• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • IPL स्पॉट फिक्सिंग पर श्रीसंत का बड़ा खुलासा, कहा- मैं 10 लाख रुपये के लिए क्यों करूंगा?

IPL स्पॉट फिक्सिंग पर श्रीसंत का बड़ा खुलासा, कहा- मैं 10 लाख रुपये के लिए क्यों करूंगा?

IPL स्पॉट फिक्सिंग पर एस श्रीसंत ने बड़ा दावा किया है.

IPL स्पॉट फिक्सिंग पर एस श्रीसंत ने बड़ा दावा किया है.

IPL स्पॉट फिक्सिंग पर टीम इंडिया के पूर्व गेंदबाज एस श्रीसंत ने सनसनीखेज बयान दिया है. साल 2013 में राजस्थान रॉयल्स की टीम का हिस्सा रहे श्रीसंत को स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों पर गिरफ्तार किया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज एस. श्रीसंत ने बड़ा खुलासा किया है. दो बार के वर्ल्ड चैंपियन तेज गेंदबाज ने सवाल उठाते हुए कहा है कि वे मात्र 10 लाख रुपयों के लिए ऐसा क्यों करेंगे. बता दें कि श्रीसंथ के साथ राजस्थान रॉयल्स के दो क्रिकेटरों को भी स्पॉट फिक्सिंग मामले गिरफ्तार किया था. स्पॉट फिक्सिंग के इस केस में भारतीय क्रिकेट में भूचाल ला दिया था.

    पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज  ने कहा कि वह आगे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ महत्वपूर्ण सीरीज खेलना चाहते थे और उनके पास अपना करियर खत्म करने का कोई कारण नहीं था. संत ने कहा कि ‘मैंने ईरानी ट्रॉफी खेली थी और दक्षिण अफ्रीका की सीरीज खेलना चाह रहा था ताकि हम सितंबर 2013 में जीत सकें. मेरा लक्ष्य उस सीरीज को खेलना था. मैं ऐसा क्यों करूंगा, वह भी 10 लाख में? मैं बड़ी बात नहीं कर रहा हूं लेकिन जब मैं पार्टी करता था तो मेरे पास लगभग 2 लाख के बिल होते थे.’

    उन्होंने कहा कि यह उनके प्रशंसकों और शुभचिंतकों की प्रार्थनाएं है, जिसके कारण वे उस हालत से बाहर निकल सके. इस तेज गेंदबाज ने आगे कहा कि वह अपना ज्यादातर निजी भुगतान उस समय नकद रूप से नहीं बल्कि कार्ड से किया करते थे. उन्होंने कहा कि अगर मेरे पास इतना कैश होता तो उसे बांटता रहता. असल में मैं एक आम इंसान का भी ध्यान रखता हूं. श्रीसंत ने दावा किया कि जिस ओवर को लेकर पूरी बातें कही गई, उसमें उन्हें 1 ओवर में 14 से अधिक रन देने थे, जबकि उन्होंने चार गेंद में केवल 5 रन दिए थे.

    उन्होंने कहा कि इसमें कोई नो बॉल नहीं, कोई वाइड नहीं और एक भी धीमी गेंद नहीं थी. मैं अपने अंगूठे में सर्जरी के बावजूद 130 किलोमीटर प्रतिघंटे से अधिक की रफ्तार से गेंदबाजी कर रहा था. श्रींसंत ने कहा कि चोट के बाद वे भारतीय टीम में वापसी की कोशिश में जुटे थे. ऐसे में कोई भला ऐसा क्यों करेगा.

    बता दें कि प्रतिबंध हटने के बाद श्रीसंत ने इस साल की शुरुआत में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी से प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी की. उन्होंने केरल के लिए पांच मैच खेले, जिसमें 27 के स्ट्राइक रेट और 9.88 की इकॉनमी रेट से चार विकेट हासिल किेए. श्रीसंत ने 2005 में नागपुर में श्रीलंका के खिलाफ वनडे से इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था. साल 2007 के टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पाकिस्तान के मिस्बाह-उल-हक का कैच लेने के बाद उनकी लोकप्रियता खूब बढ़ी थी. बाद में वह 2011 में वने वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम का भी हिस्सा रहे थे.

    जब यह घोटाला सामने आया तो पूर्व तेज गेंदबाज राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा थे. आरोप लगने के बाद श्रीसंत के साथ दो अन्य खिलाड़ियों, अजीत चंदीला और अंकित चव्हाण को गिरफ्तार किया गया था. आरोपों से मुक्त होने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने साल 2019 में श्रीसंत पर से आजीवन प्रतिबंध हटा दिया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज