मुश्किल से बची थी जान, अब 10 साल बाद पाकिस्तान में खेलने काे तैयार श्रीलंकाई टीम!

News18Hindi
Updated: August 17, 2019, 11:22 PM IST
मुश्किल से बची थी जान, अब 10 साल बाद पाकिस्तान में खेलने  काे तैयार श्रीलंकाई टीम!
मार्च 2009 में लाहौर में श्रीलंका टीम की बस पर आतंकवादी हमला किया गया था

करीब 10 साल पहले पाकिस्‍तान में श्रीलंकाई टीम की बस पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई गई थी. जिसमें कुमार संगकारा (Kumar Sangakkara), महेला जयवर्धने (Mahela Jayawardene) जैसे दिग्गज खिलाड़ी चोटिल हो गए थे

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 17, 2019, 11:22 PM IST
  • Share this:
करीब 10 साल पहले मार्च 2009 के उस दिन का याद करके आज भी क्रिकेट की दुनिया सहम जाती है, जब पाकिस्तान दौरे पर गई श्रीलंकाई टीम की बस पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई गई. लाहौर में गद्दाफी स्टेडियम के बाहर हाथ में बंदूक लिए करीब 12 लोगों ने टीम बस पर गोलियां बरसानी शुरू कर दी थीं. अचानक हुए इस हमले में छह पाकिस्तानी पुलिसकर्मी सहित आठ लोगों की जान गई. श्रीलंकाई टीम के दिग्गज खिलाड़ी कुमार संगकारा (Kumar Sangakkara), महेला जयवर्धने (Mahela Jayawardene) सहित कुछ खिलाड़ियों को भी इसमें चोटें आई, लेकिन सभी सुरक्षित बच निकले. इस हमले की पूरी दुनिया में आलोचना हुई और इस हमले के साथ ही पाकिस्तान में क्रिकेट लगभग खत्म हो गया.

अब खबर आ रही है कि हमले के करीब दस साल बाद श्रीलंकाई टीम एक बार फिर टेस्ट मैच खेलने पाकिस्‍तान आ सकती है. इस साल के अंत में पाकिस्‍तान श्रीलंका की मेजबानी कर सकता है.

सुरक्षा को लेकर सकारात्मक मिली प्रतिक्रिया

हमले में कई श्रीलंकाई खिलाड़ी चोटिल हो गए थे


श्रीलंका क्रिकेट एक सुरक्षा प्रतिनिधिमंडल ने लाहौर और कराची का दौरा किया, जिसके बाद सकारात्मक प्रतिक्रिया मिलने के बाद पाकिस्‍तान टेस्ट क्रिकेट की मेजबानी कर सकता है. क्रिकइंफाे की खबर के अनुसार श्रीलंका पाकिस्तान में कम से कम एक टेस्ट खेलेगा. अगर ऐसा हो जाता है कि 2009 में लाहौर आतंकवादी हमले के बाद टेस्ट क्रिकेट खेलने वाली श्रीलंका पहली टीम  बन जाएगी.

श्रीलंका क्रिकेट के सीईओ एश्ले डी सिल्वा ने कहा कि सुरक्षा टीम की ओर से उन्हें सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है. उन्होंने कहा कि किसी फैसले पर आने से पहले पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड से कुछ विकल्पों के बारे में बात की जाएगी.  इसके अलावा सरकार से भी सलाह ली जाएगी.

Loading...

क्रिकेट की वापसी चाहता है पाकिस्तान
2009 में मुंबई हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान से क्रिकेट के सभी संबंध तोड़ लिए थे और श्रीलंका पर हमले के  बाद तो पाकिस्तान में भी क्रिकेट खराब दौर में पहुंच गया था. पाकिस्‍तानी टीम का भी होम ग्राउंड दुबई हो गया. कोई टीम पाकिस्तान में आना ही नहीं चाहती थी. हालांकि पिछले कुछ समय से हालात सुधरते हुए दिख रहे हैं.  कुछ टीम सीमित ओवर‌ क्रिकेट के खेलने के लिए पाकिस्तान दौरे पर आई.  पीएसएल के भी कुछ मैच पाकिस्तान में हुए.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के निदेशक वसीम खान ने भी देश में इंटरनेशनल क्रिकेट की वापसी के लिए एमसीसी से अपील की थी. वसीम ने कहा कि एमसीसी के साथ हुई मीटिंग काफी सकारात्मक रही.

दीपा मलिक बनेंगी 'खेल रत्न', जडेजा को मिलेगा अर्जुन अवॉर्ड

दोबारा कोच बनने के बाद पहली बार बोले शास्त्री, दिया ये बयान

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 17, 2019, 7:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...