• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • CRICKET SRI LANKAN CRICKETERS SHOCKED OVER NEW CONTRACT RELEASED BY SLC SAYS DO NOT HOLD THE PLAYERS AT GUNPOINT

कॉन्ट्रैक्ट सार्वजनिक करने से SLC पर बिफरे क्रिकेटर, बोले- हमें बंदूक की नोक पर ना रखें

श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड ने खिलाड़ियों के नए कॉन्ट्रैक्ट के विवरण को साझा करने के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. (Twitter/SLC)

श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड (SLC) ने 19 मई को नए कॉन्ट्रैक्ट के बारे में सब कुछ शेयर कर दिया था जिसमें खिलाड़ियों की ग्रेड और उनको मिलने वाले पैसे के बारे में पूरी जानकारी दे दी गई थी. श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने आरोप लगाया कि एसएलसी ने वनडे सीरीज के लिए बांग्लादेश रवाना होने से कुछ घंटे पहले ही विवादित अनुबंध पर खिलाड़ियों के हस्ताक्षर लेने की कोशिश की.

  • Share this:
    नई दिल्ली. खिलाड़ियों के नए कॉन्ट्रैक्ट का पूरा लेखा-जोखा सार्वजनिक करने से श्रीलंकाई क्रिकेटर अपने बोर्ड एसएलसी (Sri Lanka Cricket) से नाराज हैं. उन्होंने एक बयान जारी किया जिसमें कहा गया है कि बोर्ड के इस तरह के फैसले से वे 'हैरान और निराश' हैं. श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने यह भी आरोप लगाया कि एसएलसी ने वनडे सीरीज के लिए बांग्लादेश रवाना होने से कुछ घंटे पहले ही विवादित अनुबंध पर खिलाड़ियों के हस्ताक्षर लेने की कोशिश की.

    टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, दिमुथ करुणारत्ने, एंजेलो मैथ्यूज और दिनेश चांदीमल ने उनकी फीस कटने के कारण इस कॉन्ट्रैक्ट पर हस्ताक्षर करने से मना कर दिया है. यदि यह मसला नहीं सुलझता है तो भारत और श्रीलंका के बीच होने वाली द्विपक्षीय सीरीज पर इसका असर पड़ सकता है.

    एसएलसी ने 19 मई को नए कॉन्ट्रैक्ट के विवरण को साझा करने के लिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की थी. संशोधित कॉन्ट्रैक्ट के अनुसार, श्रीलंकाई खिलाड़ियों के मूल वेतन को कम कर दिया गया है, क्योंकि प्रदर्शन के आधार पर प्रोत्साहन देने को कहा गया है. श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के 24 सदस्यों की ओर से नियुक्त आधिकारिक प्रतिनिधि, अटॉर्नी-एट-लॉ निशान सिडनी प्रेमथिरत्ने, के माध्यम से एक बयान जारी किया गया है.

    इसे भी पढ़ें, 'एबी डिविलियर्स को भारत में धोनी-विराट-रोहित जैसा सम्मान मिलते देखा'

    इसमें कहा गया है, 'खिलाड़ी हैरान और निराश हैं कि श्रीलंका क्रिकेट की प्रबंधन समिति ने 19 मई को आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से इसे जनता के सामने रखना उपयुक्त समझा है. इसमें किस खिलाड़ी को कितनी फीस मिली, इस बारे में पूरा विवरण दिया गया है.' साथ ही श्रीलंकाई बोर्ड से अपने खिलाड़ियों को बंदूक की नोक पर नहीं रखने का आग्रह करते हुए यह भी स्पष्ट किया गया कि कोई भी क्रिकेटर किसी भी अनुचित और गैर-पारदर्शी अनुबंध पर हस्ताक्षर नहीं करेगा.

    बयान में कहा गया है, 'श्रीलंका क्रिकेट की प्रबंधन समिति ने जल्दबाजी में खिलाड़ियों के बांग्लादेश रवाना होने से कुछ घंटे पहले खिलाड़ियों के हस्ताक्षर लेने की कोशिश की. इसके लिए वार्षिक अनुबंधों की हार्ड कॉपी रखने का प्रयास किया. खिलाड़ियों की चिंताओं को श्रीलंका क्रिकेट ने संबोधित तक नहीं किया, इसके अलावा अनुबंधों के कानूनी प्रावधानों को अभी तक औपचारिक रूप नहीं दिया गया है.'





    इसमें कहा गया है, 'खिलाड़ी अनुचित और गैर-पारदर्शी अनुबंधों पर हस्ताक्षर करने के लिए सहमत नहीं हैं और एसएलसी से खिलाड़ियों को बंदूक की नोक पर नहीं रखने का आग्रह करते हैं. एसएलसी और प्रशासकों से खिलाड़ियों के विश्वास पर कायम रहने, सभी मामलों में पारदर्शी होने और वर्तमान विवाद को हल करने की दृष्टि से चिंताओं को पूरी तरह से दूर करने का भी आग्रह है.'

    इसे भी पढ़ें, रॉबिन उथप्पा ने एस श्रीसंत की तुलना कपिल देव-मोहम्मद शमी से की!

    इसके अलावा खिलाड़ियों ने भुगतान का खुलासा किए जाने को 'हर खिलाड़ी के लिए गंभीर सुरक्षा चिंता' करार दिया. बयान में खिलाड़ियों ने अफसोस जताया कि उनमें से किसी को भी यह नहीं बताया गया कि किस आधार पर एसएलसी ने ग्रेडिंग की. 'द संडे टाइम्स' की एक रिपोर्ट के अनुसार, खिलाड़ियों को अंकों के आधार पर चार अलग-अलग समूहों में बांटा जाएगा. फिटनेस, अनुशासन, पिछले दो वर्षों में अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट में प्रदर्शन, टीम के लिए नेतृत्व और समग्र मूल्य कुछ ऐसे कारण होंगे जिन्हें नई भुगतान प्रणाली में ध्यान में रखा जाएगा.