• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • HBD Dale Steyn: स्केट बोर्डिंग से क्रिकेट मैदान तक का सफर, डिविलियर्स के साथ डेब्यू; टेस्ट में देश के लिए सबसे ज्यादा विकेट

HBD Dale Steyn: स्केट बोर्डिंग से क्रिकेट मैदान तक का सफर, डिविलियर्स के साथ डेब्यू; टेस्ट में देश के लिए सबसे ज्यादा विकेट

HBD Dale Steyn: डेल स्टेन दक्षिण अफ्रीका के लिए टेस्ट में सबसे ज्यादा 439 विकेट लिए हैं. (Dale Steyn Instagram)

HBD Dale Steyn: डेल स्टेन दक्षिण अफ्रीका के लिए टेस्ट में सबसे ज्यादा 439 विकेट लिए हैं. (Dale Steyn Instagram)

HBD Dale Steyn: दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन का आज (27 जून,1983) जन्मदिन है. तेज रफ्तार और गेंद को सटीकता से दोनों तरफ स्विंग कराने की उनकी काबिलियत ने उन्हें दक्षिण अफ्रीका का सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज बनाया. उन्होंने देश के लिए टेस्ट में सबसे ज्यादा 439 विकेट लिए. लेकिन विश्व कप जीतने का सपना आज तक पूरा नहीं हुआ.

  • Share this:
    नई दिल्ली. आंखों में अजीब सी चमक, जश्न मनाने का अनूठा अंदाज और रफ्तार ऐसी कि बड़े से बड़ा बल्लेबाज खौफ खा जाए. आज ऐसे ही एक तेज गेंदबाज का जन्मदिन है, जिसने बीते 15 साल में अपनी तूफानी गेंदबाजी से विरोधी टीम को हमेशा दबाव में रखा. गेंद को सटीकता से दोनों तरफ स्विंग कराने की उनकी काबिलियत ने ही दक्षिण अफ्रीका का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज बनाया. हम बात कर रहे हैं डेल स्टेन(Dale Steyn) की. उन्होंने भले ही दो साल से दक्षिण अफ्रीका (South Africa Cricket Team) के लिए वनडे और टेस्ट न खेला हो. लेकिन फिर भी चर्चा में बने रहते हैं और दुनिया के बेहतरीन तेज गेंदबाजों में उनका नाम शामिल है.

    स्टेन बचपन में स्केट बोर्डिंग के दीवाने थे. लेकिन प्रिटोरिया में शिफ्ट होने के बाद उनकी रुचि क्रिकेट में बढ़ी और आगे चलकर उन्होंने इसी खेल को अपना करियर बना लिया. इस तेज गेंदबाज ने सिर्फ सात फर्स्ट क्लास मैच खेलने के बाद 2004 में इंग्लैंड के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया. दिलचस्प बात ये है कि इंग्लैंड के खिलाफ इसी टेस्ट से दिग्गज बल्लेबाज एबी डिविलियर्स ने भी अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज किया था.

    स्टेन का आगाज बेहतर नहीं रहा और दक्षिण अफ्रीका के लिए कुछ टेस्ट खेलने के बाद वो टीम से बाहर हो गए. इसके बाद वो अपनी गेंदबाजी को निखारने के लिए काउंटी क्रिकेट खेलने चले गए. इसके अलावा उन्होंने घरेलू क्रिकेट भी खेला.

    अपनी बाउंसर से बल्लेबाज को आईसीयू में पहुंचाया
    साल 2006-07 में दोबारा स्टेन की दक्षिण अफ्रीका टीम में वापसी हुई. उन्होंने अपनी दूसरी टेस्ट सीरीज में ही न्यूजीलैंड के खिलाफ 16 विकेट लिए. लेकिन उनके लिए सबसे असरदार सीरीज 2007 में इसी टीम के खिलाफ रही. उन्होंने इसी सीरीज के दौरान अपनी रफ्तार और धार का दुनिया को नमूना दिखाया. तब उन्होंने जोहानिसबर्ग में हुए पहले टेस्ट में 10 विकेट झटके.फिर सेंचुरियर में हुए अगले टेस्ट में उनकी एक शॉर्ट गेंद न्यूजीलैंड के बल्लेबाज क्रेग कमिंग के चेहरे पर लगी और उन्हें आईसीयू में भर्ती कराना पड़ा.

