अस्‍पताल में भर्ती सौरव गांगुली के लिए दुआ मांग रहे फैंस, सैंड आर्टिस्‍ट की प्रार्थना ने किया हर किसी को भावुक

रेत पर सौरव गांगुली के चेहरे को उकेर कर प्रार्थना करते सुदर्शन पटनायक (फोटो क्रेडिट: सुदर्शन पटनायक ट्विटर )

रेत पर सौरव गांगुली के चेहरे को उकेर कर प्रार्थना करते सुदर्शन पटनायक (फोटो क्रेडिट: सुदर्शन पटनायक ट्विटर )

दिल का दौरे पड़ने के बाद बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly ) को शनिवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2021, 6:45 AM IST
  • Share this:

नई दिल्‍ली. बीसीसीआई (BCCI) अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को ‘हल्के’ दिल के दौरे के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया. 48 वर्षीय गांगुली की हालत स्थिर है और वह निजी वुडलैंड्स अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं. गांगुली के अस्‍पताल में भर्ती होने की खबर जैसे ही फैंस को पता चली, देशभर में उनकी सलामती के लिए दुआओं के हाथ उठने लगे. सैंड आर्टिस्‍ट सुदर्शन पटनायक ने पुरी बीच पर रेत पर सौरव गांगुली के चहरे को उकेरने के साथ ही उनके अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य की कामना की. रेत पर गांगुली के चेहरे को देखकर हर फैन भावुक हो गया.

गांगुली को अस्पताल की क्रिटिकल केयर यूनिट (CCU) में भर्ती कराया गया है. शुक्रवार शाम वर्कआउट सत्र के बाद उन्हें सीने में दर्द की शिकायत हुई और शनिवार दोपहर दोबारा ऐसी समस्या के बाद परिवार के सदस्य उन्हें अस्पताल ले गए.


डॉक्टरों के अनुसार गांगुली के तीन धमनियों में ब्लॉकेज पाया गया है. इनमें से एक धमनी 90 फीसदी तक ब्लॉक है. सर्जरी के बाद उसकी हालत स्थिर बनी हुई है. डॉक्टर्स अगले कुछ दिनों में दो और स्टेंट प्रत्यारोपित करने पर विचार कर सकते हैं. गांगुली अभी अगले दो दिनों तक अस्पताल में ही रहेंगे. डॉक्‍टर्स ने कहा कि अपने घर के जिम में ट्रेडमिल पर दौड़ते समय गांगुली को सीने में तकलीफ का सामना करना पड़ा.उनके परिवार में IHD ØE इस्केमिक हृदय रोग का इतिहास रहा है.
यह भी पढ़ें : 

पाकिस्तानी गेंदबाज के निकले आंसू, कहा-हर कीमत पर टीम में जगह चाहता हूं

IND vs AUS: चौथे टेस्‍ट के लिए ब्रिस्‍बेन नहीं जाना चाहती टीम इंडिया, जानिए पूरा मामला



गांगुली को अक्टूबर 2019 में मुंबई में बीसीसीआई की आम सभा की बैठक के दौरान अध्यक्ष चुना गया जिसके साथ सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (सीओए) के 33 महीने के विवादास्पद कार्यकाल का अंत हुआ.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज