लाइव टीवी

BCCI : सौरव गांगुली ने किया अपने एजेंडे का खुलासा, जानिए कब तक रहेंगे इस पद पर

News18Hindi
Updated: October 14, 2019, 12:59 PM IST
BCCI : सौरव गांगुली ने किया अपने एजेंडे का खुलासा, जानिए कब तक रहेंगे इस पद पर
सौरव गांगुली को हाल ही में बंगाल क्रिकेट संघ का दोबारा अध्यक्ष चुना गया था. (फाइल फोटो)

टीम इंडिया (Team India) के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) फिलहाल बंगाल क्रिकेट संघ के अध्यक्ष हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2019, 12:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व ओपनर और देश के सबसे सफल कप्तानों में शुमार सौरव गांगुली (sourav Ganguly) का बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCI President) बनना तय हो गया है. यह पहला मौका होगा जब गांगुली इस अहम पद की जिम्मेदारी संभालेंगे. इससे पहले वह बंगाल क्रिकेट संघ के अध्यक्ष रह चुके हैं और उन्हें हाल ही में इस पद के लिए दोबारा चुना गया था. हालांकि पहले बीसीसीआई अध्यक्ष बनने की होड़ में बृजेश पटेल (Brijesh Patel) का नाम सबसे आगे चल रहा था, लेकिन आखिरी पलों में सौरव गांगुली के नाम पर सहमति बन गई. अब खुद गांगुली ने बताया है कि आखिर कैसे उनका नाम इस पद के ल‌िए तय हुआ और बीसीसीआई अध्यक्ष का पद संभालने के बाद वे आखिर क्या-क्या काम करेंगे.

ऐसे वक्त कमान संभाल रहा हूं, जब बीसीसीआई की छवि खराब है
टीम इंडिया के पूर्व ओपनर सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने कहा, 'निश्चित तौर पर यह बहुत अच्छा अहसास है क्योंकि मैं देश के लिए खेला हूं और कप्तान रहा हूं. मैं ऐसे समय में बीसीसीआई (BCCI) की कमान संभालने जा रहा हूं, जब पिछले तीन साल से बोर्ड की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है  इसकी छवि बहुत खराब हुई है. मेरे लिए यह कुछ अच्छा करने का सुनहरा मौका है. ' यह पूछे जाने पर कि क्या यह जिम्मेदारी अलग होगी, गांगुली ने कहा कि भारतीय टीम का कप्तान होने से बढ़कर कुछ नहीं है.

brijesh patel, bcci president, bcci election, sourav ganguly, ब्रजेश पटेल, बीसीसीआई अध्यक्ष, सौरव गांगुली, बीसीसीआई, भारतीय क्रिकेट टीम, बीसीसीआई चुनाव
सौरव गांगुली की कप्तानी में भारतीय टीम ने साल 2003 के वर्ल्ड कप फाइनल में जगह बनाई थी. (PTI)


ये है सौरव गांगुली का एजेंडा
बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCI President) के तौर पर कार्यभार संभालने के बाद के एजेंडे का खुलासा करते हुए सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने कहा कि उनकी प्राथमिकता प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों की देखभाल होगी. गांगुली का इरादा भारतीय क्रिकेट के सभी पक्षों से मिलने का और वे सारे काम करने का है जो पिछले 33 महीने में प्रशासकों की समिति नहीं कर सकी. उन्होंने कहा, ‘ पहले मैं सभी से बात करूंगा और फिर फैसला लूंगा. मेरी प्राथमिकता प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों की देखभाल करना होगा. मैं तीन साल से सीओए से भी यही कहता आया हूं लेकिन उन्होंने मेरी बात नहीं सुनी. सबसे पहले मैं प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों की आर्थिक स्थिति दुरुस्त करूंगा.’

ये बहुत बड़ी जिम्मेदारी
Loading...

सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को ‘कूलिंग आफ’ अवधि के कारण जुलाई में बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCi President) का पद छोड़ना होगा. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 18000 से अधिक रन बना चुके पूर्व कप्तान ने कहा कि निर्विरोध चुना जाना ही बहुत बड़ी जिम्मेदारी है. यह विश्व क्रिकेट का सबसे बड़ा संगठन है और जिम्मेदारी तो है ही, चाहे आप निर्विरोध चुने गए हों या नहीं. भारत क्रिकेट की महाशक्ति है तो यह चुनौती भी बड़ी होगी.’ यह पूछने पर कि कार्यकाल सिर्फ नौ महीने का होने का क्या उन्हें अफसोस है, उन्होंने कहा कि हां, यही नियम है और हमें इसका पालन करना है.

brijesh patel, bcci president, bcci election, sourav ganguly, ब्रजेश पटेल, बीसीसीआई अध्यक्ष, सौरव गांगुली, बीसीसीआई, भारतीय क्रिकेट टीम, बीसीसीआई चुनाव
सौरव गांगुली नौ महीने के लिए बीसीसीआई अध्यक्ष पद संभालेंगे. (PTI)


यूं बदल गया नाम...
बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCI President) के लिए नाम तय होने के घटनाक्रम का खुलासा करते हुए सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने बताया, 'जब मैं आया तो मुझे पता नहीं था कि मैं अध्यक्ष बनूंगा. पत्रकारों ने मुझसे पूछा तब भी मैंने बृजेश पटेल (Brijesh Patel) का ही नाम लिया. मुझे बाद में पता चला कि हालात बदल गए हैं. मैंने कभी बीसीसीआई चुनाव (BCCI Election) नहीं लड़ा तो मुझे नहीं पता कि बोर्ड रूम राजनीति क्या होती है.’ गांगुली ने शनिवार को गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी. यह पूछने पर कि पश्चिम बंगाल में चुनाव में क्या वह भाजपा के लिए प्रचार करेंगे, उन्होंने न में जवाब देते हुए कहा कि  ऐसा कुछ नहीं है. उनसे किसी ने कुछ नहीं कहा.

नौ महीने के लिए अध्यक्ष रहेंगे गांगुली
सौरव गांगुली का बीसीसीआई अध्यक्ष के तौर पर कार्यकाल महज 9 महीने का ही रहेगा. सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) साल 2014 में बंगाल क्रिकेट संघ (Bengal Cricket Association) के संयुक्त सचिव बने थे. ऐसे में 47 वर्षीय गांगुली जुलाई 2020 में कैब पदाधिकारी के तौर पर छह साल पूरे कर लेंगे, जिसके बाद कूलिंग ऑफ पीरियड शुरू हो जाएगा. कूलिंग ऑफ पीरियड तीन साल का होता है. इस अवधि में आप किसी पद पर नहीं रह सकते. अब जबकि गांगुली बीसीसीआई अध्यक्ष बन गए हैं तो फिर उन्हें कैब का अध्यक्ष पद छोड़ना होगा. कुछ दिन पहले प्रशासकों की समिति (सीओए) ने अपने चुनाव निर्देशों में कहा था कि दो कार्यकाल के बीच बाहर रहने के लिए तय अवधि (कूलिंग ऑफ पीरियड) के लिए कार्यकारिणी के सदस्य के रूप में बिताए गए कार्यकाल को भी शामिल किया जाएगा.

दिल्‍ली छोड़ते ही भारत को वर्ल्‍ड कप जिताने वाले खिलाड़ी ने बरसाए रन

टेस्‍ट सीरीज हारने के बाद दक्षिण अफ्रीका को लगा तगड़ा झटका 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 12:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...