    स्टेन आईसीसी प्लेयर ऑफ द ईयर भी रहे
    इस सीरीज के बाद स्टेन की विकेट लेने की रफ्तार तेज और गई और वो 2008 में दक्षिण अफ्रीका की तरफ से 100 विकेट लेने वाले सबसे तेज और ओवरऑल 15 गेंदबाज बन गए. उन्हें इसी साल सितंबर में 14 मैच में 18.10 की औसत से 86 विकेट लेने के कारण आईसीसी ने प्लेयर ऑफ द ईयर चुना. उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दक्षिण अफ्रीका की वापसी के बाद इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में हराने में अहम भूमिका निभाई थी.

    स्टेन ने भारतीय पिचों पर भी शानदार गेंदबाजी की
    स्टेन सिर्फ तेज गेंदबाजों की मददगार पिचों पर ही असरदार नहीं रहे. बल्कि उन्होंने भारतीय पिचों पर भी अपनी तेज गेंदबाजी का जलवा दिखाया. 2010 में स्टेन ने नागपुर टेस्ट में वसीम अकरम और वकार यूनूस जैसी रिवर्स स्विंग करते हुए सिर्फ 51 रन देकर सात विकेट झटके. उनकी इस प्रदर्शन के काऱण दक्षिण अफ्रीका वो टेस्ट जीतने में सफल रहा.

    यह भी पढ़ें : WI vs SA: क्रिस गेल सहित 4 खिलाड़ी 6 साल में पहली बार एक ही टी20 मैच में खेले, मचा दिया कोहराम


    ENG vs SL: इंग्लैंड के ओपनर्स के बराबर भी श्रीलंका की टीम रन नहीं बना सकी, टी20 सीरीज 0-3 से गंवाई

    विश्व कप जीतने का सपना अधूरा
    इस तेज गेंदबाज को बढ़ती उम्र के साथ चोट से जूझना पड़ा. 2013 की चैम्पियंस ट्रॉफी में जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव और अगले ही साल पसली में फ्रैक्चर हो गया. फिर एक ही साल में तीन बार हैमस्ट्रिंग में खिंचाव का सामना करना पड़ा. हालांकि, चोटिल होने के बाद भी इस तेज गेंदबाज ने श्रीलंका में दो दशक के बाद दक्षिण अफ्रीका के लिए टेस्ट सीरीज जीतने में अहम भूमिका निभाई.

    2015 वनडे विश्व कप उनके लिए बुरा साबित हुआ. तब दक्षिण अफ्रीका की तेज गेंदबाजी आक्रमण की कमान उनके हाथों में थी. लेकिन वो हार का चेहरा बनकर उभरे. टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी ओवर स्टेन ने ही फेंका था.

    द. अफ्रीका के लिए टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट 
    टूर्नामेंट के सेमीफाइनल मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी ओवर डालने का जिम्मा उन्हीं पर था. लेकिन ओवर की आखिरी गेंद पर कीवी बल्लेबाज ग्रांट इलियट ने छक्का मार दिया और दक्षिण अफ्रीकी टीम विश्व कप से बाहर हो गई. स्टेन ने दक्षिण अफ्रीका के लिए 93 टेस्ट में 439 विकेट झटके. वो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दक्षिण अफ्रीका के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज भी हैं. उन्होंने 263 मैच में कुल 697 विकेट लिए हैं. पहले स्थान पर शॉन पोलाक हैं. उन्होंने 414 मैच में 823 विकेट झटके हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन