Sourav Ganguly/Instagram)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की जमकर तारीफ की है. राहुल द्रविड़ बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) के कोच हैं और यहां वह उभरती हुई क्रिकेट प्रतिभाओं को तराशते हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की जमकर तारीफ की है. राहुल द्रविड़ बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) के कोच हैं और यहां वह उभरती हुई क्रिकेट प्रतिभाओं को तराशते हैं. ऐसे में गांगुली ने राहुल द्रविड़ की तारीफ करते हुए कहा कि भारतीय बेंच की ताकत बढ़ाने में राहुल का अहम योगदान है. हालिया समय में मोहम्मद सिराज, वाशिंगटन सुंदर, शुभमन गिल और शार्दुल ठाकुर जैसे खिलाड़ियों ने सीनियर खिलाड़ियों की अनुपस्थिति में अच्छा परफॉर्म किया है. उन्होंने दिग्गज खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में अपने परफॉर्मेंस के दम पर भारत को पहले ऑस्ट्रेलिया और अब इंग्लैंड के खिलाफ शानदार जीत दिलवाई हैं.

हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान सौरव गांगुली ने कहा, ''मैंने हमेशा कहा कि राहुल द्रविड़ ने एनसीए में महान काम किया है. वह दूसरी पंक्ति के खिलाड़ियों को तैयार कर रहे हैं. सिराज बेहद प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं, शार्दुल को जब भी मौका मिला है, उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है.'' गांगुली ने कहा कि जिस तरह ऑस्ट्रेलिया में खिलाड़ियों ने अपना खेल स्तर ऊपर उठाया, वह ऐतिहासिक है.

संजना गणेशन के ट्वीट कर रहे लव स्टोरी का इशारा! बनेंगी जस्सी की दुल्हनिया?

उन्होंने कहा, ''हम पूरे साल जसप्रीत बुमराह की बात करते रहे, लेकिन भारत उनके बिना जीता. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम टेस्ट में शार्दुल ठाकुर और मोहम्मद सिराज ने इशांत शर्मा की अनपुस्थिति में ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में हराने में अहम भूमिका निभाई. सिराज ने इंग्लैंड के खिलाफ हालिया सीरीज में भी काफी प्रभावित किया. अक्षर पटेल और रविचंद्रन अश्विन के साथ उन्होंने अहम मौकों पर विकेट ली.''
पूर्व भारतीय कप्तान ने आगे कहा कि यदि ऋषभ पंत 5-6 ओवर और खेल जाते तो भारत सिडनी टेस्ट जीत सकता था. युवराज सिंह, जहीर खान, वीरेंद्र सहवाग जैसे नई पीढ़ियों के खिलाड़ियों को तैयार करने में अहम रोल निभाने वाले गांगुली ऋषभ पंत से बहुत खुश हैं. 23 वर्षीय विकेटकीपर-बल्लेबाज पंत ने इंग्लैंड और भारत के बीच खेली गई चार टेस्ट मैचों की छह पारियों में 54 की औसत से 270 रन बनाए. चौथे टेस्ट में उन्होंने मैच विनिंग शतक लगाया.

IPL शुरू होने से पहले जब सूर्यकुमार यादव ने संजना गणेशन से पूछा- किसकी तरफ हैं आप?

सौरव गांगुली ने कहा, ''मैंने ऋषभ पंत को करीब से देखा है. मैं मैच विनिंग खिलाड़ियों में यकीन करता हूं. वह अकेले दम पर मैच पलट सकता है. सिडनी टेस्ट में यदि वह 5-6 ओवर और खेल जाते तो वह टेस्ट भारत जीत सकते थे. इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट में वह जिस तरह खेले वह शानदार है. मैच किसी भी तरफ जा सकता था, लेकिन उन्होंने मैच का रुख पलट दिया. उन्होंने जिम्मी एंडरसन के खिलाफ आक्रामक रुख अपनाया.'' सौरव गांगुली ने यह भी कहा कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल अब लर्ड्स की जगह साउथेम्पटन में खेला जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज