स्टीव वॉ ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को दी चेतावनी, बोले- स्लेजिंग से विराट को कोई परेशानी नहीं होगी

विराट कोहली की स्लेजिंग को लेकर स्टीव वॉ ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को चेतावनी दी है.
विराट कोहली की स्लेजिंग को लेकर स्टीव वॉ ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को चेतावनी दी है.

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव वॉ (Steve Waugh) ने अपनी टीम को भारत के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की आगामी सीरीज के लिए विराट कोहली (Virat Kohli) से वाक्युद्ध में नहीं पड़ने की सलाह दी है, क्योंकि उनका कहना है कि इससे कोहली और उनकी टीम को अच्छे प्रदर्शन की अतिरिक्त प्रेरणा मिल जाएगी.

  • Share this:
मेलबर्न. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव वॉ (Steve Waugh) ने अपनी टीम को भारत के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की आगामी सीरीज के लिए विराट कोहली (Virat Kohli) से वाक्युद्ध में नहीं पड़ने की सलाह दी है, क्योंकि उनका कहना है कि इससे कोहली और उनकी टीम को अच्छे प्रदर्शन की अतिरिक्त प्रेरणा मिल जाएगी. बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी 17 दिसंबर को एडिलेड ओवल पर दिन रात के मैच से शुरू होगी. इसके बाद मेलबर्न (26 दिसंबर से), सिडनी (सात जनवरी से) और ब्रिसबेन (15 जनवरी से) में मैच खेले जायेंगे.

ऑस्ट्रेलिया दौरे (India Tour of Australia 2020) की शुरूआत 27 नवंबर से तीन वनडे मैचों की सीरीज के जरिये होगी. स्टीव वॉ ने ईएसपीएन क्रिकइन्फो पर डाले गए वीडियो में कहा,''छींटाकशी से विराट कोहली को कोई परेशानी नहीं होगी. महान खिलाड़ियों पर इससे असर नहीं पड़ता. इसलिए इससे दूर ही रहें.''

ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले विराट कोहली का बड़ा बयान- आसान नहीं है बायो बबल में खेलना, छोटे दौरे पर हो विचार



उन्होंने कहा, ''इससे उन्हें और रन बनाने की अतिरिक्त प्रेरणा मिलेगी. इसलिए उस पर शब्दों के बाण नहीं छोड़ना ही बेहतर है.'' ऑस्ट्रेलिया के तत्कालीन कप्तान टिम पेन और उनकी टीम ने भारतीय टीम के पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे पर यही गलती की थी और भारत ने ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पहली बार टेस्ट सीरीज 2-1 से जीती.
स्टीव वॉ ने कहा, ''कोहली विश्व स्तरीय खिलाड़ी है और वह सीरीज का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज रहना चाहता है. पिछली बार भारत में स्टीव स्मिथ और वह आमने सामने थे जिसमें स्मिथ तीन शतक लगाकर आगे रहे. यह भी उसके जेहन में होगा और वह ज्यादा रन बनाना चाहेगा.''

जब विराट कोहली ने खुद को बताया- दाएं हाथ का क्विक गेंदबाज, देखें- VIDEO

उन्होंने कहा कि बतौर खिलाड़ी कोहली अब कहीं अधिक नियंत्रित है और भारत को विदेश में जीत दिलाने को बेताब भी. उन्होंने कहा, ''वह पहले से अधिक परिपक्व है और नियंत्रित भी. वह चाहता है कि भारत विदेश में जीतकर नंबर वन की अपनी रैंकिंग के साथ न्याय करे. वह टीम को उस मुकाम पर ले गया है, जहां वह पहले नहीं गई.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज